वो कौन है जिसने रात के अंधेरे में बांटा “भाजपा हटाएं” का पर्चा

आचार संहिता का हुआ उलंघन, चुनाव से 8 घँटे पहले बंटे पर्चे

आरा,18 मई. 19 मई 2019 को होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर जहां 24 घण्टे पहले सभी पार्टियों का चुनाव-प्रचार थम चुका है वैसे में आरा में आज रात लगभग 11 बजे रात में चुनाव से महज 8 घण्टे पूर्व जसवा(जनमुक्ति संघर्ष वाहिनी) के कार्यकर्ता को एक पार्टी विशेष के विरोध में पर्चे बांटते देखा गया. चुनाव में कड़े नियमों और सख्ती के बाद भी यह दुःसाहस भरा कार्य कानून के विरोध है. वोटरों को रातों रात अपने पक्ष में मोड़ने के उद्देश्य से ऐसे कार्य किये जाते है. अब दिलचस्प सवाल यह कि जनमुक्ति संघर्ष वाहिनी किसी पार्टी विशेष का विरोध खुद कर रही है या किसी के कहने पर?




मध्यरात्रि के समय गोला मुहल्ले के पास खड़े युवकों ने जब पर्चे लेने से इनकार करते हुए इसे चुनाव आचार संहिता का उलंघन बताया तो ‘जसवा’ के कार्यकर्ता ने यह कहते हुए पर्चा थमा दिया कि आपको जो मन करे इस पर्चे के साथ कीजिये. मेरा काम है पर्चा बाँटना अब आप इसे पढ़िए या फेंक दीजिये.

मेरा काम है पर्चा बाँटना अब आप इसे पढ़िए या फेंक दीजिये. हालांकि पर्चा बांटने वाले संगठन से कोई उम्मीदवार चुनाव मैदान में खड़ा तो नही है लेकिन एक पार्टी विशेष का विरोध पुरजोर तरीके से पर्चे पर किया गया है. अब देखना यह होगा कि इसपर चुनाव आयोग क्या करवाई करती है.

आरा से ओ पी पांडेय सत्य प्रकाश सिंह की रिपोर्ट