‘बंद गली के आखिरी मकान जैसी हो गई राजद-कांग्रेस की हालत’

बिहार में एनडीए एकजुट था है और रहेगा : नन्दकिशोर
विकास की चकाचौंध के आगे टिमटिमा रही है ‘‘लालटेन’’ की लौ
केन्द्र और बिहार में एनडीए की डबल इंजन की सरकार से तेज हो रहा है बिहार का विकास

बिहार के पथ निर्माण मंत्री नन्दकिशोर यादव ने कहा है कि बिहार में राष्ट्रीय जनतात्रिक गठबंधन (एनडीए) एकजुट था, है और रहेगा। पिछले सप्ताह से अंधेरे में विखण्डन का सगूफा उड़ाने वाले राजनीतिज्ञों की आँखें खुल जानी चाहिए क्योंकि उनकी दाल नहीं गली. मंत्री ने कहा कि केन्द्र में प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी और बिहार में मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार मजबूती से गरीबों, दलितों और पिछड़ों के विकास का काम मुस्तैदी से कर रही है और इसमें शामिल तमाल घटक दल चट्टानी एकता के साथ डटे हैं. राजद और काँग्रेस की हालत बंद गली के आखिरी मकान जैसी हो गई है जिनके आगे कोई रास्ता ही नहीं है. परिवारवाद और वंशवाद वाली इन दोनों पार्टियों की स्थिति आगे नाथ न पीछे पगहा वाली हो गई है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार के चार साल के कार्यो की अप्रतिम उपलब्धियों से विरोधियों में इतनी खलबली मची है कि वे एनडीए में टूट की हवा उड़ा रहे हैं जिसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं है.




नंदकिशोर यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना व सौभाग्य योजना के तहत बिहार के घर-घर बिजली पहुँचने और महिलाओं को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन दिए जाने से ‘‘लालटेन युग’’ समाप्ति की ओर है. विकास की चकाचौंध में लालटेन की अब जरूरत ही क्या है? गाँव का अंधेरा दूर कर घर-घर बिजली से जिन करोड़ों लोगों की आकांक्षाओं को बल मिला और रसोई गैस के कनेक्शन पाने से धुआँ और धुआँजनित बिमारियों से मुक्ति मिली, भला ऐसे घरों में ‘‘लालटेन’’ की जरूरत हीं क्या? डबल इंजन के एनडीए सरकारों की विकास की रौशनी के आगे टिमटिमाती लालटेन की लौ से राजद में छटपटाहट है जिसका प्रमाण उनकी और उनके पिछलग्गू दलों के नेताओं के अनर्गल बयान हैं.