नई तकनीक से सरकारी योजनाओं का लाभ तेजी से मिलेगा और पारदर्शिता बढ़ेगी – नीतीश

पटना (पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट) | CM नीतीश कुमार ने कहा है कि डिजिटल इंडिया का मतलब समावेशी डिजिटल विकास होता है. उन्होंने यह भी कहा कि टेक्नोलॉजी में विश्वास और ईमानदारी बेहद जरुरी है. मुख्यमंत्री ने सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में तकनीक के उपयोग पर बल देते हुए कहा कि नई तकनीक के माध्यम से जहां लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ तेजी से मिलेगा वहीं इससे पारदर्शिता भी बढ़ेगी.शनिवार को पटना के ज्ञान भवन में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, भारत सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी एवं कानून एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद द्वारा एसटीपीआई पटना सेंटर के विस्तारीकरण का शिलान्यास, पंचायत स्तर पर कॉमन सर्विस सेंटर को भारतनेट के साथ संबद्ध कर डिजिटल सेवाएं उपलब्ध कराना, सहज तकनीकी योजना एवं बिहार स्टेट वाइड एरिया नेटवर्क का लोकार्पण किया गया. कार्यक्रम की शुरुआत एसटीपीआई के महानिदेशक ओंकार राय ने पुष्पगुच्छ और अंगवस्त्र देकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद एवं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी का अभिनंदन किया. कार्यक्रम की विधिवत शुरुआत नीतीश कुमार, रविशंकर प्रसाद एवं सुशील मोदी द्वारा प्रज्वलित कर की गई.कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविशंकर प्रसाद को एसटीपीआई पटना को विस्तारित करने के लिए धन्यवाद व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि अब आधार कार्ड के उपयोग से पारदर्शिता बढ़ी है. डिजिटल क्रांति के आने से बैंकों के ट्रांजेक्शन में बहुत आसानी हुई है. उन्होंने कहा कि सीएससी के माध्यम से सरकार के योजनाओं की जानकारी लोगों को सरलता से मिल रही है. बिहार के 12 करोड़ की आबादी में 8 करोड़ लोग मोबाइल

Read more

राजगीर के संरक्षण पर मुख्यमंत्री गंभीर, कहा विरासत के संरक्षण हेतु राज्य सरकार तत्पर

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राजगीर स्थित जरासंध अखाड़े के विकास एवं संरक्षण को लेकर अखाड़े का भ्रमण एवं निरीक्षण किया. उन्होंने लगभग 20 मिनट तक इसकी संरचना एवं मिट्टी का बारीकी से अवलोकन किया तथा इसके ऐतिहासिक महत्व के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा की. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह धराेहर ASI द्वारा प्रोटेक्टेड माेनुमेंट की सूची में शामिल है इसलिए इसके संरक्षण एवं विकास के लिए राज्य सरकार सीधे तौर पर स्वयं कार्रवाई नहीं कर सकती है. उन्होंने कहा कि इस धरोहर के विकास एवं संरक्षण हेतु राज्य सरकार एएसआई को आर्थिक एवं अन्य आवश्यक मदद करने के लिए सदैव तैयार है. ASI द्वारा इस विरासत के सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण हेतु कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने इसके लिए अपने स्तर से भी महत्वपूर्ण सुझाव दिये. मुख्यमंत्री ने अखाड़े की बाहरी दीवार का निर्माण एवं अंदर की संरचना को लोहे के ग्रिल के माध्यम से घेराबंदी कर सुरक्षित करने की आवश्यकता बताई. पर्यटकों के दर्शन हेतु मूल संरचना से बगैर छेड़छाड के लोहे का प्लेटफार्म बनाने का सुझाव भी दिया. उन्होंने कहा कि पूर्व में राज्य स्तर पर अधिकारियों की एक बैठक की गई है. पुनः ASI के साथ बैठक कर इसके सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण हेतु कार्रवाई की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि राजगीर की हर धरोहर एवं ऐतिहासिक विरासत को संरक्षित रखने हेतु राज्य सरकार सदैव तत्पर है. इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, सांसद कौशलेंद्र कुमार, मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह, प्रधान सचिव

Read more

बिहार की अपनी तरह की पहली योजना का मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को नवादा जिले के अकबरपुर पंचायत के नेमदारगंज गाॅव में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा निर्मित सौर ऊर्जा चालित कैटल ट्रफ यानि पशु पेयजल सुविधा केन्द्र का उद्घाटन किया. यह बिहार की अपनी तरह की पहली योजना है. इस योजनान्तर्गत एक बोरिंग, एक एचपी का सोलर पम्प, एक हाॅज तथा एक नाद का निर्माण कराया गया है. एक एचपी पम्प से प्रतिदिन 20 से 25 हजार लीटर पानी की सुविधा मिलेगी, जिससे साढ़े तीन सौ से ज्यादा पषु पानी पी सकेंगे. इस योजना की कुल लागत 2.96 लाख रूपये है. उद्घाटन के पश्चात मुख्यमंत्री ने लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा कराये जा रहे विभिन्न कार्यों से संबंधित पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन को भी देखा और अधिकारियों के साथ विस्तृत समीक्षा की. बैठक में ऊर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, विधायक श्री अनिल सिंह, अन्य जनप्रतिनिधिगण, प्रधान सचिव ऊर्जा प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण जीतेन्द्र कुमार श्रीवास्तव सहित लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के अभियंतागण एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

Read more

ककोलत आकर मुझे सुखद अनुभूति हो रही है – नीतीश कुमार

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को नवादा जिले के गोविंदपुर प्रखंड स्थित ककोलत जल प्रपात का भ्रमण किया. मुख्यमंत्री सीढ़ियों से ऊपर चढ़ते हुए कुंड तक पहुंचे और जल प्रपात के उद्गम धार को देखा. मुख्यमंत्री ने यहां आने पर अपनी प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि मैं पहली बार यहां आया हूं और मुझे सुखद अनुभूति हो रही है. भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री ने पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव रवि मनुभाई परमार एवं प्रधान मुख्य वन संरक्षक डी0के0 शुक्ला को आवश्यक दिशा निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक जगह है और इको टूरिज्म के लिए बेहतर स्पॉट की यहां काफी संभावनाएं हैं. इसे विकसित करने की जरुरत है. उन्होंने कहा कि सीढ़ियों के अगल-बगल सुरक्षा की दृष्टि से रेलिंग की व्यवस्था की जाय. सीढ़ियों पर यहां आने वालों को असुविधा न हो इसके लिए सीढ़ियों के बीच-बीच में बैठने के भी इंतजाम किये जायें. लोगों को ऊपर चढ़ने के लिए एक्सक्लेटर आदि की व्यवस्था हो. उन्होंने कहा कि यहां साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है. सीढ़ियों के नीचे उतरने पर जो समतल जगह है, उस पर दुकान एवं अन्य सुविधाओं की व्यवस्था करने का भी मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली की भी यहां पर्याप्त व्यवस्था की जाए ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो. यहां आने वाले पर्यटकों की हर सुविधा का विशेष ख्याल रखा जाए. उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि ककोलत आने वाले एप्रोच रोड को भी दुरुस्त किया जाए. मुख्यमंत्री वहां उपस्थित जन

Read more

विद्युत् आपूर्ति नहीं होगी बाधित, मुख्यमंत्री ने वारिसलीगंज में ग्रिड उपकेंद्र एवं संबद्ध संचरण लाईन योजना का किया उद्घाटन

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को नवादा जिले के वारिसलीगंज (वासोचक) में 54.19 करोड़ रुपये की लागत वाली बिहार स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के 132/33 के0वी0 ग्रिड उपकेंद्र एवं संबद्ध संचरण लाईन योजना का उद्घाटन शिलापट्ट का अनावरण कर किया. नियंत्रण भवन का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री ने स्विच गियर कक्ष और नियंत्रण एवं रिले कक्ष का मुआयना कर ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से पूरी जानकारी ली. बिहार साउथ पावर ट्रांसमिशन कंपनी लिमिटेड के अधिकारियों ने प्रेजेंटेशन के जरिये वारिसलीगंज (वासोचक) ग्रिड उप केंद्र से होने वाले फायदे एवं पूरे बिहार में निर्मित एवं निर्माणाधीन ग्रिड सब स्टेशन की वर्तमान वस्तु स्थिति से मुख्यमंत्री को अवगत कराया. गौरतलब है कि इस ग्रिड सब स्टेशन के कार्यशील होने से सभी 7 शक्ति उपकेंद्रों (रोह, कौआकोल, पकरीबरावॉ, काशीचक, माया बिगहा, कचना एवं वारिसलीगंज) पर एक साथ विद्युत आपूर्ति बाधित नहीं होगी. ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने प्रेजेंटेशन के क्रम में मुख्यमंत्री को बताया कि वारिसलीगंज ग्रिड सब स्टेशन के शुरू होने से वोल्टेज इम्प्रूव कर गया है, जिससे अब आसपास के क्षेत्रों में लो वोल्टेज की समस्या दूर होगी. उन्होंने बताया कि वर्ष 2005 में पूरे बिहार में 45 ग्रिड सब स्टेशन थे, जिनकी संख्या अब बढ़कर 142 हो गयी है और आवश्यकता के अनुरूप वर्ष 2022 तक इसकी संख्या बढ़कर 170 हो जाएगी. मुख्यमंत्री ने वारिसलीगंज (वासोचक) ग्रिड सब स्टेशन प्रांगण में बिहार शताब्दी निजी नलकूप योजना (लघु जल संसाधन), जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र, पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, जिला उद्यान

Read more

जिनके पास कोई काम नहीं, वही चलाते हैं बहुत जुबान

राष्ट्रीय जनता दल पर सीएम ने बुधवार को बड़ा हमला बोला. उनका इशारा तेजस्वी यादव पर था जो हर दिन ट्वीट करते हैं और कहते हैं कि सीएम ने चुप्पी साध रखी है. पटना में दलित-महादलित सम्मेलन में सीएम ने कहा कि जिनके पास काम ही नहीं वही लोग ऐसी बात करते हैं. हम काम में विश्वास रखते हैं ज्यादा बोलने में नहीं. सम्मेलन में उपस्थित लोगों से आह्वान करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हर हाल में समाज में प्रेम, भाईचारा, सद्भाव, आपसी सौहार्द्र का माहौल बनाकर रखिये, तभी विकास का लाभ मिल सकेगा. उन्होंने कहा कि हमलोग झगड़े में नहीं प्रेम, सद्भाव और एक-दूसरे की इज्जत करने में यकीन रखते हैं. बहुत लोग जिन्होंने कोई काम नहीं किया, वे अनाप-शनाप बोलते रहते हैं क्योकि जो काम नहीं करता है वह जुबान अधिक चलाता है. ऐसे लोग हमारी खामोशी पर सवाल खड़े करते हैं. जदयू के दलित-महादलित सम्मलेन में शामिल सीएम ने कहा कि जब तक अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को मुख्य धारा तक नहीं लायेंगे, तब तक हमारा लक्ष्य पूरा नहीं होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि नवम्बर 2005 से हमें जब काम करने की जिम्मेवारी मिली, तब से हर क्षेत्र में हम काम करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि वर्ष 2004-05 में अनुसूचित जाति के लिए जितनी योजनायें चलती थीं, उसके लिए बजट में केवल 13 करोड़ 5 लाख 45 हजार रूपये का प्रावधान था. हमने अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण के लिए विभाग बनाया. शिक्षा विभाग के द्वारा छात्रवृत्ति का लाभ छात्रों तक पहुँचाया,  इसके अतिरिक्त अन्य कई योजनायें अनुसूचित जातियों

Read more

खानकाह मुजीबिया में उर्स संपन्न

CM नीतीश कुमार ने की चादरपोशी विधायक श्याम रजक, नगर अध्यक्ष आफताब आलम ने भी चादरपोशी करके मांगी दुआ  इस्लाम के अंतिम पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहेब की यौमे पैदाइश  के अवसर पर पटना के फुलवारी शरीफ स्थित खानकाह मुजीबिया में लगने वाले तीन दिवसीय सलाना उर्स मूए मुबारक (पवित्रबाल )की जियारात के साथ ही संपन्न हो गया. शनिवार की सुबह से ही मूए मुबारक की जियारत केलिए भीड़ उमड़ पड़ी. बीस हजार से अधिक जाइरिन ने मूऐ मुबारक की जियारत की. खानकाह मुजीबिया के जनाने खाने में हजारों हिलाओं ने मूए मुबराक की जियारत की. जोहर नमाज के बाद मर्दाें ने मूए मुबारक की जियारत की. जाइरीन जबान पर दारूद पढ़ रहे थे. सज्जादानशीं ने जियारिन की मूऐ मुबारक की जियारत कराई. शनिवार की शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खानकाह मुजीबिया के संस्थापक  पीर मुजीबुल्लाह कादरी की मजार पर चादर पोशी की और राज्य की अमन चैन के लिए दुआ मांगी. मुख्यमंत्री के खानकाह पहुंचते ही नगर सभा पति  मो आफताब आलम ने टोपी और गमछा देकर स्वागत किया और  सज्जादा नशीं हजरत सैयद शाह आयातुल्लाह कादरी से भेंट करायी. मुख्यमंत्री ने हुजरे में दस मिनट कर सज्जादानशीं से भेंट की और आर्शिवाद लिया.  उनके साथ विधायक श्याम रजक , नगर सभापति मो आफताब आलम समेत अन्य लोग मौजूद थे. इस से पूर्व शनिवार के एक बजे दिन में विधायक श्याम रजक और नगर सभापति मो आफताब आलम ने चादर पोशी करके अमन चैन, भाईचारा, आपसी सौहार्द के लिए दुआ मांगी. पटना से अजीत

Read more

‘तीर’ की लड़ाई में हाईकोर्ट से भी शरद गुट को झटका

चुनाव आयोग के बाद अब कोर्ट ने भी शरद यादव के दावे को खारिज कर दिया है. गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने शरद यादव गुट की याचिका को निरस्त कर दिया है. शरद गुट ने ‘तीर’ चुनाव चिन्ह पर दावा कतृरते हुए चुनाव आयोग के फैसले को दिल्ली हाईकोर्ट में चैलेंज किया था. दिल्ली हाईकोर्ट की जज इंद्रमीत कौर कोचर ने मामले की सुनवाई करते हुए मौजूदा याचिका को रद्द कर दिया. चुनाव आयोग ने कोर्ट को बताया है कि अभी संबंधित फैसले की संक्षिप्त रिपोर्ट ही सौंपी है और नीतीश कुमार के साथ जेडीयू चुनाव चिह्न ‘तीर’ बरकरार रखने संबंधी फैसले की विस्तृत रिपोर्ट चुनाव आयोग कारणों सहित दिल्ली हाईकोर्ट को 27 नवंबर तक सौंप देगा. ऐसे में अब गुजरात में शरद गुट को ‘ऑटोरिक्शा’ के चुनाव चिन्ह के साथ ही चुनाव लड़ना होगा. बता दें कि जदयू शरद गुट ने दिल्ली हाईकोर्ट में बिना कारण बताए फैसले लेने पर आयोग के फैसले को चुनौती दी थी. शरद गुट ने बुधवार को कोर्ट की सुनवाई के दौरान चुनाव चिह्न ‘तीर’ को फ्रिज करने और चुनाव आयोग के विस्तृत कागजात सौंपने तक मौजूदा याचिका पेंडिंग रखने की अपील की थी. लेकिन कोर्ट ने जेडीयू शरद गुट की मौजूदा याचिका निरस्त कर दी है. चुनाव आयोग के 27 नवंबर तक विस्तृत कागजात सौंपने के बाद अगर जेडीयू शरद गुट आयोग के रिपोर्ट से संतुष्ट नहीं होता तो कोर्ट में दोबारा नई याचिका दायर कर सकता है.

Read more

चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ कोर्ट जाएगा शरद गुट

जनता दल यूनाइटेड (JDU) के संस्थापक रहे शरद यादव अब कोर्ट की शरण में जाएंगे. शरद यादव गुट ने जेडीयू के चुनाव चिन्ह तीर पर अपना दावा जताते हुए चुनाव आयोग में अपील की थी. लेकिन चुनाव आयोग ने नीतीश कुमार के जदयू के पक्ष में फैसला दिया था. शरद यादव पक्ष के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि उन्हें चुनाव आयोग के फैसले पर एतराज है. इसलिए अब वे इसके खिलाफ दिल्ली हाइकोर्ट में अपील करेंगे. शुक्रवार को चुनाव आयोग ने नीतीश खेमे के पक्ष में अपना फैसला सुनाया था जिसके बाद नीतीश कुमार गुट ने खुशी जाहिर करते हुए कहा था कि ये सच्चाई की जीत है. इस मामले पर नीतीश कुमार ने कहा कि जो भी हो, लेकिन इसपर पार्टी को प्रचार खूब मिला. बता दें कि जदयू पार्टी पर अपना कब्जा जमाए रखने की कवायद में नीतीश और शरद यादव गुट लगे हैं. नीतीश कुमार के साथ एक ओर विधायकों और सांसदों से लेकर पार्टी की पूरी फोज है वहीं शरद यादव के पास गिने-चुने लोग ही हैं. इसके साथ ही अब शरद यादव और अली अनवर की राज्यसभा सदस्यता भी खतरे में है.

Read more

नीतीश सरकार पर बरसे लालू यादव

लालू यादव ने नीतीश सरकार पर उठाए सवाल सरकारी राशि के बंदरबांट का लगाया आरोप ऊर्जा मंत्रियों का सम्मेलन स्थगित होने पर सवाल राजगीर में प्रस्तावित था ऊर्जा मंत्रियों का सम्मेलन राजद अध्यक्ष लालू ने आज सीएम नीतीश पर जमकर हमला बोला. लालू ने नीतीश सरकार पर सरकारी राशि के बंदरबांट का आरोप लगाया है. लालू ने राजगीर में प्रस्तावित ऊर्जा मंत्रियों के सम्मेलन के आखिरी समय में कैंसिल होने पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि इस सम्मेलन के नाम पर पैसे पानी की तरह बहाए गए . करीब 60 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं. कार्यक्रम के लिए बॉलीवु़ड सिंगर सोनू निगम को भी पटना बुला लिया गया. लेकिन ये नहीं बताया गया कि ये सम्मेलन क्यों कैंसिल किया गया.

Read more