कलाकारों का नौ दिनों का धरना और प्रशासन का नाटक

बिहार की राजधानी पटना..स्थान प्रेमचन्द रंगशाला ….प्रेमचन्द की प्रतिमा और कूड़े का अम्बार …बदबू से गमक रहे इस मुहल्ले के लोगों की जिन्दगी दिनों दिन नारकीय ….कलाकारों ने धरना दिया ….लोग भी जुड़े ……….आम जन बीमार ….सब परेशान .. कलाकारों का पूर्वाभ्यास स्थल ….कलाकारों ने गाने गाये नाटक किए …नगर निगम और पुलिस वालों ने धमकाया… केस कर फंसाने की धमकी दी गई ..नगर निगम और ठेकेदार ने पावर दिखाए … नौ दिनों के बाद पटना के कमिश्नर स्थानीय विधायक की पहल पर बात सुनते हैं …एक महिना का समय मांगते है …वादा करते है …और नाटक ख़त्म हो जाता है ….एक महीने तक उसी दुर्गन्ध को झेलने की मज़बूरी के साथ इस बात की खुशी भी चलो एक महीने में क्या रखा है ….पटना नाउ सभी कालकारों के साथ सबसे पहले खड़ा है …पेंड तो लगेंगे ही इसी आशा के साथ …9वें दिन का नाटक..दो तस्वीर साथ में …आपके लिए …

5cbb7189-7797-40d7-a6c8-bb70982ce8fa




धरना का 9वां दिन.

===============

आज दिनांक 16 नवम्बर  को प्रेमचंद गोलंबर के सटे कूड़े के डंपिंग यार्ड को ख़त्म करने के लिए कलाकार साझा संघ (KSS) एवं नागरिक विकास समिति के तत्वावधान में लगातार 9वां दिन धरना जारी रहा. आज सुबह से नगर निगम के पदाधिकारी एवं कर्मचारी या किसी भी प्रकार के ट्रैक्टर कूड़ा गिराने नहीं आया.

ज्ञात हो कि आज पटना नगर निगम आयुक्त के साथ स्थानीय विधायक अरुण कुमार सिन्हा जी के मध्यस्तता में कलाकार साझा संघ एवं नगर विकास समिति के साथ बैठक आहूत की गई थी.इस बैठक में कलाकार साझा संघ की तरफ से सनत कुमार(प्रवक्ता) एवं अर्चना सोनी (सह-सचिव) उपस्थित थे, वहीँ  नगर विकास समिति की तरफ से रत्नेश प्रसाद (अध्यक्ष) एवं अभय शंकर (कोषाध्यक्ष) मौजूद थे. सन्त कुमार ने कलाकारों एवं नागरिकों की और से कूड़े से जन्मी असहनीय पीड़ा से अवगत कराया और याद दिलाया कि प्रकाश उत्सव में भी प्रेमचंद रंगशाला में कई कार्यक्रम होने वाला है. इस कूड़े के डंपिंग याड से उत्पन्न बदबू, और कूड़े के पहाड़ को दिखा कर हम अपने शहर और राज्य का कौन सी संस्कृति का दिखाएंगे ? आगंतुक हमारे शहर के बारे में वापस जा कर क्या छवि प्रस्तुत करेंगे ? अतः इससे राज्य और यहाँ के ग्रसित कलाकारों और नागरिकों को निजात दिलाई जाए. इसपर कमिश्नर साहब ने यह आश्वस्त  किया कि हम इस पीड़ा को समझ सकते हैं. हम यह वचन देते हैं कि नवंबर के अंत तक पूरी तरह से ख़त्म कर देंगे. हम कलाकारों से सहयोग की अपेक्षा है. हम अपने शहर और राज्य की छवि खराब नहीं होने देंगे. यह विश्वास मानिए. दिसम्बर से कूड़ा जमीन पर नहीं गिरने देंगे. आपलोग हमें यह सब करने में सहयोग करें.

वार्ता में स्थानीय विधायक अरुण कुमार सिन्हा ने कमिश्नर से इस समस्या को जल्द से जल्द निपटने को कहा वहीँ कलाकारों एवं नागरिकों से आग्रह किया कि आपलोग इन्हें नवंबर तक वचन निभाने का मोहलत प्रदान करें.

इसी प्रकार बैठक समाप्त हुई. एक तरफ नवंबर तक इस समस्या से निजात मिलने की सफलता भी मिली वही कुछ और दिन इस समस्या में रहने का दुःख भी मिला.

कलाकार साझा संघ यह स्पष्ट करती है कि इस समस्या का समाधान निश्चित समय पर नहीं किया गया तो इसपर और उग्र आंदोलन का रास्ता अख्तियार किया जायेगा. इस सफलता का पूरा श्रेय सभी कलाकारों को जाता है. जिनके विश्वास की वजह से कलाकार साझा संघ यह कर पाई. कलाकार साझा संघ की सह सचिव अर्चना सोनी ने सभी कलाकारों को बधाई दी है .

कलाकार साझा संघ