लालू लगातार दसवीं बार बनेंगे राजद के अध्यक्ष

लालू का निर्विरोध निर्वाचन महज औपचारिकता

21 नवंबर को होगा एलान




राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए सिर्फ लालू ने किया है नामांकन

राजद अध्यक्ष लालू यादव ने आज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन किया. लालू प्रसाद ने रविवार को राजद कार्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी जगदानंद सिंह के समक्ष नामांकन दाखिल किया, जो वैद्य पाया गया. राजद के सहायक राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी चितरंजन गगन ने बताया कि लालू प्रसाद के अलावा किसी अन्य उम्मीदवार द्वारा नामांकन पत्र दाखिल नहीं किया गया है. राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी जगदानंद सिंह ने जांचोपरांत चारों सेटों में दाखिल लालू प्रसाद के नामांकन को वैद्य घोषित किया.

चितरंजन गगन ने बताया कि चार सेटों में दाखिल नामांकन पत्र पर प्रस्तावक रूप में राबड़ी देवी, डॉ रघुवंश प्रसाद सिंह, अब्दुल बारी सिद्दिकी, शिवानंद तिवारी, डॉ रामचन्द्र पूर्वे, तेजप्रताप यादव, मंगनीलाल मंडल, अवध बिहारी चौधरी, श्रीमती कांति सिंह, रामजी मांझी, आलोक कुमार मेहता, एस एम कमर आलम, अन्पूर्णा देवी, तनवीर हसन, भोला यादव, असलम मल्लिक, अशोक कुमार सिंह, मुनेश्वर चौधरी, सीताराम यादव, शिवचंदर राम,  अनीता देवी, स्विटी सीमा हेम्ब्रम, उमेश आनंद, श्रीमती प्रेमा चौधरी, भाई विरेन्द्र, सुरेन्द्र प्रसाद यादव, विजय प्रकाश, अख्तरूल इस्लाम शाहिन, ललित कुमार यादव, सुबोध कुमार, संजय कुमार सिंह यादव, सैयद अबू दोजाना, जनार्धन पासवान, राजनीति प्रसाद, समीर कुमार महासेठ, प्रो शैलेन्द्र कुमार सिंह, अशोक कुमार सिंह, अतरी मुनी उर्फ शक्ति सिंह यादव, मो हुमायू अख्तर तारिक के हस्ताक्षर हैं. 21 नवम्बर को आयोजित राष्ट्रीय परिषद की बैठक में राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी जगदानंद सिंह द्वारा लालू प्रसाद को औपचारिक रूप से राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर निर्वाचित घोषित किया जाएगा.

बता दें कि वर्ष 1997 में राजद के गठन के बाद आज तक लालू ही हर बार राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर रहे हैं. ये उनका लगातार दसवीं बार निर्वाचन होगा.