प्रशिक्षित शिक्षकों को अभी और करना होगा इंतजार। 23 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई

पटना (राजेश तिवारी) | तारीख पे तारीख तारीख पे तारीख तारीख पे तारीख……… जी हां यह एक फिल्मी डायलॉग है लेकिन NIOS से Dl.Ed किये हुए छात्रों के लिए यह तारीख काफी कष्टदायक नजर आ रही है और एक बार फिर मायूसी हाथ लगे हैं. पटना हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई लेकिन बिहार सरकार की लापरवाही के कारण एक बार फिर इन प्रशिक्षित शिक्षकों को थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा. आज पटना हाई कोट में सुनवाई के दौरान जैसे ही सुनवाई शुरू हुई शिक्षा विभाग के सरकारी वकील ने अपना पक्ष रखते हुए अदालत से दरखास्त किया कि अभी मेरी तैयारी पूरी नहीं हुई है इसलिए थोड़ा और समय दिया जाए इस पर माननीय कोर्ट ने शिक्षा विभाग के वकील को बात बात मानते हुए 1 सप्ताह का समय दिया है. अब अगली सुनवाई 23 अक्टूबर को होगी जिसमे शिक्षा विभाग अपना पक्ष रखेगी. हालाकि NIOS से Dl.Ed किए हुए प्रशिक्षित शिक्षकों को आज उम्मीद थी कि माननीय कोर्ट के द्वारा कम से कम फॉर्म भरने का समय मिलेगा. लेकिन बिहार सरकार की घोर लापरवाही की चलते एक बार फिर उन्हें अगली समय का इंतजार करना होगा.आपको बता दें कि बिहार के करीब ढ़ाई लाख प्रशिक्षित शिक्षक इस नियोजन प्रक्रिया से बाहर है. दरअसल मामला नियोजन प्रक्रिया शुरु होने के समय बिहार सरकार ने एनसीटीई से मार्गदर्शन मांगा था कि इन एनआईओएस से डीएलएड की हुए शिक्षकों को क्या किया जाए. जिस पर NCTE ने कोई सकारात्मक जवाब नहीं दिया, जिसके बाद बिहार सरकार ने इन सबको नियोजन प्रक्रिया

Read more

प्रशिक्षित शिक्षकों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया

पटना (राजेश कुमार) | एनआईओएस से डीएलएड किए हुए प्रशिक्षित शिक्षकों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया. मंगलवार को एनआईओएस से डीएलएड किए हुए प्रशिक्षित शिक्षकों ने अपनी डिग्री की वैधता को लेकर पटना हाईकोर्ट में रिट याचिका दाखिल की. करीब ढाई लाख प्रशिक्षित शिक्षक बिहार शिक्षक नियोजन प्रक्रिया से सरकार की गलत नीतियों के द्वारा आज माननीय पटना हाई कोर्ट में याचिका दाखिल किया. इन प्रशिक्षित शिक्षकों का कहना है कि हम लोगों ने केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जो सत्र 2017-19 में एनआईओएस से डीएलएड कराया गया जिसमें सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों ने प्रशिक्षण लिया. इन शिक्षकों का कहना है कि हम लोगों ने 4 सेमेस्टर में परीक्षा दी और बिहार सरकार के देखरेख में जो प्रशिक्षण दिया गया उसको भी हम लोगों ने पूरी तरह पालन की लेकिन आज जब नियोजन की बात आई तब 2 साल और 18 महीना के बीच हमें रुलाया जा रहा है जो कहीं से भी न्याय संगत नहीं है.

Read more

’31 मार्च तक किसी भी हाल में पूरा होगा अनट्रेंड शिक्षकों का प्रशिक्षण’

NIOS से D EL ED कर रहे छात्रों के लिए अहम खबर है. प्रशिक्षण में ढिलाई बरत रहे शिक्षकों के लिए एनआईओएस के चेयरमैन सी बी शर्मा ने साफ कर दिया है कि अनट्रेंड टीचर्स के लिए केन्द्र सरकार की ये महत्वाकांक्षी योजना किसी भी हाल में 31 मार्च 2019 तक पूरी कर ली जाएगी. क्योंकि संसद से पारित आदेश के मुताबिक इस कोर्स को इसी डेट तक पूरा करना है और सभी अप्रशिक्षित शिक्षकों को 31 मार्च 2019 तक ट्रेंड हो जाना है. इस डेट के बाद देश में कोई भी शिक्षक किसी सरकारी या निजी स्कूल में बिना ट्रेनिंग लिए नहीं पढ़ा सकेगा. पटना नाउ से एक्सक्लूसिव बातचीत में राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान के अध्यक्ष चन्द्र भूषण शर्मा ने बताया कि ये एनआईओएस का ऐसा प्रोजेक्ट है जिसमें करीब 15 लाख शिक्षकों को एक साथ प्रशिक्षण दिया जा रहा है. विश्व में ऐसा कोई दूसरा उदाहरण नहीं है. शिक्षकों को याद रखना है कि उन्हें परीक्षा देने का अवसर फिर से जरूर मिलेगा, लेकिन 31 मार्च तक ही. इस डेट तक जो शिक्षक अपना प्रशिक्षण पूरा नहीं कर पाए, उन्हें फिर मौका नहीं मिलेगा. पटना से राजेश तिवारी देखें विडियो

Read more