लंका दहन देखने की हसरत रह गई अधूरी 

पल भर में ही आग ने लील लिया हंसता खेलता परिवार

पटना के दानापुर में रविवार को एक दर्दनाक हादसे में तीन बच्चों की मौत हो गई जबकि परिवार के ही अन्य 4 लोग गंभीर रुप से घायल हो गए. भुसौला दानापुर के जिस घर में बच्चों की किलकारियों से घर आंगन गुलजार रहता था, उसी घर में मातमी सन्नाटा पसर गया. ????????????????????????????????????घटना के बारे में ग्रामीण महिला ने  बताया कि एकादशी से एक दिन पहले घर के तीनों बच्चों को दहशरा में बुरी नजर से बचने के लिए ताबीज भी पहनाया गया था . लेकिन किसी को क्या पता था कि बुरी नजर तो घर में तांडव मचाने के लिए आ रही है. इस वर्ष  वशिष्ट चौधरी गाँधी मैदान में अपने पोते पोतियों के साथ रावण वध देखने जाने की योजना बना रखे थे . इसे लेकर बच्चो एवं बेटा पुतोह में भी काफी उत्साह का आलम था .इसकी तैयारी के लिए घर के लोगों के लिए नए नए कपड़े सिलवाने की तैयारी भी चल रही थी .  लेकिन पल भर में गैस सिलेंडर के रिसाव से लगी आग ने सभी हसरतों को राख में बना  दिया . ????????????????????????????????????आग  की  लपटों में घिरे  वशिष्ट  चौधरी के पोते झुलसकर काल का ग्रास बन गए. अपने परिवार के तीन बच्चो की मौत और चार अन्य के झुलसे शरीर देख घर के मुखिया वशिष्ट चौधरी अपना अापा खो बैठे . कभी पोतों का शव तो कभी जिन्दगी मौत से जूझ रहे पत्नी, बहु व दो  बेटे की जिन्दगी बचाने के लिए देवी मईया से बार बार रो रो कर प्रार्थना कर रहे थे वशिष्ट चौधरी.  उन्हें अपने पोता पोती  की मौत पर  यकींन नही हो पा रहा था .
इस गंभीर हादसे में झुलसे परिवार के 4 अन्य लोगों का इलाज पीएमसीएच में चल रहा है. बड़ी संख्या में पीएमसीएच पहुंचे ग्रामीण उन्हें ढाढस बंधाते तो खुद भी अपनी आँखों से आंसू नही रोक पा रहे थे..




रिपोर्ट- फुलवारी शरीफ से अजीत