शिक्षकों के लिए शिक्षा विभाग का बड़ा धमाल

बिहार के शिक्षा विभाग ने लाखों शिक्षकों को इस बार दशहरे में बड़ा तोहफा दिया. सोशल मीडिया पर शिक्षा विभाग के मंत्री विजय कुमार चौधरी ने धमाका किया. उन्होंने लिखा कि शिक्षा विभाग ने त्योहार से पहले बिहार के शिक्षकों के लिए वेतन जारी करने जैसा ऐतिहासिक काम कर दिया. पहले आप देखिए कि आखिर बिहार के शिक्षा मंत्री ने किस तारीख को यह धमाल अपने ट्विटर एकाउंट से किया.

शिक्षा मंत्री के ट्विटर अकाउंट से यह ट्वीट 6 अक्टूबर को किया गया जिसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जदयू को भी टैग किया गया है. शिक्षा मंत्री के इस ट्वीट पर लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. शिक्षा मंत्री के ट्वीट पर अमित कुमार अमन ने पूछा है कि मेहनताना दे रहे हैं या खैरात दे रहे हैं!

लेकिन इससे बड़ी बात यह कि सरकार ने खूब ढोल पीटा कि उन्होंने सैलरी जारी कर दी लेकिन दशहरे में इस बार लाखों शिक्षकों को सैलरी नहीं मिली. वो भी तब, जब सरकार यह दावा करती है कि पूरा सिस्टम ऑनलाइन है. बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के कार्यकारी अध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि सिर्फ सितंबर नहीं बल्कि हजारों शिक्षकों को अगस्त महीने का भी वेतन अब तक नहीं मिला है. ऐसे में यह बड़ा सवाल शिक्षा विभाग पर खड़ा हुआ है कि क्या शिक्षकों को सैलरी देकर सरकार ढिंढोरा पीट सकती है लेकिन असलियत में उन्हें त्यौहार पर भी 2 महीने से वेतन नहीं मिल पाया है. इसके पहले पंचायत चुनाव और विधानसभा उपचुनाव के दौरान छठे चरण के शिक्षक नियोजन पर ट्वीट करके शिक्षा मंत्री बुरी तरह ट्रोल हुए जिसके बाद उन्हें अपने ट्वीट हटाना पड़ा था.

pncb