टीकाकरण के सुदृढ़ीकरण के लिए दो दिवसीय कार्यशाला

नियमित टीकाकरण के सुदृढ़ीकरण एवं टीकाकरण आच्छादन में बढ़ोतरी के लिए प्रशिक्षित होंगे जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी • 26 एवं 27 मई को दो दिवसीय आवासीय कार्यशाला का होगा आयोजन• अपर निदेशक-सह-राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी ने पत्र जारी कर दिए निर्देश• नियमित टीकाकरण अभियान को मिलेगी गति आरा/ 24 मई- राज्य सरकार नियमित टीकाकरण के गुणवत्ता की और भी सुदृढ़ीकरण एवं इसके आच्छादन के लिए कृतसंकल्प है. इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए आगामी 26 और 27 मई को जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी का कायॅशाला के माध्यम से उन्मुखीकरण किया जाएगा. साथ ही नियमित टीकाकरण अभियान की समीक्षा भी की जाएगी. इस संबंध में अपर निदेशक-सह-राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. नरेंद्र कुमार सिन्हा ने सभी सिविल सर्जन को पत्र जारी कर अपने अपने जिलों के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को दो दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण कार्यशाला में भाग लेने के लिए एक दिन पहले पटना भेजना सुनिश्चित करें. कार्यशाला पटना स्थित होटल चाणक्या में निर्धारित की गयी है. नियमित टीकाकरण अभियान को मिलेगी गति:कार्यशाला में सभी प्रतिरक्षण पदाधिकारियों को नियमित टीकाकरण के सूक्ष्म कार्ययोजना के बारे में बताया जाएगा. टीकाकरण के आच्छादन में बढ़ोतरी, नियमित टीकाकरण के बाद होने वाली संभावित परेशानियों का मूल्यांकन एवं प्रबंधन के बारे में इस कार्यशाला में बातें की जाएगी. साथ-साथ टीका के रियल टाइम स्टाक, स्टोरेज तापमान, टीका की जरूरत एवं आपातकालीन प्रबंधन के बारे में भी कायॅक्रम में उपस्थित भागीदारों को अवगत कराया जाएगा. इसके अलवा किसी भी जटिल केस पर नजर रखना एवं ईविन पोर्टल के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी. नियमित टीकाकरण कार्यक्रम है स्वस्थ

Read more

सेकेंड डोज से वंचित के लिए ये अवसर !

सेकंड डोज से वंचित 18 वर्ष से ऊपर के लाभार्थियों का शत प्रतिशत टीकाकरण किया जायेगा सुनिश्चित • कार्ययोजना तैयार कर ड्यू लाभार्थियों को किया जायेगा टीकाकृत• कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति ने पत्र जारी कर दिए निर्देशआरा, 23 मई- कोविड-19 संक्रमण से सुरक्षा के लिए कोविड टीकाकरण को सबसे सशक्त माध्यम माना जा रहा है. राज्य सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग ज्यादा से ज्यादा आयुवर्ग के लोगों को कोविड टीके के सुरक्षाचक्र में लाने को प्रयासरत है. राज्य के कुछ जिलों में सेकंड डोज से वंचित लाभार्थियों के टीकाकरण की संख्या में कमी दर्ज की गयी है और इसे देखते हुए कार्ययोजना तैयार कर ड्यू लाभार्थियों को टीकाकृत करने की स्वास्थ्य विभाग की योजना है. इस संदर्भ में कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार, संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर चयनित जिलों के जिलाधिकारी एवं सिविल सर्जन को निर्देश जारी किये हैं. कार्ययोजना तैयार कर ड्यू लाभार्थियों को किया जायेगा टीकाकृतजारी पत्र में बताया गया है कि ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा “आजादी से अन्त्योदय तक”, अंतर्गत 90 दिन के अभियान के तहत राज्य के 5 वर्णित जिलों भोजपुर, कैमूर, नवादा, सीतामढ़ी एवं कटिहार में कोविड-19 टीके के द्वितीय खुराक से 18 वर्ष एवं इससे अधिक आयुवर्ग के शत प्रतिशत लाभार्थियों को टीकाकृत कर अभियान को शत प्रतिशत सफल बनाना निर्देशित है. जारी पत्र में निर्देशित है कि अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए कोविन पोर्टल से द्वितीय खुराक के ड्यू लाभार्थियों की सूचि आहरित कर सत्रवार विस्तृत कार्ययोजना तैयार किया जाये तथा निर्धारित सत्र के पोषक

Read more

गर्भवती महिलायें भी ले सकती हैं कोविड टीका, नहीं है कोई नुकसान

अब तक हुए टीकाकरण में पुरुषों से महिलाओं की संख्या काफी अधिकजिन महिलाओं का प्रिकॉशनरी डोज लेने का समय हो गया है वो अपना टीका अवश्य लेंबक्सर,14 मई. जिले में कोरोना वायरस से संक्रमण प्रसार व उसके प्रभाव को कम करने के लिए टीकाकरण का कार्य निरंतर चल रहा है. समय-समय पर टीकाकरण की गति को बढ़ाने के लिए स्पेशल ड्राइव भी चलाए जाते हैं, ताकि, निर्धारित उम्र वर्ग के लाभार्थियों को टीका देकर लाभान्वित किया जा सके. क्योंकि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी टीकाकरण को कोविड संक्रमण से बचाव का एकमात्र रास्ता बताया है. लेकिन, कोविड टीका लेने का यह मतलब कतई नहीं है की लोग टीकाकरण के बाद भी संक्रमण को लेकर बेपरवाह हो जाए. टीकाकरण के बाद भी नियमित रूप से मास्क के इस्तेमाल, हाथों को साबुन पानी से धोने या सैनिटाइजर के इस्तेमाल तथा शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते रहना आवश्यक है. टीकाकरण के प्रति गर्भवतियों को जागरूक करने की पहल ऐसे मामले हैं जिनमें यह देखा जाता है की लाभुक अपरिहार्य कारणों से टीका लेने में कतराते हैं. जिनमें गर्भवती महिलाएं भी शामिल हैं,जो अपने गर्भ में पल रहे बच्चे को लेकर काफी चिंतित रहती हैं. ऐसे में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने गर्भवतियों को जागरूक करने की पहल की है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने इसके लिए एडवाइजरी जारी की है, जिसमें बताया है कि कोविड टीकाकरण गर्भवती महिलाओं और उनके होने वाले बच्चे दोनों के लिए सुरक्षित है. कोविड 19 के लक्षण जिन गर्भवती महिलाओं में पाये जाते हैं,

Read more

कोरोना पॉजिटिव हैं, तो कब ले सकते हैं कोविड वैक्सीन?

भारत में कोरोना संक्रमण एक तरफ तेजी से पांव पसार रहा है दूसरी तरफ देश भर में कोविड-19 वैक्सीनेशन का काम भी जोरों से चल रहा है. मुश्किल वक्त में एक सवाल जो सबके जहन में आता है और जिसका जवाब हर व्यक्ति जानना चाहता है कि अगर मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूं तो कितने दिन के बाद कोविड-19 की पहली दूसरी या बूस्टर डोज ले सकता हूं. एक और सवाल जिसका जवाब कोविड-19 वैक्सीन लेने वाले लोग जानना चाहते हैं वह यह कि कोई भी व्यक्ति बूस्टर डोज कब ले सकता है. केंद्र सरकार ने एक विज्ञप्ति जारी करके इस बारे में स्थिति स्पष्ट की है. केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति की कोरोना जांच लैब रिपोर्ट में पॉजिटिव पाई गई है तो वह व्यक्ति स्वस्थ होने के 3 महीने बाद ही कोविड-19 की कोई भी खुराक ले सकता है. आप अगर कोविड-19 वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं तो दूसरे डोज लेने की तिथि से 9 महीने बाद ही आप बूस्टर डोज ले सकते हैं. बूस्टर डोज के लिए 9 महीने का अंतराल हर उस वैक्सीन के मामले में लागू होगा जो भारत में दी जा रही है. pncb

Read more

कोरोना से जंग जीतना है तो वैक्सीन जरूर लें

कोइलवर/भोजपुरकोरोना टीकाकरण अभियान के तहत कोइलवर के काजी वहीद अशरफ मध्य विद्यालय टीकाकरण केंद्र पर शनिवार को भी टीकाकरण किया गया. इस दौरान सुबह से ही महिलाओं व परुषों की भीड़ इकट्ठी हो गई. टीकाकरण के तहत पटना जिला युवा भाजपा जिलाध्यक्ष अर्पित कुमार दिवाकर ने कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लिया. कोविड-19 का टीका लगवाने के बाद जिलाध्यक्ष दिवाकर ने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है इसलिए यह आवश्यक है कि सावधानी बरती जाए. उन्होंने कहा कि शासन की गाइडलाइन के अनुसार प्रदेश में टीकाकरण लगातार कराया जा रहा है. कोरोनारोधी टीका पूरी तरह सुरक्षित है. किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं है. यह टीका बाकी टीकों की तरह ही जनरल वैक्सीन है. हमने खुद वैक्सीन लगवाया है जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखा. अतः सभी लोग सरकार के गाइड लाइन के अनुसार कोरोना का टीका लें ताकि हम सभी कोरोना से जंग जीत सकें. साथ ही कहा कि टीका लेने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, साबुन से बार-बार हाथ धोते रहें व मास्क का हमेशा प्रयोग करें. आमोद

