डॉक्टर पूरी जवाबदेही, समर्पण और निष्ठा से कार्य करें – जिलाधिकारी, भोजपुर

आरा (सत्या की रिपोर्ट)पीड़ित मानवता की सेवा ही सच्ची सेवा तथा पुण्य का कार्य है. इसलिए गरीब मरीजों के हित में सभी डॉक्टर पूरी जवाबदेही, समर्पण और निष्ठा से कार्य करें तथा स्वास्थ्य योजनाओं का जनहित में व्यापक प्रचार-प्रसार कर गरीब मरीजों को लाभान्वित करें – यह बातें जिलाधिकारी संजीव कुमार ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कोइलवर के औचक निरीक्षण के क्रम में कही.

निरीक्षण के क्रम में रोस्टर के अनुसार डॉक्टर नीलम एवं डॉक्टर अंजू सिंहा अनुपस्थित पाई गई. उनसे कारण पृच्छा  करने का निर्देश दिया गया. जिलाधिकारी ने मरीजों से पूछताछ के क्रम में पाया कि मरीजों को अस्पताल की दवा नहीं दी जाती है तथा बाहर से दवा क्रय करना होता है. दवा वितरण कार्य में अनियमितता को देखते हुए जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को फोन कर डॉक्टरों की टीम के साथ कोइलवर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की जांच कर इस आशय का प्रतिवेदन प्रस्तुत करने का निर्देश दिया. साथ ही कहा कि  स्टॉक में जो दवा नहीं रहता है उसकी आपूर्ति हेतु जिला स्वास्थ्य समिति को प्रति वेदित करें अथवा रोगी कल्याण समिति की राशि से क्रय  करना सुनिश्चित करें. यद्यपि सिविल सर्जन के नेतृत्व मे डाक्टरों की टीम ने स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया है. जिलाधिकारी ने डॉक्टरों का रोस्टर एवं मोबाइल नंबर फ्लेक्स के माध्यम से विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शित करने को कहा. जांच कक्ष के निरीक्षण में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डाँ. उमेश कुमार द्वारा बतलाया  गया कि  हीमोग्लोबिन, एचआईवी, डायबिटीज एवं बलगम की जांच होती है. जिलाधिकारी ने ओपीडी मैं इलाज करानेवाले सभी मरीजों की जांच हेतु व्यापक व्यवस्था करने का निर्देश दिया.  जिलाधिकारी ने प्रतिदिन  डॉक्टरों  एवं कर्मियों  की हाजिरी  वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग  के माध्यम से  जिला मुख्यालय द्वारा  प्रतिदिन  सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया . जांच के क्रम में वार्ड एवं बरामदा में रोशनी का  अभाव पाया गया. प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को विभिन्न स्थानों पर बल्ब लगाने का निर्देश दिया गया. साथ ही महिला एवं पुरुष शौचालय कार्यरत नहीं पाया गया. उन स्थलों पर पानी की आपूर्ति बाधित पाया गया. स्वास्थ्य केंद्र के वार्डों के भीतर एवं बाहर साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने तथा मरीजों को स्वास्थ्य विभाग के मानक के अनुरूप भोजन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया.  उन्होंने महिला वार्ड, पुरुष वार्ड, जांच कक्ष निबंधन कक्ष, डॉक्टर एवं एएनएम की उपस्थिति, डॉक्टरों एवं कर्मियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा संचालित व्यवस्था जनरेटर लॉग बुक, दवा भंडार कक्ष, दवा वितरण केंद्र का निरीक्षण कर आवश्यक निर्देश दिया गया.