काश चाय मिल जाती… और लीजिए चाय हाजिर

c185fbc1-52ca-4ea9-8293-da58037c2eabसुबह से लोग लाइन में नोट बदलने के खड़े थे ,सब जगह से खबरें आ रही थी बैंकों में भीड़ ..लोग थक  रहे थे. ऐसे में किसी ने भगवान से चाय माँगी और उसकी दुआ कुबूल हो गई . GPI ( Super Cup) कम्पनी की ओर से चाय हाजिर. लोग भी आश्चर्य में पड़ गए. d5d8c8e2-3f6d-4477-ab5d-f34021d0eaadवाकया मुजफ्फरपुर का है जहां लोगों की परेशानियों को देखते हुए GPI (Super Cup) ने लाइन में लगे लोगों को ताजगी का अहसास कराया ,लोग भी ख़ुशी ख़ुशी चाय पाकर खुश हुए. भले ही उनका ध्यान धन और लाइन की त्राटक समस्या से युक्त था.

GPI ( Super Cup) चाय कम्पनी के सहायक मैनेजर स्वप्निल कुमार ,नवीन कुमार, एस ओ संतोष कुमार सिंह, संजय श्रीवास्तव, मनोज और राकेश कुमार के साथ वितरक श्रीबाला जी एजेंसी के अंकित जैन ने लोगों के दर्द में खुद को शामिल कर लिया. 3faa7dc9-c8a6-4cc4-973e-027428262ee13d6e0e36-a1f6-40eb-a532-0396af5de90e




गया, छपरा में भी GPI के इस ताजगी भरे प्रयास को लोगों ने खूब सराहा. GPI के असिस्टेंट मैनेजर स्वप्निल वर्मा ने कहा कि कंपनी का मकसद शारीरिक और मानसिक परेशानी झेल रहे लोगों को चाय की चुस्की के साथ रिफ्रेश करना है. और आगे भी उनका ये प्रयास जारी रहेगा.