नोटबंदी नहीं फर्जीबंदी है, पीएम मोदी ने देश को धोखा दिया– लालू

नोटबंदी का हाल वही होगा जो हाल कांग्रेस के नसबंदी अभियान का हुआ था

गरीब आदमी पीएम मोदी के कोल्हू में पीस रहा है




राजद के नेता गांव शहर हर जगह जाएँ

लोगों को नोटबंदी के नाम पर धोखाधड़ी से वाकिफ़ कराएं

 लालू प्रसाद ने भाषण में क्या कुछ कहा —-

प्रत्येक जिला मुख्यालय पर राजद का विशाल धरना 28 दिसंबर को
20 दिसंबर से 26 दिसंबर तक गांवों में जनजागरण अभियान चलना है
धरना के बाद अगली तारीख तय की जायेगी सभी एक सोच के राजनीतिक दलों से बात करके आंदोलन की घोषणा होगी
विशाल रैली भी पटना में होगी जिसमे राष्ट्रीय और क्षेत्रीय पार्टियों को एकजुट कर देश को दिशा देंगे
ये बात बदलू प्रधानमंत्री हैं हमलोग चुप नही बैठेंगे

download-1 download

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए राजद की बैठक में अपनी मन की बात कह डाली.उन्होंने कहा कि नोटबंदी नहीं फर्जीबंदी है. पीएम मोदी ने देश की धोखा किया. गरीब आदमी पीएम मोदी के कोल्हू में पीस रहा.देश को फुटबॉल बना दिया. जगह-जगह हंगामा हो रहा. रिजर्व बैंक फेल है. दिल्ली सरकार की नीतियों के खिलाफ हम सभी मिलकर लड़ेंगे. आज आंदोलन का एलान करेंगे. हमे बीजेपी के खिलाफ रहना है.नोटबंदी का हाल वही होगा जो हाल कांग्रेस के नसबंदी अभियान का हुआ था. मैं कोई बनावटी बात नहीं करता. मेरा एक ही निशाना है  केवल मोदी. कांग्रेस, ममता दीदी, केजरीवाल, लेफ्ट और हमारा विरोध है. दुर्भाग्य है हम एकजुट नहीं हो पाते. बिहार में पहले से तय नीतियों पर महागठबंधन की सरकार चल रही है.

नोटबंदी पर राजद की बैठक में पूर्व सांसद जगतानंद सिंह ने कहा कि हमे बीजेपी के ख़िलाफ़ खड़ा रहना है. नोटबंदी से कालाधन वापसी के दावे खोखले साबित हुए. विधायक सर्वजीत कुमारने खा कि नोटबंदी की मार सबसे ज्यादा दलितों पर पड़ी. दिहाड़ी मजदूरों का काम छीन गया. बड़े उद्योगपतियों का बैंक से कनेक्शन अब सामने आ गया है.राजद विधायक भाई बीरेंद्र ने जदयू के खिलाफ खोला मोर्चा खोलते हुए कहा नोटबंदी पर सीएम नीतीश के अलग स्टैंड पर कायम है लेकिन वो भी क्या करेंगे . महागठबंधन में एक नीति और सिद्धांत होनी चाहिए. नोटबंदी पर दो लाईन होने से कार्यकर्ता हमसे सवाल पूछते हैं. एक जाति विशेष को ही ब्यूरोक्रेसी में मिल रही तरज़ीह. ऐसा कैसा और कब तक चलेगा.राजद सांसद जयप्रकाश यादव ने कहा कि संसद में सरकार ने नोटबंदी पर बहस नहीं होने दी. सरकार के मंत्रियों और सांसदों ने संसद में हंगामा किया. कालाधन वाले मगरमच्छ बीजेपी में बैठे हैं. खाने -खिलाने के लिए फिफ्टी – फिफ्टी स्कीम लायी गई. संसद नहीं तो अब सड़क पर संग्राम होगा.मंत्री अब्दुल बारी सिद्दकी ने भी भी बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि नोटबंदी के फायदों को बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया है जबकि देश की मौजूदा स्थिति भयावह है. बीजेपी देशभक्ति का सर्टिफिकेट बाँट रही है. देश में अभी चुनाव हुए तो मोदी जी का सफाया हो जायेगा. देश के बड़े उद्योगपति नोटबंदी का समर्थन कर रहे. बड़े अर्थशास्त्रियों ने नोटबंदी को गलत बताया है.

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि राजद ने सदा से सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ी है. नोटबंदी के बाद हर दिन फैसले में बदलाव किए गए. नोटबंदी के पहले कोई तैयारी नहीं हुई. हालात सुधरने की बजाय बिगड रहे. पीएम मोदी के इमोशनल ड्रामे को हम जनता के बीच उजागर करेंगे. हमने नोटबंदी पर देरी से लेकिन सही प्रतिक्रिया दी. बीजेपी नेताओं के यहां से पैसे मिलने पर पीएम मोदी चुप्पी साध लेते हैं. पीएम मोदी ने पहले 50 दिन मांगे. अब 50 दिन बाद धीरे-धीरे सुधार की बात कर रहे. कालाधन, नकली नोट को छोड़कर अब कैशलेस की बात कर रहे. राजद पर नोटबंदी के ख़िलाफ़ लड़ाई की जिम्मेवारी हैं . राजद के नेता गांव शहर हर जगह जाएँ. लोगो को नोटबंदी के नाम पर धोखाधड़ी से वाकिफ़ कराएं. बिहार में हमारा महागठबंधन है. हम लड़ाई को तैयार हैं. जिस दिन लालू जी निकल जाएंगे माहौल गरमा जायेगा. नोटबंदी का विरोध राजद का फैसला है. हो सकता है किसी को नोटबंदी सही लग रहा हो. जिसको नोटबंदी बाद में ख़राब लगेगा वो हमारे साथ ही आएगा.