वायु प्रदूषण नियंत्रण के लिए पटना नगर निगम का क्या है प्लान

वायु प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए अब पटना नगर निगम भी अच्छी खासी राशि खर्च करने वाला है. बुधवार को पटना नगर निगम पर्षद की विशेष बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए कुल 1499.85 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत किया गया. इसमें से 204 करोड रुपए पटना में एयर पॉल्यूशन कंट्रोल पर खर्च होंगे. यही नहीं, पटना शहर के लोगों को गंगा की सैर कराने के लिए पटना नगर निगम जहाज भी खरीदेगा. यह जहाज 75 से 80 सीट वाला होगा जिस पर करीब डेढ़ करोड़ रुपए खर्च होंगे. दरअसल केंद्र सरकार से पर्यावरण के मध्य में नगर निगम को करोड़ों रुपए मिलेंगे और इसके लिए नगर निगम में एक पर्यावरण सेल का गठन किया जाएगा. नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने बताया कि अगले कुछ दिनों में एक कार्य योजना तैयार कर ली जाएग. रामाचक बैरिया में 10000 पौधे लगाए जाएंगे और निगम क्षेत्र में 10 जगहों पर वायु प्रदूषण मापक यंत्र भी लगाया जाएगा. निगम बजट 2021-22 वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए पटना नगर निगम बोर्ड ने स्वीकृत किया लगभग 15 सौ करोड़ का बजट, आधारभूत संरचना विकास पर खर्च होंगे 780 करोड़ रुपये पटना।। पटना नगर निगम पार्षद की विशेष बैठक में वित्तीय वर्ष 2021-22 हेतु कुल 1499.85 करोड़ रुपये का बजट स्वीकृत किया गया. महापौर सीता साहू की अध्यक्षता और सांसद रामकृपाल यादव की उपस्थिति में पटना नगर निगम के आयुक्त श्री हिमांशु शर्मा बजट पेश किया। वित्तीय वर्ष 2021-22 में 1499.85 करोड़ रुपये के व्यय एवं 1359.23 करोड़ रुपये आय का अनुमान है. खर्च का ब्यौरा: बजट की कुल अनुमानित राशि 1499.85 करोड़ रुपये को दो मदों यथा राजस्व व्यय एवं पूंजीगत व्यय में विभाजित किय़ा

Read more

AN कॉलेज को नगर निगम ने भेजा नोटिस

पटना नगर निगम ने 112 संपत्ति कर दाताओं को होल्डिंग टैक्स नहीं चुकाने पर नोटिस भेजा है. इन पर कुल 26.39 करोड़ रुपये बकाया है. टैक्स डिफॉल्टर्स की लिस्ट में सरकारी एवं निजी संपत्तियां शामिल हैंं. इनमें सबसे प्रमुख अनुग्रह नारायण कॉलेज प्रमुख है जिस पर करीब 8.69 करोड़ रुपये बकाया है. नूतन राजधानी में सबसे ज्यादा बकायेदार टैक्स बकायेदारों में सबसे ज्यादा 66 संपत्ति नूतन राजधानी में है. इन पर 14.74 करोड़ की संपत्ति कर बकाया है. वहीं, पाटलिपुत्र में 16, अजीमाबाद में 14, बांकीपुर में 11 एवं कंकड़बाग में पांच बकायेदार चिन्हित किए गए हैं. इन तरीकों से चुकाएं संपत्ति कर संपत्ति कर भुगतान हेतु पटना नगर निगम एवं राज्य सरकार द्वारा ऑनलाइन एवं ऑफलाइन विभिन्न विकल्पों की व्यवस्था की गई है. कर भुगतान www.patnamunicipal.net अथवा http://pmc.bihar.gov.in/propertytax.aspx अथवा पेटीएम के माध्यम से किया जा सकता है. इसके अलावा वार्ड के टैक्स कलेक्टर अथवा अंचल कार्यालय एवं मुख्यालय में टैक्स भुगतान हेतु काउंटर पर जाकर भी टैक्स भर सकते हैं. टैक्स भुगतान संबंधी जानकारी हेतु टॉल फ्री नंबर 18001218545 की भी व्यवस्था की गई है. नोटिस के बावजूद कर भुगतान ना करने वालों पर पटना नगर निगम द्वारा बिहार नगर पालिका अधिनियम 2007 के प्रावधानों के अंतर्गत कार्रवाई की जाएगी. PNCB

Read more

सरकार झुकी, समझौते के बाद सफाईकर्मियों की हड़ताल हुई खत्म

पटना (ब्युरो रिपोर्ट) | पिछले 6 दिनों से विरोध पर बैठे नगर निगम के सफाईकर्मियों ने शनिवार को अपनी हड़ताल तोड़ दी है. सरकार से बात करने के बाद समझौता होने से यह हड़ताल खत्म करने की घोषणा हुई. 4300 दैनिक सफाईकर्मियों पर आउटसोर्सिंग का नियम लागू नहीं करने पर सहमति बनी रहेगी तथा पहले की तरह नियमतिकरण की प्रक्रिया जारी रहेगा. इंटक अध्यक्ष चंद्रप्रकाश ने यह बताया कि आउटसोर्सिंग पर रखे गए कर्मियों को न्यूनतम मजदूरी के अलावा ईपीएफ (एंप्लोई प्रोविडेंटर फंड) और कर्मचारी बीमा सख्ती से लागू किया जाएगा. इसके लिए एक सप्ताह में विशेष समिति का गठन किया जाएगा. सरकार के फैसले के विरोध में प्रदर्शन पर बैठे सफाईकर्मियों से बातचीत में यह तय हुआ कि हड़ताल अवधि के दौरान दंडात्मक कार्रवाई वापस ली जाएगी. हड़ताल अवधि में वेतन की कटौती भी नहीं की जाएगी. समझौते के बिन्दु निम्न हैं –

Read more

12 सफाई निरीक्षक निलंबित, सफाई व्यवस्था बहाल करने की कोशिश

पटना (ब्युरो रिपोर्ट) | पटना नगर निगम द्वारा शुक्रवार को विभिन्न अंचलों में कुल छह टीमों का गठन कर कूड़ा उठाव का कार्य शुरू कर दिया गया. 12 स्थायी मजदूर, 31 स्थायी सफाई निरीक्षक, 05 सफाई पर्यवेक्षक के अलावा आउटसोर्सिंग एजेंसी से प्राप्त 41 मजदूर, 09 सफाई पर्यवेक्षक एवं 33 ड्राइवर समेत कुल 133 कर्मियों द्वारा सफाई व्यवस्था बहाल करने की कोशिश की जा रही है. विदित है कि दिनांक 05.02.2020 को हुई निगम पर्षद की विशेष बैठक में हड़ताल कर रहे दैनिक कर्मियों की अधिकतर मांगें सर्वसम्मति से पास हुईं जिसके बाद माननीय महापौर एवं माननीय उप महापौर द्वारा कर्मियों से काम पर लौटने की अपील की गई. वहीं, हड़ताल के समर्थन में कार्य का बहिष्कार कर रहे स्थायी कर्मियों को तत्काल प्रभाव से काम पर लौटने एवं अपने क्षेत्र में सफाई कार्य सम्पन्न कराने का आदेश दिया गया. आदेश का उल्लंघन करते हुए बांकीपुर अंचल के कुल 12 सफाई निरीक्षक ड्यूटी से गायब रहे. इन सभी के खिलाफ अनुशास्नात्मक कार्रवाई करते हुए नगर आयुक्त ने इन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. निम्नलिखित सफाई निरीक्षकों को निलंबित किया गया है – सतीश मिश्रा (वार्ड संख्या 36) प्रकाश कुमार (वार्ड संख्या 38) राम कुमार (वार्ड संख्या 39) अमर कुमार (वार्ड संख्या 40) बबलू प्रसाद (वार्ड संख्या 41) दीना प्रसाद (वार्ड संख्या 42) दीपक कुमार (वार्ड संख्या 43) दशरथ कुमार (वार्ड संख्या 47) परितोष कुमार (वार्ड संख्या 48) बिनोद कुमार (वार्ड संख्या 49) श्रीकांत (वार्ड संख्या 50) लालजी मांझी (वार्ड संख्या 51) कार्यपालक पदाधिकारी, बांकीपुर अंचल को निलंबित किए

Read more