अपराधियों और पुलिस के मुठभेड़ में SI और सिपाही की मौत

शहीद SI भोजपुर जिले के पिरौटा पंचायत निवासी
शहीद का शव पहुंचते ही गांव में पसरा मातम

आरा. पुलिस और अपराधियों के साथ मुठभेड़ में एक SI एवं एक सिपाही की मौत हो गई. SI भोजपुर जिले के रहने वाले थे. यह मुठभेड़ छपरा के मढौरा मुख्य बाजार पर स्टेट बैंक के समीप हुई जिसमें SI मिथिलेश कुमार और सिपाही फारुख की मौत हो गई.




घटना में शहीद मिथलेश साह 2009 बैच के थे. पुलिस के अनुसार जेल में बंद अपराधी के इशारे पर इस घटना को अंजाम दिया गया. फिलहाल इस मामले में तमाम वरीय अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस टीम कही से छापेमारी कर अपने गाड़ी बलेरो से लौट रहे थी, तभी मढौरा मुख्य बाजार में अपराधियों ने उनकी गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. इस दौरान गाड़ी में ही 2 लोगो की मौत हो गई,तीसरा अस्पताल पहुचाया गया.

मिथलेश शाह भोजपुर जिले के पिरौटा पंचायत के नागोपुर गाँव के निवासी थे. इनके पिता दशरथ शाह रेलवे में सब इंस्पेक्टर थे जो रिटायर्ड हो चुके हैं. मिथलेश की शादी लगभग 3 साल पहले हुई थी. अपराधियो से मुठभेड़ में शहीद मिथलेश का जब शव गाँव पहुचा तो पूरे गाँव के आसपास के वातावरण में गम का माहौल छा गया. पिरौटा गाँव के सर्वोदय + 2 विद्यालय पिरौटा के सभी टीचर्स व सभी बच्चे शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए सड़क पर ही घण्टों खड़े हो इंतजार करते रहे. इस विद्यालय से जुड़े सभी लोग आखिरी झलक पाने और शोक व्यक्त शहीद के मातम में आँखे नम किये उनके बहादुरी पर फक्र करते हुए खड़े थे. शहीद मिथलेश ने इसी विद्यालय से अपनी पढ़ाई की थी इसलिए विद्यालय के शिक्षक से लेकर विद्यार्थियों तक मे एक विशेष लगाव था अपने विद्यालय से निकले शुरवीर को देखने की. श्रद्धांजलि देने वाले शिक्षकों में मोहम्मद अली ,विवेकानंद पाण्डे, निधित पाण्डे, कमलेश कुमार , विकाश सिंह ,प्रमोद कुमार, अशोक पाण्डे, बसंत सिंह, इसरत जहाँ, राजदुलारी सिन्हा , कनत कुमारी संजना सिंह ,नंदिता कुमारी के साथ सभी छात्र-छात्राएं उपस्थित थी. शहीद के गाँव पहुँचते ही परिवार की कौन कहे पूरा गाँव ही गमगीन था. सभी के आंखों में आंसुओ का सैलाब था. तस्वीरों में देखिए किस तरह का माहौल गाँव मे था…..

फोटो फीचर:-