अब दो हजार तक ही बदल सकते हैं नोट, नई गाइडलाइन जारी

18 नवम्बर से 2000 रुपये ही बदले जाएंगे

विवाह के लिए ढाई लाख रुपये तक नकदी निकाल सकते हैं




नोटों को बदलने की मौजूदा सीमा 4500 रुपये की थी

कृषि मंडी में व्यापारी एक हफ्ते में 50,000 रुपये निकाल सकते हैं

आरटीजीएस से किसानों को एक हफ्ते में 25,000 रुपये तक

कृषि ऋण बीमा प्रीमियम का भुगतान में 15 दिन की मोहलत

केंद्र सरकार के तृतीय श्रेणी तक के कर्मचारी 10,000 रुपये तक की एडवांस सैलेरी कैश में निकाल सकते हैं

नोटबंदी पर सरकार ने गुरुवार को नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने बताया कि नोट बदलने कि सीमा घटाकर 2000 रुपए कर दी गई है.उन्होंने कहा कि पुराने 500 और 1000 रुपये के नोटों को बदलने की मौजूदा 4500 रुपये की सीमा को शुक्रवार (18 नवंबर) से घटाकर 2000 रुपये किया जाएगा.शक्तिकांत दास ने किसानों को राहत देते हुए ऐलान किया कि कृषि उत्पाद के लिए चेक या आरटीजीएस से भुगतान पाने वाले किसान एक हफ्ते में 25,000 रुपये तक की नकदी निकाल सकेंगे. फसल ऋण या किसान क्रेडिट कार्ड के एवज में किसान एक हफ्ते में 25,000 रुपये निकाल सकते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि किसानों को कृषि ऋण बीमा प्रीमियम का भुगतान करने के लिए समयसीमा बढ़ा दी गई है. उन्हें और 15 दिन की मोहलत दी गई है.

340__1361432962
उन्होंने कहा कि कृषि मंडी में व्यापारी एक हफ्ते में 50,000 रुपये निकाल सकते हैं ताकि वे विविध खर्चों और मजदूरी का भुगतान कर सकें.दास ने कहा कि शादियों के मौजूदा मौसम को देखते हुए विवाह के लिए अब बैंक खाते से ढाई लाख रुपये तक नकदी निकाल सकते हैं. यह छूट जिनकी शादी है उन्हें या उनके मां-बाप में से किसी एक को मिलेगी.उन्होंने कहा, केंद्र सरकार के तृतीय श्रेणी तक के कर्मचारी 10,000 रुपये तक की एडवांस सैलेरी कैश में निकाल सकते हैं. यह उनके नवंबर महीने की सैलेरी में एडजेस्ट कर दी जाएगी.शक्तिकांत दास ने कहा कि आरबीआई के पार भरपूर कैश उपलब्ध है. हमारी कोशिश है कि पैसा अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे.