परीक्षा के पहले वायरल हुआ प्रश्न पत्र, रद्द हुआ फर्स्ट पेपर

कई साल के बाद एक बार फिर बिहार में मैट्रिक परीक्षा का प्रश्न पत्र आउट होने का मामला सामने आया है. 19 फरवरी को बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित मैट्रिक परीक्षा में सोशल साइंस विषय के पहले पेपर का क्वेश्चन परीक्षा के पहले ही आउट हो गया. 19 फरवरी से ही बिहार विधानमंडल का बजट सत्र शुरू हुआ और इस मामले को विपक्ष ने सदन में भी उठाया. इधर इस मामले की जांच के बाद बिहार बोर्ड ने मैट्रिक के सोशल साइंस विषय की परीक्षा रद्द कर दी है. बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर के अनुसार जमुई में बैंक कर्मियों की मिलीभगत से प्रश्न पत्र वायरल किया गया. उन्होंने कहा कि जमुई के एसपी और डीएम ने पूरे मामले की जांच की तो पाया गया कि झाझा स्टेट बैंक से प्रश्न पत्र का फोटो खींचकर व्हाट्सएप किया गया. इसमें झाझा एसबीआई के एक संविदाकर्मी विकास कुमार की भूमिका संदिग्ध है. पुलिस इस क्षअ की जांच कर रही है. शुक्रवार को पहली पाली में सामाजिक विज्ञान की परीक्षा आयोजित थी जिसे रद्द कर दिया गया है. इस परीक्षा में 846000 से अधिक बच्चे शामिल हुए थे।. अब यह परीक्षा 8 मार्च को दोबारा आयोजित की जाएगी. जानकारी के मुताबिक अबतक बैंक से जुड़े कुल तीन लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है. pncb

Read more

मैट्रिक परीक्षा का शेड्यूल देखने के लिए क्लिक करें

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने आज वर्ष 2018 की मैट्रिक परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया है. मैट्रिक परीक्षा का आयोजन 21 फरवरी 2018 से 28 फरवरी 2018 तक होगा. देखिए परीक्षा का कार्यक्रम- परीक्षा की तिथि एवं दिन    (09.30am to 12.45pm)  प्रथमपाली (प्रथम शिफ्ट)               (2pm to 5.15pm)द्वितीय पाली (द्वितीय शिफ्ट) 21.02.2018  (बुधवार)          अंग्रेजी (सामान्य)                                                                        अंग्रेजी (सामान्य) 22.02.2018 (गुरुवार)          सामाजिकविज्ञान                                                                         सामाजिकविज्ञान 23.02.2018 (शुक्रवार)         विज्ञान                                                                                          विज्ञान 24.02.2018 (शनिवार)        गणित                                                                                           गणित 26.02.2018 (सोमवार)   

Read more