पुराने चेहरे को बाय-बाय, नए लोगों पर गांव वालों ने जताया भरोसा

देश की सरकार हो, राज्य की सरकार या फिर गांव की सरकार, अब बिना काम किए जनता आपको भाव नहीं देने वाली. इस बार बिहार में जारी पंचायत चुनाव के नतीजों में जनता ने यह स्पष्ट संदेश दिया है. दूसरे चरण के पंचायत चुनाव में ज्यादातर पुराने उम्मीदवार हारते दिख रहे हैं. वहीं जीत हासिल करने वालों में महिलाओं और युवाओं की संख्या ज्यादा है. अब तक पंचायत चुनाव के दूसरे चरण के नतीजों पर नजर डालें तो 34 जिलों के 48 प्रखंड की 692 पंचायतों में हुई मतगणना में हाजीपुर में मुखिया और जिला परिषद के पदों पर 90 फ़ीसदी नए चेहरे जीत कर आए हैं. वहीं बेगूसराय के भगवानपुर में 15 में से 14 मुखिया चुनाव हार गए. पंचायत सदस्य समिति में भी 21 पदों में से 20 पदों पर नए लोग जीते हैं. रोहतास की आठ और नौहट्टा की 11 में से 10 सीट पर नये प्रत्याशियों को जीत मिली है.

उत्तर बिहार के 7 जिलों में जहां गांव वालों ने युवाओं पर ज्यादा भरोसा जताया है वहीं कोसी सीमांचल में भी नए चेहरे पर ही भरोसा दिखाया है.




राजेश तिवारी