बिहार के पत्रकार हुए फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल

पटना, 2 मई ।। बिहार सरकार ने बिहार के पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल करने का निर्णय लिया है. घोषणा के अनुसार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर पत्रकारों के हित में राज्य सरकार ने बिहार सरकार के सूचना एवं जन-संपर्क विभाग द्वारा निर्गत प्रेस प्रमाण पत्र धारक (एक्रिडियेटेड पत्रकार) सभी पत्रकारों के साथ-साथ जिला जन-सम्पर्क पदाधिकारी द्वारा सत्यापित नन एक्रिडियेटेड पत्रकारों (प्रिन्ट, इलेक्ट्रॉनिक एवं बेव मीडिया आदि) को भी प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 टीकाकरण हेतु फ्रंटलाइन वर्कर की श्रेणी में शामिल करने का निर्णय लिया गया है.

CM announces
जीतनराम मांझी ने किया स्वागत

विज्ञप्ति के अनुसार ऐसे सभी चिह्नित पत्रकारों को प्राथमिकता के आधार पर कोविड-19 का टीकाकरण किया जायेगा. कोरोना संक्रमण के दौर में पत्रकार अपनी भूमिका का बेहतर निवर्हन कर रहे हैं. वे कोरोना संक्रमण के खतरों के प्रति भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं. दरअसल पत्रकार खतरनाक परिस्थितियों में भी फील्ड में डटे रहकर काम कर रहे हैं जिसकी वजह से बड़ी संख्या में पत्रकार संक्रमित हुए हैं और कई पत्रकारों को अस्पताल में एडमिट होना पड़ा है.

जितेन्द्र कुमार सिन्हा