PM के कार्यक्रम में दिखी जिला प्रशासन की मुकम्मल व्यवस्था

ये पहली बार था जब देश के प्रधानमंत्री पटना में एक साथ तीन कार्यक्रमों में शामिल हुए. इनमें से 2 कार्यक्रम तो पहले से तय थे. लेकिन तीसरा कार्यक्रम अचानक तय हुआ. लेकिन पीएम का दौरा ना केवल शांतिपूर्ण रहा बल्कि लोगों ने सभी आयोजनों में इंतजामों की तारीफ भी की. पटना विश्वविद्यालय शताब्दी समारोह के बाद पीएम को मोकामा में कई योजनाओं का शिलान्यास करना था. लेकिन इसी बीच पीएम ने बिहार म्यूजियम जाने की फरमाइश कर दी. लेकिन जिला प्रशासन ने तीनों कार्यक्रमों को बिना किसी रुकावट के अत्यंत व्यवस्थित तरीके से संपन्न कराया.




क्योंकि पीएम मोदी के दौरे की जब भी बात आती है, लोगों को उनका गांधी मैदान को वो दौरा भुलाए नहीं भूलता जब रैली के दौरान तमाम व्यवस्थाओं के बावजूद कई बम धमाके हुए थे जिसमें 6 लोगों की जान चली गई थी. ऐसे में पीएम के दौरे की पूरी व्यवस्था के लिए पटना जिला प्रशासन ने पूरी ताकत झोंक दी थी. इसमें बड़ा योगदान पटना डीएम संजय कुमार अग्रवाल और एसएसपी मनु महाराज का रहा जो पिछले सात दिनों से इसकी तैयारी में लगे थे. डीएम और एसएसपी के नेतृत्व में 500 दंडाधिकारी और पाँच हजार पुलिस पदाधिकारी सहित पुलिस बल ने इस पूरे कार्यक्रम में विशेष योगदान दिया.

  

पटना डीएम संजय अग्रवाल ने बताया कि यातायात का सुगम परिचालन कम से कम प्रभावित हो, इसके लिए भरपूर प्रयास किया गया. डीएम ने पटना वासियों एवं मोकामा के कार्यक्रम में आए लोगों को विशेष धन्यवाद दिया. यहां ये बता देने भी अहम है कि मोकामा में हुई चक्रवाती वर्षा के बाद अंतिम 48 घंटों में दिन-रात टाल जैसे कठिन इलाके में कार्य कर  सारी व्यवस्था की गई. बारिश के बाद टाल कीजमीन चलने लायक नहीं थी, वहां गाड़ियों को चलने लायक तथा हजारों टन भारी टेन्ट का निर्माण कराने में जिला प्रशासन ने सफलता हासिल की.