महिलाओं को अधिकार और सम्मान मिले

महिलाओं के सम्मान और देखभाल” विषय पर छात्रों के साथ वार्ता सह कार्यशाला का आयोजन

कार्यक्रम का संचालन करती प्रियस्वरा भारती

पटना; पटना कॉलेज में “महिलाओं के सम्मान और देखभाल” विषय पर छात्रों के साथ वार्ता सह कार्यशाला का आयोजन किया गया | इस चर्चा सह कार्यशाला में हिंदी और पत्रकारिता विभाग की अधिकतम छात्राएं शामिल हुई, और खूब बेबाकी से अपने विचारों को प्रस्तुत किया | इस कार्यशाला का मुद्दा स्वास्थ्य संबंधित सेवाओं में महिलाओं के साथ हो रहे भेदभाव और गलत धारणाओं पर रोशनी डालने का था | छात्राओं ने इस विषय पर की उन्हें स्वास्थ्य संबंधित सेवाओं में किस तरह का सम्मान और देखभाल मिलनी चाहिए इसपर अपने विचार प्रस्तुत किए |




कार्यक्रम की संचालक प्रियस्वरा भारती ने इस कार्यशाला के उद्देश्य से अवगत कराया और साथ ही इस बात पर चर्चा की महिलाएं अपने आसपास हो रही ऐसी घटनाओं के खिलाफ कैसे आवाज़ उठा सकती हैं | इस चर्चा के दौरान बहुत सारी छात्राओं ने अपने साथ या अपने आसपास हुई घटनाओं का जिक्र किया |

कार्यशाला में भाग लेते छात्र और छात्राएं

यह कार्यशाला “खुद से पूछे” नाम की एक अभियान का हिस्सा थी | इसके तहत छात्राओं को, महिलाओं को इस बात के लिए प्रोत्साहित किया जाता है कि वे अपने स्वास्थ्य से संबंधित निर्णय खुद ले और उन्हें अच्छे दर्जे की देखभाल और जांच सुविधा ससम्मान प्राप्त हो|

इस मौके पर पटना कॉलेज के हिंदी विभाग की अध्यक्षा तथा जन संपर्क और पत्रकारिता की समन्वयक डा कुमारी विभा ने भी छात्राओं की हौसला अफजाई की| उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम निरंतर आयोजित होते रहने चाहिए, साथ ही बच्चों को बढ़-चढ़कर भागीदारी लेनी चाहिए | उन्होंने कहा के छात्राओं को पढ़ाई के साथ-साथ ऐसे सामाजिक कार्यक्रमों में भाग लेने से ही जीवन में सफलता मिलेगी |

सभी प्रतिभागी

इस कार्यशाला के माध्यम से छात्राओं ने जाना की किस तरह से सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके इन मुद्दों पर समाज को जागरूक किया जा सकता है| कार्यशाला के दौरान हिंदी तथा पत्रकारिता विभाग की छात्राएं तथा शिक्षक मुदस्सिर सिद्दिकी और रवि राजन उपस्थित थे |
“खुद से पूछे” अभियान को पटना और बिहार में कई सारे संगठन चला रहे हैं | इसमें गौरव ग्रामीण, सेंटर फॉर कैटालाइजिंग चेंज, सखी, केयर, जैसी संस्था है शामिल है | इस कार्यशाला की संचालक प्रियस्वरा भारती बिहार में के युवाओं के समूह के साथ बिहारी यूथ फॉर चाइल्ड राइट्स प्लेटफार्म को चलाती हैं|

PNC DESK