राज्य में शिक्षा एवं स्वास्थ्य का बुरा हाल: अरूण सिन्हा

बीजेपी ने बिहार में शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था के बुरे हाल को लेकर बिहार सरकार पर हमला बोला है.  बीजेपी नेता अरुण सिन्हा ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य का बुरा हाल है और जनता इसका खामियाजा भुगत रही है. उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षा व्यवस्था चरमरा गई है. कई स्कूल दिन में 11 बजे खुलते हैं और 12 बजे बन्द हो जाते हैं. स्कूलों में शिक्षक गैरहाजिर रहते हैं. राज्य सरकार ने जीविका की महिलाओं को स्कूलों की मॉनिटरिंग करने का जिम्मा दिया और जीविका की महिलाओं ने रिपोर्ट सौंप दी, लेकिन शिक्षा विभाग उस रिपोर्ट पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा और उसे डंप कर दिया है जिससे लगातार गैरहाजिर रहने वाले स्कूलों के शिक्षकों की चाँदी हो गई है.
अरुण सिन्हा ने कहा कि यही हाल मध्याह्न भोजन का है जिसमें खराब अनाज की आपूर्ति कर दूषित भोजन बच्चों को खिलाया जा रहा है जिसके कारण अधिकांश स्कूलों के बच्चे बीमार पड़ रहे हैं और सरकार दोषी व्यक्ति पर कार्रवाई करने में हिचकिचा रही है.
अरुण सिन्हा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग का भी हाल बुरा है. यहाँ कई अस्पतालों से चिकित्सक एवं कर्मी गायब रहते हैं. अस्पतालों में दवा का घोर अभाव है और पैथोलॉजिकल लैब, एक्स-रे मशीन बन्द पड़े हैं और आवश्यक केमिकल एवं फिल्म तक उपलब्ध नहीं है. राज्य में डेंगू पूरी तरह फैला है और ब्लड प्लेटलेट्स अस्पताल में उपलब्ध नहीं है जिसके कारण मरीज सरकारी अस्पताल छोड़कर प्राइवेट अस्पताल की तरफ जा रहे हैं.