बेतिया के जिलाधिकारी ने बढ़ाया बिहार का गौरव

प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी सिविल सर्विस दिवस के अवसर पर  21 अप्रैल को करेंगे सम्मानित स्टार्टअप जोन, चनपटिया के अभिनव प्रयोग के लिए मिलेगा सम्मान टेक्सटाइल एंड एपैरल, फुटवेयर, बंबू एंड क्राफ्ट से जुड़े लोगों का किया स्कील मैपिंग बिहार के पश्चिम चंपारण के जिलाधिकारी कुंदन कुमार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 अप्रैल को सम्मानित करेंगे. उन्हें सिविल सर्विस दिवस पर इनोवेशन के क्षेत्र में यह सम्मान मिलेगा. प्रधानमंत्री 21 अप्रैल को सिविल सर्विस दिवस पर स्टार्टअप जोन, चनपटिया के अभिनव प्रयोग के लिए जिलाधिकारी कुंदन कुमार को सम्मानित करेंगे. वर्ष 2020 में कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि होने पर लागू देशव्यापी लॉकडाउन के कारण घर वापस लौटे कामगारों के द्वारा जिला प्रशासन की सहायता से जिले में प्रारंभ किये गए स्टार्टअप जोन चनपटिया के कारण सफलता की कहानी में एक और अध्याय जुड़ गया है. दरअसल लॉकडाउन में 80 हजार से ज्यादा कामगारों की जिले में घर वापसी हुई थी. यह सभी अपना घर-बार छोड़कर अन्य राज्यों में मजदूरी करते थे. मगर लॉकडाउन के कारण आजीविका छीन जाने पर यह अवसाद और परेशानी में वापस आए थे. क्वारंटाइन कैंप में 14 दिन रहने के दौरान जिला प्रशासन द्वारा उनके स्किल मैपिंग कराई गई और जिले में उद्यम स्थापित करने हेतु सुझाव लिए गए. स्किल मैपिंग के दौरान मुख्य रूप से टेक्सटाइल एंड अपैरल, फुटवियर, बंबू एंड क्राफ्ट विधा में इनके पारंगत होने की जानकारी प्राप्त हुई. इन क्षेत्रों में इनकी पारंगता जानकारी भविष्य में इन कामगारों से संपर्क करने हेतु उद्यम मित्र मंडल का निर्माण किया गया. जिला पदाधिकारी के द्वारा वापस लौटे कामगारों के लिए

Read more

जहरीली शराब पीने से आठ की मौत, कई गंभीर

लालू यादव ने कहा हर साल हजारों लोगों की मौत हो चुकी है देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता रहा है बिहार में शराब बंदी के पांच साल तीन महीने बाद भी नहीं थम रहा है मौतों का सिलसिला दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप बिहार में शराब पर पूर्ण प्रतिबन्ध के बावजूद लोगों की मौत लगातार शराब के कारण हो रही है. राज्य के पश्चिम चंपारण के लौरिया प्रखंड में दो दिनों में संदिग्ध रूप से जहरीली शराब पीने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों का इलाज अभी भी जारी है. लोक इन मौतों के पीछे जहरीली शराब पीने के कारण रहे हैं. इस मामले की प्राथमिकी लौरिया थाना में दर्ज कर ली गई है. चंपारण के पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) ललन मोहन प्रसाद ने बताया कि इस मामले में पीड़ित व्यक्ति के बयान पर लौरिया थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. प्राथमिकी में दो लोगों को आरोपी बनाया गया है. उन्होंने कहा कि दर्ज प्राथमिकी में जहरीली शराब से मरने का आरोप लगाया गया है. देउरवा गांव में शराब बनाने का काम चलता है, जहां लोगों ने शराब पी थी और सभी की तबियत बिगड़ने लगी. ग्रामीणों के मुताबिक मरने वालों में देउरवा गांव के रहने वाले बिकाउ अंसारी, लतीफ मियां, रामवृक्ष चैधरी, बुलाई गांव के नईम हाजम, सीतापुर गांव के भगवान पांडा, जोगिया गांव के सुरेष साह, बगही के रातुल मियां और गौनही के झुन्ना मियां की मौत हुई है. विभिन्न अस्पतालों

Read more