भोजपुरी के लिए जन्तर मंतर पर विशाल धरना

सरकार भोजपुरी को जल्द आठवीं अनुसूची में शामिल करे 

जंतर मंतर पर लोग दे रहे हैं धरना 




भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल करने के लिए भोजपुरी जनजागरण अभियान की ओर से एक दिवसीय धरना और प्रदर्शन का आयोजन दिल्ली के जन्तर मंतर पर आयोजित किया गया है .इस धरना कार्यक्रम में देश के कोने कोने से लोग शिरकत कर रहे है.इस मौके पर कई वक्ताओं ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए भोजपुरी भाषा को उसका हक़ दिलाने के संसद के शीतकालीन सत्र में ही आठवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग केंद्र सरकार से की है.भोजपुरी भाषा के संवैधानिक दर्जा के लिए धरना सम्पन्न
भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन (भोजपुरी जन जागरण अभियान) के बैनर तले भोजपुरी भाषा को भारतीय संविधान में शामिल कराने के लिए संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संतोष पटेल के नेतृत्व में 15 नवम्बर 2016 को एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया. जिसकी अध्यक्षता बिहार विश्वविद्यालय के भोजपुरी विभागाध्यक्ष डा० जयकान्त सिंह ‘जय’ ने किया. इस धरना में देश भर से भोजपुरी प्रेमी शामिल हुए.

fcfd926f-daa4-46f6-8179-b01743801111
बताते चलें कि भोजपुरी भाषा बोलने वालों की संख्या लगभग पच्चीस करोड़ है. इस भाषा को सिर्फ बिहार  यूपी झारखंड छत्तीसगढ़ आदि राज्यों मे ही नही वल्कि भारत के बाहर भी लगभग चौदह देशों मे बोली जाती है. इतने समृद्धिशाली भाषा को मारीशस एवं नेपाल में दर्जा प्राप्त है परन्तु यह दुर्भाग्य की बात है कि भोजपुरी आज तक अपने ही देश में भारत के संविधान में आज हक अपना स्थान नही बना पाई.
विदित हो कि भोजपुरी भाषा मान्यता आंदोलन (भोजपुरी जन जागरण अभियान) देश भर में भोजपुरी भाषा एवं साहित्य को लोगों तक पहुँचा रहा है तथा भोजपुरी के वास्तविक पहचान को लोगों के बीच लाने का काम कर रहा है. साथ ही भोजपुरी भाषा को भारत के संविधान के आठवीं अनुसूची में शामिल कराने के लिए लगातार जागरुकता अभियान एवं धरना प्रदर्शन कर रहा है. इस क्रम में अभी तक दिल्ली के जंतर मंतर पर चार बार धरना दे चुका है और पाँचवाँ धरना का आयोजन 15 नवम्बर को किया गया. इस धरना में देश भर से भोजपुरी प्रेमी, कवि साहित्यकार, लेखक, अभिनेता, लोकगायक/गायिका, विद्यार्थी एवं बुद्धिजीवियों ने भाग लिया तथा आवाज बुलन्द किया. इस धरना में बिहार से महामंत्री अभिषेक भोजपुरिया, विश्वनाथ शर्मा, मुजफ्फरपुर से डा० जयकान्त सिंह जय, सिवान से कृष्ण कुमार सिंह, झारखंड से राजेश भोजपुरिया, चम्पारण से तैयब हसन ताज, आरा से फिल्म अभिनेता सत्यकाम आनन्द, ओ पी पाण्डेय,मंगलेश तिवारी , गाजियाबाद यूपी से जे पी द्विवेदी, प्रकाश पटेल जी, दिल्ली से रंग श्री के हेड रंगकर्मी महेन्द्र प्रसाद सिंह, प्रमेन्द्र सिंह, लालबिहारी लाल जी, डा० मनोज कुमार सिंह, धनन्जय सिंह, देवेन्द्र कुमार, रंगकर्मी संजय ऋतुराज, अभिषेक कुमार, राजीव रंजन राय, दीपक ज्योति, उपासना समय के सम्पादक पी एन श्रिवास्तव, आकाश न्यूज से बी आर मौर्या, छात्र संसद के संपादक रितु श्रीवास्तव आदि ने अपनी बात रखी.

19d75e6b-232a-485a-a3e7-fe63237549ec  432d56aa-1626-4784-b08a-40696b6e586e 9830eaf5-9959-4f46-a8cd-c36ee4d43b21

2ee6bef0-5242-492d-8be0-dc221d07de7f

 

6f6385b8-322f-49d2-a629-fcf9f1e1cd46