बिहार के सबसे महत्वपूर्ण दफ्तर में लागू हुआ ड्रेस कोड

आसमानी शर्ट और काली पैंट में दिखेंगे अब इस ऑफिस के स्टाफ

बात हो रही है बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की. जहां शिक्षक दिवस के दिन से ड्रेस कोड लागू हो गया है. ये बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सभी पदाधिकारियों तथा कर्मचारियों के लिए जरूरी होगा. BSEB अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि समिति में ड्रेस कोड को लागू करने से समिति की कार्य संस्कृति में सुधार के साथ-ंसाथ कर्मियों की एक अलग पहचान बनाने में मदद मिलेगी.




क्या है ड्रेस कोड
बिहार बोर्ड के पुरुष कर्मचारियों एवं पदाधिकारियों के लिए ड्रेस कोड स्काई ब्लू शर्ट और ब्लैक पैंट के साथ काला जूता जिसे
कार्यालय अवधि में धारण करना होगा. वहीं समिति के महिला कर्मियों के लिए ड्रेस स्काई ब्लू रंग का सलवार टॉप अथवा स्काई ब्लू साड़ी एवं काला जूता/जूती होगा. बोर्ड अध्यक्ष माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक प्रभागों का औचक निरीक्षण कर ड्रेस कोड के अनुपालन की समीक्षा की. अध्यक्ष ने निरीक्षण के क्रम में पाया कि समिति के दोनों प्रभागों के पदाधिकारी व कर्मी पूरे ड्रेस में थे. औचक निरीक्षण के क्रम में पाया गया कि माध्यमिक प्रभाग में 1 कर्मी तथा उच्च माध्यमिक प्रभाग में 3 कर्मी ड्रेस कोड में नहीं थे. इन्हें शो कॉज नोटिस जारी किया गया है. बता दें कि समिति के दोनों प्रभागों में कुल मिलाकर 600 से अधिक पदाधिकारी एवं कर्मी पदस्थापित हैं.

निरीक्षण के क्रम में पाया गया कि समिति के दोनों प्रभागों में रिकॉर्ड मेंटनेंस के संबंध में काफी काम करने की आवश्यकता है.
बोर्ड अध्यक्ष ने दोनों प्रभागों के काउण्टर व्यवस्था का भी जायजा लिया. उच्च माध्यमिक प्रभाग में अध्यक्ष ने समिति के सभी तलों की व्यवस्था का भी जायजा लिया एवं संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक निदेश दिया. अध्यक्ष ने निदेश दिया कि 2017 वार्षिक परीक्षा के परीक्षार्थियों के त्रुटि सुधार से संबंधित आवेदन स्वीकार करते हुए उसका निराकरण किया जाय.

अन्य महत्वपूर्ण निर्देश-

समिति के दोनों प्रभागों में महिला कर्मचारियों के लिए शौचालय की व्यवस्था की जाएगी.
उच्च माध्यमिक प्रभाग के कर्मचारियों के लिए कैंटीन/कॉन्फ्रेंस हॉल के लिए जगह चिन्हित करने का निदेश

बोर्ड अध्यक्ष ने निदेश दिया कि समिति में पुराने कर्मियों की प्रोन्नति के संबंध में कार्रवाई करते हुए अक्टूबर माह तक
नियमानुकूल कर्मचारियों की प्रोन्नति की कार्रवाई पूरी की जाय.
अध्यक्ष ने निदेश दिया कि समिति से सेवानिवृत कर्मियों को सेवानिवृति के दिन से ही सभी सेवान्त लाभ सितंबर माह से ही
आरम्भ कर दिया जाय. साथ ही, हिन्दू कर्मचारी को छड़ी, छाता और रामायण एवं मुस्लिम कर्मचारी को छड़ी, छाता एवं
कुरान देने का निदेश दिया गया.
बोर्ड अध्यक्ष द्वारा समिति के कर्मचारियों एवं पदाधिकारियों के सैलरी स्टेटमेंट एवं पीएफ की व्यवस्था सितम्बर माह से लागू करने का निदेश दिया गया. साथ ही अध्यक्ष ने समिति के पदाधिकारियो/कर्मचारियों को पर्सनल मेडिक्लेम अथवा हेल्थ इन्श्योरेंस नवंबर माह से लागू करने का निदेश दिया.