Read more

सोशल डिस्टेंसिंग ताख पर रख 486 को लगा कोरोना का टीका

गड़हनी,9 जुलाई. स्थानीय प्रखंड के गड़हनी अवस्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत क्षेत्र में गुरुवार को पत्रकार मुरली मनोहर जोशी एवं अविनाश कुमार राव समेत 486 लोगों ने कोरोना का वैक्सीन लिया. हेल्थ मैनेजर अनिल कुमार ने बताया कि बीआरसी गड़हनी, राम दहिन इंटर स्कूल एवम बँगवा पंचायत के बहादुरपुर गांव में कैम्प लागाकर लोगों को कोवीड 19 का वैक्सीन  दिया गया. वैक्सीन लेने के लिए लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला. स्वास्थ्य कर्मी के समझाने के बावजूद लोग सोसल डिस्टेंसिग की धँज्जिया उड़ा रहे थे. अधिकतर लोगों ने मास्क नहीं पहना था. पीएचसी प्रभारी का कार्यालय था खुला लेकिन प्रभारी गायब गड़हनी स्वास्थ्य केंद्र पर आए लोगों ने बताया कि गड़हनी पीएसची प्रभारी डाक्टर रीता शर्मा अक्सर गायब ही रहती हैं. गुरुवार को भी उनका चेम्बर तो खुला था लेकिन वो नहीं थी. उनसे दूरभाष पर सम्पर्क करने की कोशिश की गई लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई. लोगो का कहना हैं कि जब अस्पताल का मुखिया ही अक्सर गायब रहे तो घर की स्थिति कैसी होगी इसका अंदाजा लगाया जा सकता है. कहाँ कितना लगा कोविड का टीका गड़हनी प्रखंड क्षेत्र में कोवीड 19 का ज्यादा से ज्यादा टीकाकारण हो इसको ले तीन जगहों पर टीकाकारण किया जा रहा था. उस दौरान बीआरसी गड़हनी में 186, रामदहिन इंटर स्कूल में 150 एवम बँगवा पंचायत के बहादुरपुर गांव में 150 लोगों को कोवीड 19 का वैक्सीन दिया गया. दो गार्ड के भरोसे अस्पताल की सुरक्षा पीएचसी गड़हनी में दो गार्ड पर अस्पताल की सुरक्षा को छोड़ दिया गया हैं.

Read more

शीर्ष पर बिहार, 24 घंटे में रिकॉर्ड 6 लाख से अधिक हुआ टीकाकरण

• स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी, सबसे अधिक टीका करने वाले राज्य बना बिहार • टीकाकरण कार्य के साथ रैपिड एंटीजेन टेस्ट व आरटीपीसीआर जांच को दी प्राथमिकता पटना, 17 जून: कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए हो रहे टीकाकरण कार्य में बिहार ने उल्लेखनीय कार्य किया है. अब यह देशभर में एक दिन में सबसे अधिक टीकाकरण करने वाला पहला राज्य हो गया है. इसकी जानकारी राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से दी है. स्वास्थ्य मंत्री ने टिवटर हैंडल से जानकारी देते हुए लिखा है कि बिहार एक दिन में सर्वाधिक टीकाकरण करने वाले देश का पहला राज्य बन गया है. केंद्र सरकार द्वारा टीके की आपूर्ति बढ़ाने एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण कार्य तेज गति से कर रहा है. बिहार 24 घंटे में रिकॉर्ड 6 लाख, 62 हजार 507 लोगों को टीकाकृत कर सभी राज्यों से आगे हैं. विभिन्न राज्यों में हो रहे कोविड टीकाकरण कार्य में बिहार जहां शीर्ष राज्य है, वहीं उत्तरप्रदेश दूसरे स्थान पर है. कोविड टीकाकरण कार्य में शीर्ष दस राज्यों में मध्यप्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना, ओडिशा, पश्चिम बंगाल भी शामिल हैं. बुधवार तक उत्तरप्रदेश में एक दिन में जहां 3 लाख 60 हजार 382 लोगों का टीकाकरण किया गया, वहीं मध्यप्रदेश में यह संख्या 3 लाख 35 हजार 608 रहा. तमिलनाडु में 3 लाख 21 हजार 792, गुजरात में 2 लाख 48, 381, महाराष्ट्र में 2 लाख 34 हजार 352, कर्नाटक में 1 लाख 94 हजार

Read more

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन से मिली छुट्टी: अब ऑनस्पॉट कराइये रजिस्ट्रेशन और झटपट पाइए वैक्सीन

