चाणक्या इंस्टीट्यूट ऑफ पोलटेक्निक एंड टेक्नोलॉजी कॉलेज देगा बेहतर तकनीकी पढ़ाई की सुविधा

चाणक्या इंस्टीट्यूट ऑफ पोलटेक्निक एंड टेक्नोलॉजी कॉलेज बिहार के बच्चों को देगा बेहतर तकनीकी पढ़ाई की सुविधा – डॉ गगन
अब रुपये की अभाव में तकनीकी पढ़ाई से वंचित बच्चों के लिये होगा मिशाल

कोईलवर (आमोद कुमार) | भोजपुर के कोईलवर स्थित चाणक्या इंस्टीट्यूट ऑफ पोलटेक्निक एंड टेक्नोलॉजी कॉलेज में गुरुवार को 2019-20 में प्रवेश के लिये कॉमन एट्रेंस टेस्ट लिया गया . टेस्ट में बिहार के भिन्न भिन्न जिलों के करीब 325 छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया . इस मौके पर कॉलेज के अध्यक्ष डॉ अशोक गगन ने बतलाया कि भोजपुर के छात्र के उज्वल भविष्य के लिये चाणक्य फाउंडेशन एक मिशाल होगा. जो बिहार के छात्र-छात्रा अब रुपये के अभाव में तकनीकी पढ़ाई के लिये बिहार के बाहर नही जा पाते थे और उनका सपना अधूरा रह जाता था. उन्हें अब उच्च तकनीकी की शिक्षा कम पैसों में चाणक्या ग्रुप ऑफ इंस्टीच्यूयशन देगी. संस्था अपने छात्रों को बेहतर तकनीकी की पढ़ाई और प्लेसमेंट देने के लिये कृतसंकल्पित है. उन्होंने कहा कि 2021 में इसी ग्रांउड में मेडिकल कॉलेज की भी पढ़ाई शुरू हो जाएगी. वही पढ़ाई के साथ साथ आसपास के लोगो आधुनिक मेडिकल जांच की सुविधा बहाल हो जाएगी. वही संस्था के निदेशक वित्त डॉ दिव्य ज्योती ने बताया कि इस कॉलेज के माध्यम से तकनीकी की पढ़ाई करना चाहते है तो उन्हें बिहार स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड योजना के तहत मात्र एक प्रतिशत ब्याज दर लड़कियों एवं चार प्रतिशत ब्याज दर पर शिक्षा ऋण देने की व्यवस्था की गई है. जिसमे सरकार के द्धारा अनुदान की भी प्रवधान निहित है.

कदाचार रोकने को हॉल में लगाए गए हैं सीसीटीवी कैमरे – कॉमन एट्रेंस टेस्ट में ऑब्जर्वर के रूप में तैनात राज्य प्रावैधिक शिक्षा पर्षद के सहायक सचिव कौशल किशोर सिंह ने कहा कि कॉमन एट्रेंस टेस्ट की परीक्षा को कदाचारमुक्त बनाने के लिए विशेष तैयारी की गई है. केंद्र पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. परीक्षा हॉल में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. वहीं, पूरी परीक्षा की वीडियोग्राफी भी कराई जा रही है.