हिंदू को कम से कम दस बच्चे पैदा करने चाहिए- शंकराचार्य वासुदेवानंद

हिंदुओं की जनसंख्या बढ़ाने की जरूरत है

भगवान आपके बच्चों की देखभाल करेंग




नोटबंदी की तरह गो हत्या पर भी निर्णय लें प्रधानमंत्री 

प्रत्येक हिंदू को कम से कम दस बच्चे पैदा करने चाहिए. ये बातें ज्योतिर्मठ के शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती ने कही है,उन्होंने कहा कि  हिन्दू अब ‘दो बच्चों के नियम को भूल जाएं. दस बच्चे पैदा करें. यह चिंता न करें कि उन्हें कौन पालेगा, भगवान आपके बच्चों की देखभाल करेंगे. हिंदुओं की जनसंख्या बढ़ाने की जरूरत है.उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आह्वान किया कि जैसे उन्होंने नोटबंदी पर रातोरात फैसला लिया है, उसी तरह गौहत्या पर प्रतिबंध लगाने के मामले में भी निर्णय लें.वे नागपुर में आरएसएस के समर्थन से संपन्न तीन दिवसीय धर्म संस्कृति महाकुंभ ‘हिंदू बचाओ’ आह्वान के साथ संपन्न हुआ  आरएसएस संस्कृति महाकुंभ को संबोधित करते हुए ये बातें कही है.

ये बातें ज्योतिर्मठ के शंकराचार्य वासुदेवानंद सरस्वती ने कही है,उन्होंने कहा कि हिन्दू अब ‘दो बच्चों के नियम को भूल जाएं. दस बच्चे पैदा करें. यह चिंता न करें कि उन्हें कौन पालेगा, भगवान आपके बच्चों की देखभाल करेंगे. हिंदुओं की जनसंख्या बढ़ाने की जरूरत है.उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आह्वान किया कि जैसे उन्होंने नोटबंदी पर रातोरात फैसला लिया है, उसी तरह गौहत्या पर प्रतिबंध लगाने के मामले में भी निर्णय लें.वे नागपुर में आरएसएस के समर्थन से संपन्न तीन दिवसीय धर्म संस्कृति महाकुंभ ‘हिंदू बचाओ’ आह्वान के साथ संपन्न हुआ आरएसएस संस्कृति महाकुंभ को संबोधित करते हुए ये बातें कही है.