हाशिये पर जो हैं उनकी हसरत

हाशिए पर हसरत” का लोकार्पण 30 अगस्त को बिहार में हाशिये पर रहने वालों की क्या है हसरत
कैसा जीवन चाहते हैं हाशिये पर रहने वाले लोग
क्या बचा है उनके जीवन में आजादी के 75 साल बाद

आरा: भीम सिंह भवेश आज पत्रकारिता और सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में 20 से ज्यादा वर्ष से सक्रिय है। उन्होंने बिहार और खास कर भोजपुर के सबसे निचले पायदान पर खड़े लोगों के लिए अनेक काम किए हैं । उनकी दूसरी पुस्तक “हाशिए पर हसरत” (प्रभात प्रकाशन) का लोकार्पण 30 अगस्त को हरिवंश जी (उपसभापति, राज्यसभा) के कर कमलों द्वारा किया जायेगा।




पुस्तक विमोचन का कार्यक्रम विधान परिषद के सभागार में 30 अगस्त को अपराह्न 3:15 बजे होगा।इस मौके पर विशिष्ट अतिथि कृषि मंत्री बिहार सरकार,वरिष्ठ पत्रकार श्रीकांत और मुंगेर विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो.जवाहर लाल होंगे और कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे साहित्यकार एवं पूर्व विभागाध्यक्ष वीर कुंवर सिंह विश्वविधालय आरा,के डॉ नीरज सिंह । भीम सिंह भवेश की दूसरी प्रकाशित पुस्तक ‘हाशिये पर हसरत’ का प्रकाशन किया है प्रभात प्रकाशन ने।इस अवसर पर प्रकाशन के निदेशक राजेश शर्मा भी मौजूद रहेंगे।

PNC desk