10th के छात्र-छात्राओं को स्कूल ने दिया फेयरवेल

आरा. परीक्षा ऐसा शब्द है जिसका नाम सुनते ही दिमाग तनाव से घिर जाता है. लाख तैयारियों के बाद भी एकाग्रता चंचलता में बदल जाती है और ऐसा लगता है जैसे जल्दी से बस यह परीक्षा खत्म हो जाये. अंदर की घबराहट और इस डर को खत्म करने के साथ विद्यार्थियों को बुस्ट-अप करने के उद्देश्य से एक फेयरवेल का आयोजन सम्भावना स्कूल ने किया.


संभावना आवासीय उच्च विद्यालय ने इसमें केन्द्रीय माध्यमिक परीक्षा-2020 में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को आमंत्रित किया और फेयरवेल के साथ-साथ उनकी काउंसिलिंग भी की. यह कार्यक्रम मझौवाँ स्थित विद्यालय प्रांगण में किया गया. काउंसिलिंग सह फेयरवेल कार्यक्रम में बोर्ड परीक्षा 2020 के परीक्षार्थियों को सम्बोधित करते हुए विद्यालय की प्राचार्या डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि यह परीक्षा विद्यार्थियों को अपने भविष्य को सफल बनाने का पहला एवं अहम पड़ाव है. यहीं से तय होता है कि भविष्य में हमें क्या बनना है या क्या करना है. उन्होंने कहा कि हमारे विद्यार्थी विद्यालय की परम्पराओं का निर्वहन करते हुए अपने लक्ष्य के प्रति गंभीर होकर उस पड़ाव को सफलतापूर्वक पार करेंगें. डॉ. अर्चना ने परीक्षार्थियों को इस परीक्षा को लेकर अनेको सुझाव दिये तथा परीक्षार्थियों को उनके भावी जीवन के लिए अनेको शुभकामनायें भी दी.




इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विद्यालय के प्रबंध निदेशक डॉ. द्विजेन्द्र ने बोर्ड परीक्षा 2020 में शामिल होने वाले सभी छात्र – छात्राओं को परीक्षा की तैयारी के लिए तथा परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए. उन्होंने छात्र-छात्राओं को समय प्रबंधन के साथ पाठ्यक्रम के अनुसार पढाई करने की सलाह दी. उन्होंने बताया कि छात्र-छात्राओं को इस समय एन.सी.आर. टी. की पाठ्य पुस्तकों से सभी विषयों में रिविजन करना चाहिए तथा सी.बी.एस. ई. द्वारा जारी इस परीक्षा के लिए मॉडल प्रश्न-पत्र को हल कर लिखने का अभ्यास करना चाहिए. उन्होंने छात्र-छात्राओं को परीक्षा के समय तनाव मुक्त तथा एकाग्र रहने के लिए भी कई तरीके बतायें.

कार्यक्रम का संचालन करते हुए विद्यालय के उप- प्राचार्य राघवेंद्र ने आशा व्यक्त करते हुये कहा कि हमारे बच्चें दिये गये निर्देशों के अनुकूलन पूर्ण अनुशासन में रहकर अपनी परीक्षाओं को देंगें. इस अवसर पर प्राचार्या तथा निदेशक ने विद्यालय के सभी बोर्ड परीक्षार्थियों को उपहार प्रदान कर विदाई दिया. धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक ब्रजेश कुमार तिवारी ने किया. इस अवसर पर कक्षा दस के सभी छात्र-छात्राओं के साथ-साथ सभी शिक्षक तथा कर्मचारी उपस्थित थे.

विद्यालय द्वारा ऐसे काउंसलिंग और फेयरवेल के जरिये एक फ्रेंडली वातावरण देने से छात्रों में निश्चित तौर पर परीक्षा के लिए अध्ययन की उत्सुकता बढ़ेगी,जिससे रिजल्ट तो अच्छा आएगा ही जानकारी नई पीढ़ी को एक नई दिशा देगी. सम्भावना के ऐसे ही प्रयासों का फल है कि हर साल स्कूल के बच्चे जिले में हर परीक्षाओं में अच्छे परफॉर्म कर रहे हैं

आरा से सावन कुमार की रिपोर्ट