‘नाट्य नगरी’ में आयोजित होगा “भोजपुर नाट्य महोत्सव 2020”

17 राज्यों के शामिल होंगे कलाकार, दुल्हन की तरह सजेगा जैन स्कूल प्रांगण

शहर में लगेंगे विशाल तोरण द्वार




आरा, 4 जनवरी. इस वर्ष नाट्य नगरी ‘आरा’ में 1-5 मार्च तक “भोजपुर नाट्य महोत्सव 2020” आयोजित किया जाएगा. इस बात की जानकारी आरा रंगमंच के सचिव अनिल सिंह ने दी. उन्होंने बताया कि इस बार के महोत्सव में आयोजन स्थल जैन स्कूल को दुल्हन की तरह सजाया जाएगा. कलाकारों के ठहरने व खाने-पीने की व्यवस्था जैन स्कूल के प्रांगण में ही किया जाएगा. साथ ही पूरे नगर में आकर्षक तोरण द्वार बनाए जाएंगे. आयोजित होनेवाला यह आयोजन नाट्य महोत्सव सह अखिल भारतीय लघु नाट्य, नुक्कड़ नाटक व लोकनृत्य प्रतियोगिता के रूप में होगा. विगत वर्षों में यह आयोजन जैन स्कूल में ही कई बार किया जा चुका है. लेकिन 2016 के बाद यह आयोजन पुनः किया जा रहा है जिसमें आरा रंगमंच,जैन स्कूल और आदिनाथ ट्रस्ट सँयुक्त रूप से शामिल हैं.

बताते चलें कि इस वर्ष का यह आयोजन इसलिए भी खास है क्योंकि जैन स्कूल के 100 वर्ष पूरे हो चुके हैं. आयोजन को लेकर शुक्रवार को हुई बैठक की की अध्यक्षता अशोक मानव ने किया तथा संचालन डॉ पंकज भट्ट ने किया. बैठक में अशोक मानव ने कहा कि 17 राज्यों यथा जम्मू कश्मीर, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड आसाम,मणिपुर, मिजोरम, गुजरात आदि राज्यों के नाट्य दलों ने महोत्सव में भाग लेने के स्वीकृति दे दी है. भोजपुर नाट्य महोत्सव के संयोजक अनिल तिवारी ‘दीपू’ ने कहा कि समय बहुत कम रह गया है अतः अब हमें युद्धस्तर पर तैयारी करनी होगी. सभी नाटक दलों को महोत्सव से संबंधित रेलवे फॉर्म व अन्य कागजात भेजे जा रहे हैं. बैठक में शामिल रंगकर्मी पल्लवी प्रियदर्शी ने शहर से बाहर रह रहे शहर के सभी रंगकर्मियों-कलाकारों से महोत्सव में शामिल होने की अपील की. बैठक में आगे की रणनीति पर विचार किया गया. बैठक में आकांक्षा, श्याम, चित्रकार कमलेश कुंदन, मनोरंजन पाठक, निशीकांत सोनी आदि ने भाग लिया.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट