भाजपा को रोकने के लिए ‘PK’ ने लगाया आखिरी दांव

नीतीश पर भी बनेगा दवाब ,लालू खड़े हैं समधी के लिए

नीतीश के PM  बनने के सपनों को मिल रही मजबूती




नीतीश पहले ही कर चुके है चुनावी शुरुआत

शराबबंदी करने का दे चुके हैं संकेत 

महिला वोटरों को लिए खेले जाएंगे ट्रम्प कार्ड 

mulayam-s-650_110216103922

images-1

बिहार की तर्ज पर महागठबंधन बनाकर और अखिलेश के चेहरे को आगे रख कर बीजेपी को रोका जा सकता है. ये बात प्रशांत किशोर ने मुलायम सिंह यादव से हुई बातचीत के दौरान कही.  प्रशांत किशोर ने कहा कि लड़ाई अगर बीजेपी और बीएसपी की हुई तो सपा का यादव मतदाता भी मायावती को रोकने के लिए बीजेपी के पास चला जाएगा और मुस्लिम मतदाता आपको लड़ाई में बाहर देख कर मायावती के पास चला जाएगा. प्रशांत ने कहा कि इसलिए आप महागठबंधन बनाइए और अखिलेश को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाइए. इसके लिए छोटे-छोटे तमाम दलों को साथ में लेना होगा.तब देखिये बिहार की तर्ज पर बीजेपी सत्ता से बाहर होगी और महागठबंधन जीतेगा. कांग्रेस 125 से 150 सीट पर चुनाव लड़ेगी. छोटी पार्टियों को शामिल कर आंकड़ों के हिसाब से उन्हें सही जगह से चुनाव लड़वाया जाए जिससे चुनाव में जीत हासिल की जा सके.                                                              lalu-main2

इधर मुलायम सिंह की मुलाक़ात में निकल कर आई बातों पर राहुल गांधी ने भी हामी भर दी है. प्रशांत किशोर ने सारी बातों से राहुल गांधी को अवगत करा दिया है . यूपी में कांग्रेस के इस घोषणा के इस घोषणा के बाद  वहां की सियासी सरगर्मी तेज हो गई है. प्रशांत किशोर अब राहुल गाँधी के साथ मिलकर यूपी चुनाव में महागठबंधन के जरिए नीतीश पर दवाब बनाएंगे कि वे पार्टी के कमजोर इलाकों से अपने प्रत्याशी खड़े करे और वहां के यादव और मुस्लिम वोटरों के साथ दलित वोटों को अपने पाले में करेंगे. इसके लिए उन्हें लालू जी का साथ मिलेगा. नीतीश पहले ही अखिलेश को सलाह दे चुके हैं कि शराबबंदी कर दीजिये उनका इशारा साथ आने का है. प्रशांत किशोर का यह दांव कितना असर करता है ये तो चुनाव के बाद पता चलेगा. लेकिन अब बीजेपी को बिहार में रोकने के बाद यूपी में रोकने और सत्ता पर काबिज होने में नीतीश की मदद के बाद के सपा को एक बार फिर यूपी की सत्ता की चाभी मिलना यूपी के राजनेता मान रहे हैं.