7 दिसंबर को इस जिले से विकास यात्रा पर निकलेंगे CM

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे विकास यात्रा CM नीतीश जल्द ही एक और यात्रा पर निकलने वाले हैं. हर साल के आखिर में सीएम नीतीश पूरे सूबे की यात्रा करते हैं और लोगों से मिलकर उनसे सरकार के कामकाज की फीडबैक लेते हैं. इस बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सात दिसंबर से विकास यात्रा पर निकलने वाले हैं. इसकी शुरूआत वे पूर्वी चंपारण जिले से करेंगे. चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में मुख्यमंत्री की इस यात्रा का मकसद जिलो में विकास योजनाओं की समीक्षा करने के साथ-साथ सामाजिक मुद्दों पर जागरुकता लाना है. मुख्यमंत्री सात दिसंबर से अठारह जनवरी 2018 के बीच सात चरणों में 37 जिलों की यात्रा करेंगे. इस बार हर जिले में खासकर शराबबंदी और नशा मुक्ति अभियान पर CM लोगों से बात करेंगे. जानकाकरकी के मुताबिक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोगों से इक्कीस जनवरी को बाल विवाह और दहेज़ प्रथा विरोधी अभियान में शामिल होने को कहेंगे. बता दें कि इस बार 21 जनवरी को बिहार सरकार फिर से मानव श्रृंखला बनाने वाली है जिसमें बाल विवाह और दहेज के विरोध में लोग खड़े होंगे. विकास यात्रा का शेड्यूल- 7-8 दिसंबर: पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण 13-16 दिसंबर: सीतामढ़ी, शिवहर, मुजफ्फरपुर, मधुबनी, दरभंगा, समस्तीपुर और वैशाली 20-22 दिसंबर: बांका, भागलपुर, पुर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार 27-29 दिसंबर: जमुई, शेखपुरा, मुंगेर, लखीसराय और नवादा 4-6 जनवरी: मधेपुरा, सहरसा, सुपौल, खगड़िया और बेगूसराय 10-13 जनवरी: गोपालगंज, सीवान, छपरा, आरा, बक्सर, कैमूर रोहतास 16-18 जनवरी: नवादा, गया, औरंगाबाद, अरवल और जहानाबाद

Read more

CM ने लिया तैयारियों का जायजा

CM नीतीश कुमार आज पटना सिटी स्थित तख्त श्री हरमंदिर पहुंचे. सीएम ने तख्त श्री हरमंदिर जी पटना साहिब का दर्शन कर मत्था टेका. इसके बाद सीएम ने बाइपास टेंट सिटी और कंगन घाट टेंट सिटी निर्माण कार्य का जायजा लिया. इस मौके पर पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर,पटना की मेयर के अलावा कई विभागों के अधिकारी मौजूद थे. CM नीतीश ने लिया प्रकाश पर्व की तैयारियों का जायजा- यहां क्लिक करें- क्या कहा सीएम नीतीश कुमार ने- बता दें कि श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 351वें वर्षगाँठ और 350वें प्रकाश पर्व के समापन समारोह की तैयारी चल रही है. 23 से 25 दिसंबर तक होने वाले इस पर्व को लेकर ही सीएम आज यहां पहुंचे और तैयारियों की समीक्षा की. उन्होंने अधिकारियों को टेंट सिटी का निर्माण जल्द पूरा करने के निर्देश दिए. साथ ही प्रकाश पर्व से जुड़े सभी काम को बेहतर करने के निर्देश दिए ताकि देश-विदेश के श्रद्धालुओं को कोई परेशानी ना हो. सीएम ने गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के साथ बैठक भी की. उन्होंने साफ कहा कि समापन समारोह भी प्रकाश पर्व से किसी मायने में कम नहीं होगा.   पटना सिटी से अरुण

Read more

‘कुदरत की ताकत को देखते हुए बने कार्ययोजना’

पटना के आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय में सेंटर ऑफ ज्योग्राफी खुलेगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसका प्रस्ताव देते हुए कहा है कि वहां विभिन्न समस्याओं के अध्ययन के साथ-साथ उनके निदान के उपाय सुझाए जा सकते हैं. सीएम रविवार को ज्ञान भवन में एसोसिएशन ऑफ ज्योग्राफर्स (बिहार-झारखंड) के 19वें कान्फ्रेंस सह दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. पटना स्थित A N कॉलेज के ज्योग्राफी विभाग की ओर से अर्बन डायनामिक्स स्मार्ट सिटी प्रोस्पेक्टस इन बिहार-झारखंड विषय पर ये आयोजन किया गया था. भूगोलवेत्ताओं से अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण की सुरक्षा के लिए गंभीर पहल करनी होगी. जनचेतना के साथ-साथ अभियान चलाना होगा. कुदरत की ताकत को देखते हुए कार्ययोजना बनाइए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भूगोलवेत्ताओं के सम्मेलन में शहरीकरण के साथ-साथ साफ-सफाई की संस्कृति को विकसित करने पर भी जोर दिया.उन्होंने शहरों के विकास के लिए प्राकृतिक वातावरण को भी जरूरी बताया और कहा कि विकास के नाम पर पेड़ों की कटाई नहीं होनी चाहिए. स्वच्छता के लिए लोगों को अपनी आदतों को भी बदलना पड़ेगा. CM ने पर्यावरण से छेड़छाड़ पर चिंता जताते हुए शहरीकरण एवं विकास के साइड इफेक्ट की चर्चा की. मुख्यमंत्री ने इसे विनाश की दस्तक बताया और कहा कि हालात से निपटने के लिए हमें अभी से कारगर कदम उठाने होंगे. सिर्फ बहस से रास्ता नहीं निकलने वाला.

