सत्ता नहीं वरन् विचार के लिए हो राजनीति : भारतभूषण

जनसंघ का68 वाँ स्थापना-दिवस
आरा. जनसंघ के68वें स्थापना दिवस के अवसर पर बमबम उत्सव पैलेस अमीरचंद हाता में एकदिवसीय कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन किया गया. कार्यक्रम के आरंभ में डॉ.श्यामाप्रसाद मुखर्जी, पं.दीनदयाल उपाध्याय और प्रो.बलराज मधोक के तैलचित्रों पर माल्यार्पण किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता अखिलेश्वर नाथ तिवारी, सत्येंद्र नारायण सिंह और विश्वनाथ दूबे ने संयुक्त रूप से किया.
इस अवसर पर मुख्य-वक्ता के रूप में बोलते हुए जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य भारतभूषण पाण्डेय ने कहा कि सत्ता की राजनीति का दुष्परिणाम देश भुगत रहा है. उन्होंने कहा कि विचार के बिना कोई भी दल निर्रथक हो जाता है. सत्ता केन्द्रित राजनीति का वैचारिक विकल्प जनसंघ ही दे सकता है जो तमाम प्रतिकूल परिस्थितियों के बावजूद अपने सिद्धांत पर अडिग है. उन्होंने कहा कि आज देश में सभी राजनीतिक दलों में कार्यकर्ता उपेक्षित हो गए हैं जबकि जनसंघ कार्यकर्ताओं का ही दल है.
आचार्य भारतभूषण होंगे आरा से संसदीय प्रत्याशी
सम्मेलन में नगर अध्यक्ष मदनमोहन सिंह, प्रदेश महासचिव जयप्रकाश तिवारी एवं डॉक्टर श्रीनिवास तिवारी मधुकर ने आरा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य डॉक्टर भारतभूषण पाण्डेय को प्रत्याशी बनाने का प्रस्ताव किया जिसे सभा ने सर्वसम्मति से पारित किया. जनसंघ नेताओं ने पार्टी को जीवित और सशक्त बनाये रखने में पिछले तीन दशकों से आचार्य भारतभूषण पाण्डेय के उल्लेखनीय योगदान को रेखांकित किया. कार्यकर्ताओं ने लोकसभा चुनाव जीतने का संकल्प करते हुए प्रत्येक बूथ पर संपर्क अभियान की शुरुआत की. कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर श्रीनिवास तिवारी मधुकर, स्वागत भाषण सरोज कुमार अकेला एवं धन्यवाद ज्ञापन डॉक्टर सत्यनारायण उपाध्याय ने किया. वक्ताओं में रंगजी सिंह, शिवदास सिंह, शालिग्राम पाण्डेय, श्रीरामकुमार, त्रिलोकी नाथ सिंह, रामेश्वर नाथ तिवारी, राधाप्रसाद प्रसाद पाठक, एम के उपाध्याय, रामबहादुर पाण्डेय, राजीव, कुमार सौरभ, प्रेम नारायण मिश्र, सियाराम दूबे, अलख अनाडी, जनार्दन मिश्र, ध्रुव कुमार सिंह, महेंद्र पाण्डेय आदि प्रमुख थे.
आरा से रवि प्रकाश सूरज की रिपोर्ट