महात्मा गांधी सेतु के पूर्वी लेन परिचालन पर रोक

नवनिर्मित पश्चिमी दो लेन पर छोटे एवं भारी वाहनों का चौबीसो घंटे होगा टू वे परिचालन. ओवरलोडिंग पर रहेगी पूरी पाबंदी.

महात्मा गांधी सेतु के डाउन स्ट्रीम लेन के सुपर स्ट्रक्चर के प्रतिस्थापन का कार्य किया जाना है. इसलिए डाउनस्ट्रीम लेन से वाहनों के परिचालन पर 20 अगस्त से पूर्णतः रोक रहेगा. 20 अगस्त से महात्मा गांधी सेतु पर वाहनों के परिचालन हेतु निम्न व्यवस्था की गई है-




(क) महात्मा गांधी सेतु के नवनिर्मित पश्चिमी(upstream) दो लेन पर छोटे एवं भारी वाहनों का परिचालन टू वे 24 घंटे अनुमान्य होगा, अर्थात पटना से हाजीपुर तथा हाजीपुर से पटना दोनों तरफ परिचालन हेतु अनुमति होगी.
किंतु किसी भी परिस्थिति में ओवरलोडिंग पर पूरी रोक रहेगी.

(ख) महात्मा गांधी सेतु के पूर्वी(downstream) दो लेन जिसका प्रतिस्थापन कार्य किया जाना है, पर वाहनों के परिचालन पर पूर्णतः रोक रहेगी. किसी भी परिस्थिति में इस लेन पर किसी भी प्रकार के वाहन का परिचालन नहीं होगा.

बता दें कि पथ निर्माण विभाग के विशेष सचिव ने पत्र लिख कर महात्मा गांधी सेतु के पूर्वी दो(downstream) लेन पर 20 अगस्त से वाहनों के परिचालन पर पूर्णतः रोक लगाने का निदेश दिया है. अगले 2 साल में पूर्वी लेन के कंक्रीट स्ट्रक्चर को तोड़कर उसे भी स्टील स्ट्रक्चर में बदलने के लिए काम शुरू हो रहा है.

राजेश तिवारी