भोजपुरी कला को सहेजता ‘भोजपुरी कला-यात्रा’

24-28 दिसम्बर तक चलेगा भोजपुरी कला यात्रा

आरा,25 दिसम्बर. भोजपुरी कला यात्रा का शुभारंभ मंगलवार को हुआ. 24- 28 दिसम्बर तक चलने वाले इस कला यात्रा का आयोजन सर्जना न्यास एवं संभावना विद्यालय के संयुक्त तत्त्वाधान में हुआ है. संभावना आवासीय उच्च विद्यालय के प्रांगण में चलने वाले इस पांच दिवसीय कला यात्रा का विधिवत उदघाटन विद्यालय के प्रबंध निदेशक कुमार द्विजेन्द्र, प्राचार्या डॉ अर्चना सिंह, साहित्यकार जनार्दन मिश्र, भोजपुरी रंगकर्मी कृष्णेन्दु यादव, चित्रकार राकेश कुमार दिवाकर, प्रशिक्षक-चित्रकार संजीव सिन्हा और संस्कृतिकर्मी सुनील पांडेय द्वारा संयुक्त रूप से किया.




विद्यालय के बच्चों ने उदघाटन के मौके पर भोजपुरी मंगलाचरण गाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया.
‌स्वागत संबोधन में प्राचार्या डॉ अर्चना सिंह ने कहा कि भोजपुरी कला यात्रा का विद्यालय में आयोजन भोजपुरी संस्कृति के प्रोत्साहन में मील का पत्थर साबित होगी. क्योंकि वही समाज विकसित और प्रगतिशील हो सकता है जो अपनी संस्कृति और भाषा के संरक्षण में सक्षम हैं.

उदघाटन सम्बोधन में निदेशक कुमार द्विजेन्द्र ने बताया कि संभावना विद्यालय अपने स्थापना काल से ही ऐसी कार्यशालाएं और कार्यक्रम का आयोजन करता रहा है जो भाषा-संस्कृति का संवर्धन करती हो और यह कार्यशाला भी बच्चों के रचनात्मक विकास में सहयोग के साथ-साथ भोजपुरी संस्कारों से भी परिचय कराएगी.

जनार्दन मिश्र ने मंच से बच्चों का उत्साहवर्धन किया और भोजपुरी कला पर आधारित कार्यशाला के आयोजन के लिए सर्जना ट्रस्ट और संभावना विद्यालय के प्रति साधुवाद प्रगट किया.


विषय प्रवेश करते हुए संस्कृतिकर्मी सुनील पांडेय ने प्रतिभागियों को भोजपुरी कला से परिचय करवाते हुए कहा कि भोजपुरी चित्रकला दरअसल लेखन शैली है और प्रकृति के रंगों से इसका गहरा सम्बन्ध है.

चित्रकार राकेश कुमार दिवाकर ने अपने सम्बोधन में लोककला और शास्त्रीय कला के बीच के अंतर को बताया और भोजपुरी लोककला की विशेषताओं को रेखांकित किया.

समारोह में मंच संचालन विद्यालय के उप प्राचार्य नागेश्वर वर्मा ने किया. कार्यक्रम के अंत में सर्जना ट्रस्ट और भोजपुरी कला यात्रा के संयोजक रवि प्रकाश सूरज ने किया.

इस कार्यशाला में प्रशिक्षण राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त चित्रकार संजीव सिन्हा देंगे. यह कार्यशाला 28 दिसंबर तक विद्यालय में आयोजित होगी और समापन समारोह में अमेरिका से आई चर्चित भोजपुरी गायिका स्वस्ति पांडेय भाग लेंगी. 30 दिसंबर को प्रतिभागियों द्वारा बनाये चित्रों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसका उदघाटन प्रमोद कुमार, कला एवं संस्कृति मंत्री, बिहार सरकार करेंगे. 30 दिसंबर के कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण गोरखपुर से आये भोजपुरी फ्यूज़न बैंड ‘बुद्ध से कबीर तक’ कि विशेष प्रस्तुति होगी. कार्यक्रम में अभिभावकों के अलावा विद्यालय के शिक्षक दीपक कुमार सिंह, शशिभूषण, विष्णु शंकर भी उपस्थित थे.

आरा से ओ पी पाण्डेय की रिपोर्ट