हर घर होगी दस्तक ताकि एक भी लाभुक वंचित ना हो

सदर प्रखंड के नदांव एचडब्ल्यूसी में संगोष्ठी का हुआ आयोजन

कुष्ठ और कालाजार के प्रति ग्रामीणों को किया गया जागरूक




बक्सर, 06 जून. जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने के लिए वार्ड से जिला स्तर तक कार्य किए जा रहे हैं. ताकि, लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं और सुविधाओं का लाभ लोगों को मिल सके. वहीं, जिले में नियमित टीकाकरण के लिए जिले में हर घर दस्त अभियान शुरू होने वाला है. जिसके लिए जिले के सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स पर सोमवार को आशा कार्यकर्ताओं की बैठक हुई. इसी क्रम में सदर प्रखंड स्थित नदांव हेल्थ सेंटर में भी आशा कार्यकताओं की बैठक हुई. साथ ही, लोगों को गंभीर बीमारियों के प्रति जागरूक करने के लिए संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया. जिसमें कुष्ठ व कालाजार से बचाव, इलाज और लक्षण की जानकारी पर चर्चा की गई. जिसमें वीवीडीएस अभिषेक कुमार, पीएमडब्ल्यू नागेश दत्त पाण्डेय, सीएचओ प्रियंका कुमारी, एएनएम सुमित्रा कुमारी, आशा कार्यकर्ताओं में सुमित्रा, रमसिला, उर्मिला आदि कई आशा मौजूद रहीं.

सर्वे में एक भी घर न छूटे :

सीएचओ प्रियंका कुमारी ने आशा कार्यकताओं को बताया, विभाग के निर्देश के अनुसार नियमित टीकाकरण का लाभ सभी लाभार्थी को मिले इसके लिए सर्वे किया जा रहा है। जिसके लिए हर घर दस्तक अभियान 11 जून तक चलाया जायेगा। इस अभियान के तहत बच्चों व गर्भवती महिलाओं की ड्यू लिस्ट को अपडेट किया जाना है। ताकि, एक भी लाभुक टीका का लाभ पाने से वंचित न रहे. इसके अलावा, कोविड-19 टीकाकरण के ऐसे लाभुक जिन्होंने टीके की दूसरी और प्रिकॉशनरी डोज नहीं ली है उनकी भी लिस्टिंग करनी है. इस कार्य को 31 जुलाई तक किया जाना है. जिससे पंचायत और आसपास के गांव के सभी लाभार्थी कोविड का टीका ले सकें. उन्होंने सभी आशा कार्यकर्ताओं से इनको तय सीमा में समाप्त करने की सलाह दी. ताकि, विभाग अपने आगे की रणनीति के तहत कार्य कर सके.

बीमारियों को शुरू में पहचानना जरूरी :


बैठक के बाद संगोष्ठी में वीवीडीएस अभिषेक कुमार ने बताया, मच्छर और मक्खियों के कारण कई बीमारियों का प्रसार होता है. जिसमें कालाजार भी शामिल है. इस बीमारी के लक्षण की पहचान बहुत जरूरी है. यदि, समय पर रोग पकड़ा नहीं गया, तब एसी स्थिति में मरीज की जान भी जा सकती है. जिसके बाद उन्होंने आशा कार्यकर्ताओं को कालाजार के लक्षणों की पहचान के संबंध में विस्तृत जानकारी दी. तत्पश्चात पारा मेडिकल वर्कर नागेश दत्त पांडेय ने आशा कार्यकर्ताओं का कुष्ठ को लेकर ज्ञान वर्धन किया. साथ ही, गृह भ्रमण के दौरान मरीज की पहचान करने और उनको इलाज के प्रति जागरूक करते हुए वरीय अधिकारियों को सूचित करने की सलाह दी.

बक्सर से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट