पटना एम्स में हंगामा को लेकर कन्हैया समेत 2 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज

पटना एम्स में हंगामा को लेकर एफआईआर दर्ज,
फुलवारीशरीफ थाने में दर्ज हुई एफ आई आर,
कन्हैया समेत 2 लोगों के खिलाफ नामजद FIR,
80 अज्ञात लोगों पर भी एम्स प्रशासन ने दर्ज कराई प्राथमिकी
आइये जानते हैं वाकया क्या था.
दरअसल कल जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व नेता कन्हैया कुमार अपने समर्थक के साथ रविवार रात पटना के एम्स में भर्ती एआईएसएफ के अध्यक्ष सुशील कुमार को देखने गए थे. उनके साथ उनके कई समर्थक भी थे. एम्स में अचानक अचानक कन्हैया के समर्थकों ने किसी कारण वहां के गार्ड के साथ मारपीट करना शुरू इतना ही नहीं, उनलोगों ने ऑर्थो विभाग के एक डॉक्टर के साथ बदसलूकी भी की. इसी बात से नाराज होकर सोमवार सुबह से सुरक्षा की मांग को लेकर पटना एम्स के डॉक्टर्स स्ट्राइक पर चले गए थे.
इस घटना से नाराज एम्स, पटना के रेजिडेंट डॉक्टर और जूनियर डॉक्टरों ने आज सोमवार से अपने कार्य का बहिष्कार कर दिया। डॉक्टरों की मांग थी कि उन्हें सुरक्षा चाहिए जो कि एम्स पटना के लिए एक बड़ा सवाल है. रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉo विनय ने कहा था कि सभी डॉक्टर्स अभी फिलहाल कार्य बहिष्कार पर है और यदि सोमवार शाम 5 बजे तक कन्हैया कुमार एवं उनके समर्थकों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज नही होती है तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जायेंगे. शक था कि यदि दोषियों पर कार्रवाई नही हुई तो एम्स, पटना में हड़ताल होना तय है. इसपर छानबीन करने पहुंचे फुलवारीशरीफ के एसएचओ ने बताया था कि मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया जारी है. एम्स के डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से वहां इलाज करवाने आये मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था.

(bureau report)