कड़ी निगरानी में 12.5 लाख से ज्यादा छात्र देंगे इंटर की परीक्षा

पहले टॉपर घोटाला और फिर ताजातरीन पेपर लीक मामले ने बिहार में शिक्षा और बहाली व्यवस्था की पोल खोल कर दी है. टॉपर घोटाले के बाद हालांकि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति में कई बदलाव हुए हैं. BSEB इस बार अत्याधुनिक तौर-तरीके अपनाकर और सभी सावधानियों के साथ इंटर और मैट्रिक परीक्षा के आयोजन की तैयारी में लगा है.




गुरूवार को बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर और शिक्षा सचिव जितेन्द्र श्रीवास्तव ने वीडियो कॉनफ्रेन्सिंग के जरिए सभी DEO और सेन्टर सुपरिटेंडेंट्स से संवाद किया और कदाचार मुक्त परीक्षा संचालन को लेकर जरूरी दिशा-निर्देश दिए. इस बार पूरे बिहार में 1274 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं, जहां 12.61 लाख छात्र इंटर की परीक्षा देंगे. परीक्षा 14 फरवरी से शुरू हो रही है.

DEO( जिला शिक्षा पदाधिकारी) को निर्देश-

  • हर 25 छात्र पर एक वीक्षक और हर परीक्षा हॉल में 2 वीक्षकों की प्रतिनियुक्ति की जाए.
  • हर वीक्षक अपने क्लास के 25 छात्रों की तलाशी लेगा और BSEB द्वारा दिए गए घोषणा पत्र को साइन करेगा कि उसे किसी भी परीक्षार्थी के पास से चीट-पुर्जा आदि नहीं मिला. ये घोषणा पत्र परीक्षा केन्द्र के अधीक्षक के पास सुरक्षित रखा जाएगा.
  • शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति रैंडम होगी और हर दिन परीक्षा हॉल बदल कर प्रतिनियुक्त किया जाएगा.
  • सभी केन्द्राधीक्षकों को उपलब्ध कराये गये आगन्तुक पंजी( विजिटर रजिस्टर) को संधारित रखने तथा उसमें चीफ जोनल/जोनल/सब जोनल/गश्ती दल एवं अन्य पदाधिकारियों के निरीक्षण के दौरान पंजी में आगमन की तिथि/समय अंकित करते हुए उनका हस्ताक्षर लिया जाएगा.
  • परीक्षा केन्द्रों पर नियुक्त वरीय दण्डाधिकारी द्वारा अन्य नियुक्त दण्डाधिकारी को परीक्षा कक्षवार कर्त्तव्य विभाजित किया जाएगा.
    परीक्षा केन्द्रों के Entrance और अन्दर बरामदे में CCTV कैमरा लगाने और 500 परीक्षार्थियों पर एक वीडियोग्राफर तथा इससे अधिक परीक्षार्थी रहने की स्थिति में न्यूनतम दो वीडियोग्राफर की व्यवस्था की जाएगी.

 

सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी अपने जिले में संवेदनशील परीक्षा केन्द्रों को चिन्ह्ति करते हुए वहां सतर्कता बरतें. परीक्षा केन्द्र में परीक्षार्थियों के प्रवेश के समय गेट पर तलाशी की व्यवस्था अनिवार्य रूप से करें और इसके लिए केन्द्र पर प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस बल का उपयोग करें. परीक्षा केन्द्र के गेट पर और जरूरत के मुताबिक परीक्षा कक्ष में महिला परीक्षार्थियों के चिट-पुर्जों आदि की तलाशी महिला पुलिस/ महिला वीक्षक/ महिला केन्द्राधीक्षक द्वारा की जाय- जितेन्द्र श्रीवास्तव, सचिव, शिक्षा विभाग