क्या कर रही थी लालू के घर CBI ?

लालू के घर CBI का छापा, 4 घटे तक चली पूछताछ

राजद समर्थकों ने छापेमारी को PM की साजिश कहा




पटना, 10 अप्रैल. राजद सुप्रीमो लालू यादव की मुसीबते कम होने का नाम नही ले रही हैं. आज के ताजा घटना में रेलवे टेंडर घोटाले से सम्बंधित केस में CBI ने पटना स्थित लालू के आवास पर उनकी पत्नी राबड़ी देवी और उनके बेटे से लगभग 4 घंटे तक पूछताछ की. हालांकि अभीतक क्या पूछताछ की गई है इस बारे में कोई खुलासा किसी ने नही किया है. CBI के यादव के घर से निकलने के बाद राजनीतिक गलियारे में हंगामा मचा हुआ है. राजद समर्थकों ने CBI पर बेवजह परेशान करने का आरोप लगाया है. समर्थकों का कहना है चंपारण दौरे पर आए PM मोदी, CBI को भी अपने साथ लेते आये हैं जो लालू के घर आकर उन्हें परेशान कर रही है. वही राबड़ी देवी ने कहा कि उनके बेटे की शादी होने वाली है इसलिए CBI परिवार को बदनाम कर शादी बिगाड़ने का काम कर रही है. मंगलवार को CBI ने राबड़ी आवास पर छापेमारी शुरू कर दी. सूत्रों के हवाले से CBI ने लालू प्रसाद के बेटे पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से पूछताछ किया है.

बता दें कि पिछले साल रेलवे टेंडर घोटाले को लेकर CBI ने प्राथमिकी दर्ज की थी. इसमें लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव समेत कई लोगों को ​अभियुक्त बनाया गया था. बाद में मामला इतना सियासती हो गया कि बिहार में महागठबंधन की सरकार गिर गयी. बाद में लालू प्रसाद, राबड़ी देवी व तेजस्वी यादव से जांच एजेंसियों ने कई बार पूछताछ की थी.

पिछले साल भी हुई थी पूछताछ

10 अक्टूबर को भी दिल्ली के ईडी मुख्यालय में तकरीबन 7 घंटों तक तेजस्वी से हुई थी पूछताछ

13 नवंबर- पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से प्रवर्तन निदेशालय (ED) के कार्यालय में सुबह 11 बजे से शुरू हुई पूछताछ रात 8 बजे तक चलती रही थी. करीब 9 घंटे चली इस छताछ में तेजस्वी से 100 सवाल किये गए थे.
तेजस्वी के बयानों को रिकॉर्ड भी किया गया था.

रेलवे टेंडर घोटाला में तेजस्वी के खिलाफ अवैध संपत्ति को अर्जित करने का मामला है. इसी मामले में CBI ने हाल में ही लालू प्रसाद से भी लंबी पूछताछ की थी. ये मामला उस समय का है जब लालू प्रसाद केंद्र सरकार में रेलवे मंत्री थे.

पटना नाउ ब्यूरो की रिपोर्ट