कोरोना वैक्सिनेशन के लिए अब ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जरूरी नहीं नई दिल्ली, 24 मई. कोरोना का टीका लेने वालों के लिए खुशखबरी है.. अगर आप कोरोना वैक्सीन के लिए लगातार रजिस्ट्रेशन के बाद भी स्लॉट बुकिंग नहीं कर पा रहे है तो आप मायूस ना होइए अब आपको ऑनलाइन स्लॉट बुकिंग करने की कोई जरूरत नहीं. अब ऑन द स्पॉट भी जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करा अपना टीका ले सकते हैं. जी हां चौंकिये मत! यह कोई अफवाह नहीं बल्कि सच्चाई है. बता दें कि सरकार ने एक मई से चालू 18-44 साल तक के लोगों के लिए वैक्सीनेशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के साथ ऑनस्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी दे दी है. सरकार के द्वारा जारी किए गए इस रजिस्ट्रेशन का उद्देश्य भीड़ को नियंत्रित करना था, लेकिन अब वैक्सीन की बर्बादी रोकने के लिए सरकार ने नया आदेश जारी किया है. भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने 18 वर्ष से 44 वर्ष तक के टीके के लिए कोविन ऐप पर रजिस्ट्रेशन की बाध्यता को समाप्त कर दिया है. इससे फायदा यह होगा कि इस आयुवर्ग के लोग अब ऑनस्पॉट रजिस्ट्रेशन करा कर टीका ले सकते हैं. टीके के लिए रजिस्ट्रेशन कराना तो होगा, लेकिन इसे अब कोविन ऐप की जगह वैक्सिनेशन सेंटर पर जाकर भी किया जा सकता है. इस बात की जानकारी सोमवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी. मंत्रालय ने यह फैसला वैक्सीन की बर्बादी को रोकने और आम लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए किया है. लेकिन आपको बतातें चलें कि रजिस्ट्रेशन की यह सुविधा

Read more

कोविड वैक्सीनेशन पर सरकार को घेरने की तैयारी में विपक्ष

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव 16 मई को अपराहन 3:30 बजे विधान मंडल के सभी विपक्षी दलों के साथ वर्चुअल मीटिंग करेंगे. विधानसभा सदस्यों व विधान पार्षदों के मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास मद योजना की अनुमान्य राशि से 2 करोड़ रुपए स्वास्थ्य विभाग के कोरोना उन्मूलन कोष में जमा करने के निर्णय के संबंध में यह बैठक होगी. नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि वे इस संबंध में मुख्यमंत्री को दो पत्र भी लिख चुके हैंं. बैठक में टीकाकरण में बिहार के फिसड्डी रहने संबंधित चर्चा भी होगी. बिहार में वैक्सीन की भारी कमी है. 18 वर्ष से ऊपर के नागरिकों का टीकाकरण भी नहीं हो रहा. इन सभी विषयों पर चर्चा और विपक्ष आगामी रणनीति बनेगी. बैठक में राजद के अलावा कांग्रेस, सीपीआई(माले), एआईएमआईएम, सीपीआई, सीपीएम के वरिष्ठ नेतागण उपस्थित रहेंगे. दरअसल होली के बाद से ही नेता प्रतिपक्ष बिहार से बाहर हैंं. कोविड-19 काल में नेता प्रतिपक्ष के बिहार में नहीं रहने को लेकर एनडीए नेता लगातार सवाल खड़े कर रहे थे. माना जा रहा है कि सरकार पर दबाव बनाने को लेकर राष्ट्रीय जनता नेता दल समेत तमाम विपक्ष ने सरकार के खामियों को उजागर करने की रणनीति बनाने के लिए यह महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है. राजेश तिवारी

Read more

आपने कौन सा वैक्सीन लिया है!

कोविड वैक्सीनेशन का काम देशभर में काफी तेज गति से चल रहा है. फर्स्ट डोज लेने के बाद लोगों को सेकेंड डोज समय पर लेने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. बिहार समेत पूरे देश में फिलहाल कोवैक्सीन और कोविशिल्ड, यही दो टीके दिए जा रहे हैं. कोवैक्सीन के लिए 30 से 45 दिनों के बीच दूसरा डोज जबकि कोविशिल्ड वैक्सीन के लिए 6 से 8 हफ्ते के बीच दूसरा डोज लेने की सिफारिश की जा रही थी. लेकिन अब केंद्र सरकार ने कोविशिल्ड की दूसरी डोज को लेकर एक बड़ा परिवर्तन किया है यह परिवर्तन हुआ है कोविशिल्ड को लेकर. अब कोविशिल्ड की दूसरी डोज 12 से 16 हफ्ते के बीच लेनी होगी. pncb

Read more