मोदी सरकार पार्ट 2 की कमान है इनके हाथों में


अमित शाह को गृह, राजनाथ को रक्षा और निर्मला को मिला वित्त मंत्रालय का प्रभार

पटना, 31 मई. गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में दूसरी बार  प्रधानमंत्री की शपथ लेने के बाद मोदी सरकार ने जीते हुए योग्य सांसदों को कैबिनट की कमान देते हुए उन्हें विभिन्न मंत्रालयों सहित उस विभाग की कमान सौंप दी है. प्रधानमंत्री के शपथ के बाद उन्होंने भी शपथग्रहण कर नए मिले विभागों की कमान संभाल ली है.




कैबिनेट राज्य मंत्री के अलावे राज्य मंत्री, व स्वतंत्र प्रभार में कुल मिलाकर 57 विभागों का बंटवारा किया गया है, जिसमें बिहार के 6 नेता भी शामिल हैं. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में बिहार के शपथ लेने नेताओं में रविशंकर प्रसाद, रामविलास पासवान, अश्विनी चौबे, गिरिराज सिंह, आर.के. सिंह और नित्यानंद राय शामिल हैं.


ये हैं 24 कैबिनेट मंत्री

1. राज नाथ सिंह – रक्षा मंत्री.
2. अमित शाह – गृह मामलों के मंत्री.
3. नितिन जयराम गडकरी – सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री; तथासूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री.
4. डी.वी. सदानंद गौड़ा – रसायन और उर्वरक मंत्री.
5. निर्मला सीतारमण – वित्त एवं कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री.
6. रामविलास पासवान -उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री.
7. नरेंद्र सिंह तोमर – कृषि और किसान कल्याण मंत्री; ग्रामीण विकास मंत्री तथा पंचायती राज मंत्री.
8. रविशंकर प्रसाद -कानून और न्याय मंत्री; संचार मंत्री; तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री.
9. हरसिमरत कौर बादल – खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री.
10. थावर चंद गहलोत – सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री.
11. डॉ. सुब्रह्मण्यम जयशंकर – विदेश मंत्री.
12. रमेश पोखरियाल निशंक – मानव संसाधन विकास मंत्री
13. अर्जुन मुंडा – जनजातीय मामलों के मंत्री.
14. स्मृति जुबिन ईरानी – महिला और बाल विकास मंत्री; और कपड़ा मंत्री.
15. डॉ. हर्षवर्धन – स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री; विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री.
16 प्रकाश जावड़ेकर – पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री तथा सूचना और प्रसारण मंत्री.
17. पीयूष गोयल – रेल मंत्री, वाणिज्य और उद्योग मंत्री.
18. धर्मेंद्र प्रधान – पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री तथा इस्पात मंत्री.
19. मुख्तार अब्बास नकवी – अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री.
20. प्रहलाद जोशी – संसदीय मामलों के मंत्री; कोयला मंत्री तथा खान मंत्री.
21. महेंद्र नाथ पांडे – कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री.
22. अरविंद गणपत सावंत – भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री.
23. गिरिराज सिंह – पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्री.
24. गजेंद्र सिंह शेखावत – जल शक्ति मंत्री.

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) : –

1. राज कुमार सिंह – ऊर्जा मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय में राज्य मंत्री.

2. राव इंद्रजीत सिंह – सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), तथा योजना मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार).

3. श्रीपाद येसो नाइक – राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा मंत्रालय, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष), तथा रक्षा मंत्रालय में राज्य मंत्री.

4. डॉ. जितेंद्र सिंह – उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधान मंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय में राज्य मंत्री, परमाणु ऊर्जा विभाग में राज्य मंत्री तथा अंतरिक्ष विभाग में राज्य मंत्री.

5. किरेन रिजिजू – युवा मामलों और खेल मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री.

6. प्रहलाद सिंह पटेल – राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संस्कृति मंत्रालय तथा पर्यटन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार).

7 संतोष कुमार गंगवार – श्रम और रोजगार मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार).

8. हरदीप सिंह पुरी – आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), नागरिक उड्डयन मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), तथा वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री.

9. मनसुख एल. मंडाविया – राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) जहाजरानी मंत्रालय; तथारसायन और उर्वरक मंत्रालय में राज्य मंत्री.

ये हैं वे 24 सांसद जो राज्य मंत्री बनाए गए :-

1. फग्गनसिंह कुलस्ते – इस्पात राज्य मंत्री.
2. अश्विनी कुमार चौबे – स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री.
3. अर्जुन राम मेघवाल – संसदीय कार्य मंत्रालय में राज्य मंत्री तथा भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय में राज्य मंत्री.
4. जनरल (सेवानिवृत्त) वी. के. सिंह -सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय में राज्य मंत्री.
5. कृष्णपाल – सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री.
6. दानवे रावसाहेब दादराव – उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय में राज्य मंत्री.
7. जी. किशन रेड्डी – गृह मंत्रालय में राज्य मंत्री.
8. पुरुषोत्तम रुपाला – कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री.
9. रामदास अठावले – सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री.
10. साध्वी निरंजन ज्योति – ग्रामीण विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री.
11.बाबुल सुप्रियो – पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में राज्य मंत्री.
12. संजीव कुमार बाल्यान – पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय में राज्य मंत्री.
13. धोत्रे संजय शामराव – मानव संसाधन विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री, संचार मंत्रालय में राज्य मंत्री तथा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्य मंत्री.
14. अनुराग सिंह ठाकुर – वित्त मंत्रालय में राज्य मंत्री तथा कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री.
15. अंगदी सुरेश चन्नबसप्पा – रेल मंत्रालय में राज्य मंत्री.
16. नित्यानंद राय – गृह मंत्रालय में राज्य मंत्री. जल शक्ति मंत्रालय में राज्य मंत्री
17. रतन लाल कटारिया –  सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री.
18. वी. मुरलीधरन – विदेश मंत्रालय में राज्य मंत्री और संसदीय कार्य मंत्रालय में राज्य मंत्री.
19. रेणुका सिंह सरुता – जनजातीय मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री 
20. सोम प्रकाश – वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री.
21. रामेश्वर तेली – खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री
22 . प्रताप चन्द्र सारंगी – पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय में राज्य मंत्री.
23. कैलाश चौधरी – कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय में राज्य मंत्री.
24. देबाश्री चौधरी – महिला और बाल विकास मंत्रालय में राज्य मंत्री.

इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री मोदी ने कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय, परमाणु ऊर्जा विभाग, अंतरिक्ष विभाग, सभी महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दे, तथा अन्य सभी विभाग जो किसी को भी मंत्री को आवंटित नहीं किया गया है उसे अपने पास रखा है. अब देखना यह होगा कि मोदी सरकार की दूसरी पारी में विकास की रफ्तार क्या होती है.

पटना नाउ ब्युरो रिपोर्ट