मैट्रिक परीक्षार्थियों की भीड़ से शहर जाम, यातायात सुधारने में प्रशासन नाकाम

अपने ही आदेश को लागू कर जाम हटाने में प्रशासन विफल

आरा, 18 फरवरी. कभी शाहाबाद का मुख्यालय रहने वाला आरा आजकल जाम का मुख्यालय बना हुआ है. वैसे तो आये दिन ही आरा की हर सड़के जाम रहती है,लेकिन परीक्षा और कुछ खास मौकों पर जाम देखने लायक होता है. लगता है जैसे सारी व्यवस्था ही ठप्प पड़ गयी है. फिलहाल मैट्रिक परीक्षा के कारण जिला मुख्यालय जाम का केंद्र बना हुआ है. आलम यह है कि इस जाम का समाधान किसी के पास नही दिख रहा है. इस महाजाम ने परीक्षा देने वालों से लेकर उन्हें परीक्षा दिलाने वालों, डॉक्टर से लेकर मरीज, जमादार से लेकर दफादार, अफसर से लेकर कर्मचारी, दुकानदारों से खरीदारों और सड़क छाप मजनुओं का भी पसीना छुड़ा दिया हैं. बताते चलें कि जिला प्रशासन हर ऐसे परीक्षाओं और खास मौकों पर शहर के यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से चालू रखने के लिए दावा करता है और एक आदेश भी निकालता है लेकिन बावजूद इसके इनके रुट प्लान का मटियामेट यहां की जनता कर देती है. पूरे जिलेवासी जाम के हत्थे चढ़ जाते हैं. लेकिन प्रशासनिक आदेश को तोड़ने वालों पर पुलिस न तो कार्रवाई करती है और न ही कोई कारण जानना चाहती है. सोमवार को पहले दिन ही परीक्षार्थियों की भीड़ से हर स्कूल के पास जाम की स्थिति बनी रही. दोपहर में पहली पाली की समाप्ति के बाद तो आलम यह था कि गोला से लेकर नवादा, महादेवा से लेकर बाबू बाजार, और मठिया से लेकर महाराजा कॉलेज तक जाम से पटा पड़ा था. यह जाम लगभग 2 घण्टे बाद छुटा. पुनः दूसरी पाली की परीक्षा के बाद परीक्षा केंद्रों से छुटने के बाद शहर में जाम की स्थिति वही रही.




यह निकला था आदेश
वार्षिक माध्यमिक परीक्षा के कारण परीक्षार्थियों एवं वीक्षकों के आने-जाने की सुचारू व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा भारी संख्या में वाहनों के परिचालन के कारण महाजाम की समस्या से निजात दिलाने हेतु सदर अनुमंडल अधिकारी अरुण प्रकाश द्वारा ट्रैफिक प्लान निर्धारित किया गया था. इसके तहत उक्त परीक्षा के अवसर पर यातायात व्यवस्था के सुगम परिचालन कराने हेतु निम्न पथों को वन-वे, पथों पर प्रवेश प्रतिबंध लागू किया गया था जो 17 फरवरी से 24 फरवरी तक पूर्वाहन 11 बजे से अपराहन 3:00 बजे तक निम्नवत प्रभावी रहेगा.

ऑटो और चारपहिया वाहनों के लिए पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न 03:00 बजे तक प्रतिबंधित रास्ते:

  • स्टेशन से नवादा थाना- मठिया -सदर अस्पताल- शिवगंज के रास्ते शीश महल चौक तक
  • पूर्वी गुमटी से मिल रोड नवादा चौक की तरफ
  • बंधन टोला से नवादा थाना की ओर
  • नवादा थाना से करमनटोला की ओर
  • कृषि भवन से जिलाधिकारी आवास रोड एवं केजी रोड की तरफ

ये होंगे वन वे रुट :
शहीद चौक से महावीर टोला होते हुए मठिया- शिवगंज तथा करमनटोला होते हुए नवादा चौक की ओर वाहनों का परिचालन वन वे रूट के माध्यम से होगा.

रमना मैदान जाने के लिए तीन पहिया एवं चार पहिया वाहनों का परिचालन करमन टोला-नवादा थाना होते हुए कृषि भवन ब्लॉक रोड- बजाज शोरूम -पकड़ी चौक- जज कोठी मोड़ के रास्ते से जाएगा.

        लेकिन इन रूटों पर प्रतिबंध के बावजूद परीक्षा कार्य हेतु प्रयुक्त सभी वाहनों पर नो एंट्री प्रतिबंध लागू नहीं होगा. अनुमंडल पदाधिकारी सदर ने इस आशय का पत्र सभी संबंधित पदाधिकारियों को उपलब्ध कराया है.

बावजूद इसके नगर में जाम का आलम किसी मेले की भाँति लगा हुआ है.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट