विधायक का टूटा बेल तो कोर्ट में किया सरेंडर

जमानत के लिए भरी 25000 की राशि आरा, 8 अप्रैल. अपने इंकलाबी रूप के लिए प्रदेश तक में चर्चित भाकपा माले विधायक मनोज मंजिल फिर से बेल टूटने के मामले में एक बार चर्चा में हैं. दरअसल अपने राजनीतिक करियर के दौरान जनता के हित में आवाज उठाने और रोड जाम करने के कारण भी अनपर कई मुकदमे दर्ज हैं. लेकिन इस बार वे चर्चा में हैं एक केस में बेल टूट जाने के कारण, जिसमें कोर्ट ने उनके आवेदन को खारिज कर दिया है. हालांकि आज उन्होंने कोर्ट में अपने आप को सरेंडर करते हुए ₹25000 का मुचलका भरकर छूटे. क्या है मामला? सिविल कोर्ट आरा के कोर्ट ADJ3 कोर्ट में भाकपा माले विधायक में मनोज मंजिल ने STR 72/14 और STR 123/19 के केस में बेल टूटने के मामले में ADJ3 के कोर्ट मे सरेंडर किया. कोर्ट ने 25000 की जमानत राशि मंजूर किया और फिर कोर्ट द्वारा उन्हें राहत मिली. विधायक के अधिवक्ता कामेश्वर सिंह और अमित कुमार बंटी ने बताया पिछले दिनों ADJ3 कोर्ट में अनुपस्थित रहने के कारण बेल टूट गया था. माले विधायक ने धारा 317 काम के कारण अनुपस्थित रहने की इजाजत मांगी थी. विधायक ने इसके लिए कोर्ट को एक आवेदन भी दिया था, जिसे कोर्ट ने दिनांक 06 अप्रैल 2022 को निरस्त कर दिया था. pncb

Read more

पटना-बक्सर फोरलेन सड़क पर होगा स्कूल आंदोलन

कोइलवर/भोजपुरइंक़लाबी नौजवान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह अगिआंव विधायक कॉमरेड मनोज मंज़िल और आइसा के जिला अध्यक्ष पप्पु कुमार राम भाकपा माले आइसा-इनौस की टीम के साथ तारामणि उच्चतर विद्यालय कोइलवर का निरीक्षण करने पहुंचे. इस दौरान विधायक मनोज मंजिल ने कहा कि तारामणि भगवान साव उच्चतर विद्यालय कोइलवर के 1600 बच्चों का भविष्य बर्बाद कर रही है सरकार. लगभग ढाई साल से बच्चों की पढ़ाई बंद है. उन्होंने इस संदर्भ में जिला पदाधिकारी और जिला शिक्षा पदाधिकारी से बात करने की बात कही और कहा कि इस बाबत मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री को भी पत्र लिखूंगा. बताते चलें कि कोइलवर में सोन नदी पर नये पुल और पटना-बक्सर फोरलेन निर्माण के लिए नगर पंचायत कोइलवर के चर्चित, प्रतिष्ठित तारामणि भगवान साव उच्चतर विद्यालय कोइलवर को तोड़ दिया गया था. भवन का अधिग्रहण कर ,जनवरी 2019 में विद्यालय को जमींदोज कर दिया गया था, जिसके बाद जल्द ही विद्यालय के लिए भूमि अधिग्रहण कर नए भवन बनाने की बात कही गयी थी. लेकिन ढाई वर्ष के बाद भी अभी तक विद्यालय के लिए जमीन उपलब्ध नहीं कराया जा सका है,जिससे विद्यालय में पढ़ने वाले 1600 बच्चों का भविष्य अंधकार में है. सदस्यों ने कहा कि 1600 बच्चों के भविष्य के सपनों को तोड़ दिया गया,इस स्कूल से पढ़कर अनेकों लोग अच्छे अच्छे पदों पर हैं. ये इस क्षेत्र का काफी प्रतिष्ठित विद्यालय है,जिसे तोड़ कर बच्चों का भविष्य बर्बाद कर दिया गया.यथा शीघ्र जमीन उपलब्ध करा कर भवन निर्माण शुरू नहीं कराया गया तो जिस पटना-बक्सर फोरलेन के लिए इस

Read more

हर एक मौत की जिम्मेदार है सरकार-कविता कृष्णन

हर मृतक के आश्रित को मुआवजा देना होगा-मनोज मंज़िल ये नीतीश-भाजपा सरकार पहले जिंदा लोगों से कागज मांगती थी अब मर गए लोगों से भी कागज मांग रही है-कविता कृष्णन भाकपा-माले पोलित बयूरो सदस्य कॉमरेड कविता कृष्णन ग्राम-पसौर,चरपोखरी भोजपुर में कोरोना काल मे मारे गए मृतको के परिजनों को किया संबोधित इस कोविड महामारी में अपनी जान गंवाने वाले सभी लोगों को श्रद्धांजलि दी गयी । ◆मृतक करण साह 45 वर्ष◆मृतक फुलझरिया देवी 54 वर्ष◆मृतक जीउत राम 64 वर्ष◆मृतक संतोष कुमार सिंह 48 वर्ष◆मृतक दीप नारायण यादव 50 वर्ष◆मृतक अवधेश यादव 45 वर्ष◆मृतक लोरिक यादव 80 वर्ष◆मृतक दरपानो कुंवर 79 वर्ष◆मृतक बुधराजो कुंवर 80 वर्ष◆मृतक मो.कलामुदिन अंसारी 65 वर्ष◆मृतक पिआरो देवी 85 वर्ष◆मृतक शुभग मुशहर 65 वर्ष◆मृतक रामदेईया मुशहर 70 वर्ष◆मृतक राजा कुंवर 60 वर्ष◆मृतक श्री निवास राम 40 वर्ष◆मृतक नंदजी राम 50 वर्ष◆मृतक लवंगी देवी 40 वर्ष◆मृतक सुंदरी देवी 50 वर्ष◆मृतक चिंता देवी 45 वर्ष◆मृतक पार्वती कुमारी 16 वर्ष आदि के परिजनों से मिल सांत्वना प्रकट किये। कॉमरेड कविता कृष्णन ने संबोधित करते हुए कहा कि इस कोविड-19 का देश के नागरिकों ने साझा सामना किया, एक दूसरे का हाथ थामा, जब सरकारों ने हाथ खींच लिया, हमारे लाखों अपने बच नहीं पाए – वायरस से, फंगस से, आक्सीजन, अस्पताल या दवा के अभाव में, जिन्हें कोविड के अलावा कोई जानलेवा बीमारी थी – उनके लिए अस्पतालों में जगह न होने से उनकी जान गई,जलाने, दफ़नाने की जगह कम पड़ गई, गरीबों ने अपने आंसुओं के साथ अपनों को नदी में बहा दिया या नदी किनारे कफ़न डाल विदा

Read more