Read more

अब बिहार म्यूजियम की सभी दीर्घाओं का करिए दीदार

मुख्‍यमंत्री ने बिहार संग्रहालय की इतिहास दीर्घाओं व अन्‍य दीर्घाओं का किया लोकार्पण गांधी जयंती के अवसर पर बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने जवाहर लाल नेहरू मार्ग, बेली रोड, पटना स्थित बिहार संग्रहालय की इतिहास दीर्घाओं व अन्‍य दीर्घाओं का लोकार्पण विधिवत रूप से दीप प्रज्‍जवलन कर किया. इस दौरान उन्‍होंने अपने संबोधन में बिहार संग्रहालय के सभी दीर्घाओं के लोकापर्ण को सुखद अनुभू‍ति बताया और कहा कि बिहार के पास विरासत, कला – संस्‍कृति  और इतिहास ही पूंजी है, जिसे हमने इस अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के संग्रहालय के जरिये सहेजने की कोशिश की है. CM ने पटना संग्रहालय का जिक्र करते हुए कहा कि वहां राहुल सांस्‍कृत्‍यायन द्वारा तिब्‍बत से लाये दस्‍तावेज के अलावे कई चीजें हैं, जो महत्‍वपूर्ण हैं। लेकिन वहां जगह की कमी होने की वजह से कई प्रदर्श को प्रदर्शित नहीं किया गया. लेकिन बिहार संग्रहालय के बनने बाद राज्‍य की तमाम विरासत का प्रदर्शन किया जायेगा.जो हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए मनोरंजन के साथ – साथ ज्ञानवर्द्धन भी करेगी. CM ने कहा कि हम दोनों संग्रहालय को साथ लेकर चलेंगे, इसलिए जो लोग पटना संग्रहालय घूमने आयेंगे वे बिहार संग्रहालय भी जा पायेंगे। उन्‍होंने कहा कि यह संग्रहालय अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर नई सोच और उन्‍नत तकनीक से बनाई गई है। जिसे बनाने से पूर्व कई तरह के शोध सहारा लिया गया। अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के अनुभवों के साथ इसे बनाया गया है। मुख्‍यमंत्री ने बिहार के इतिहास की चर्चा करते हुए कहा कि हमें अपने इतिहास पर नाज है, जो गौरवपूर्ण रहा है। मगर अब फिर से

Read more

बाढ़ पीड़ितों तक पहुंच कर हाल जान रहे सीएम

आपदा पीड़ितों की मदद के लिये है सरकार का खजाना- CM CM नीतीश लगातार पिछले कई दिनों से बाढ़ राहत केन्द्रों का दौरा कर रहे हैं. इसके साथ ही वे राहत सामग्री और राहत वितरण केन्द्रों का भी जायजा ले रहे हैं. गुरुवार को सीएम ने मोतिहारी के सुगौली में उत्क्रमित मध्य विद्यालय बेगिया तथा धर्मकांटा सुगांव में बाढ़ पीड़ितों के लिये चलाये जा रहे दो सामुदायिक किचेन का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने राहत सामग्री की पैकिंग के तरीके एवं उसमें डाली जाने वाली सामग्री का भी निरीक्षण किया. निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने सामुदायिक किचेन में भोजन कर रहे लोगों से पूछताछ भी की. मुख्यमंत्री ने लोगों से भोजन की गुणवत्ता के संबंध में जानकारी ली. सीएम ने वहां चलाये जा रहे स्वास्थ्य सहायता शिविर, पशु शिविर का भी निरीक्षण किया. बाढ़ पीड़ितों की ओर से स्थानीय सुगौली चीनी मिल द्वारा प्रदूषित पानी छोड़े जाने की शिकायत की गयी. इसके बाद मुख्यमंत्री ने HPCL सुगौली चीनी मिल के प्रदूषित पानी के संबंध में मिली शिकायत पर स्थल का निरीक्षण किया. सुगौली में सामुदायिक किचेन के निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री ने मोतिहारी में लुम्बिनी भवन में बाढ़ राहत के लिये चलाये जा रहे फूड पैकेटिंग केन्द्र का भी निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने बाढ़ राहत के लिये पैकेजिंग क्षमता को भी बढ़ाने का निर्देश दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा पीड़ितों की मदद के लिये ही सरकार का खजाना है इसलिये हर हाल में प्रत्येक व्यक्ति तक राहत पहुंचाई जाय. निरीक्षण के क्रम में सांसद डॉ संजय जायसवाल, मुख्य सचिव

Read more