साबुन और मास्क बाँटा,DM से प्रशिक्षण शिविर की मांग

कोरोना से बचाव के लिए एक प्रशिक्षण शिविर की मांग
प्राइवेट संस्थानों को भी शामिल करने की माँग की

आरा. कोरोना को लेकर जहाँ सरकार ने देशवासियों के लिए कई निर्देश बचाव के लिए जारी किए हैं वैसे में लोकल स्तर पर सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक संस्थानों द्वारा लोगों के बीच जागरूकता फैलाने का कार्य भी किया जा रहा है. जागरूकता के साथ-साथ मास्क और साबुन जैसे जरूरी वस्तुओं को लोगों के बीच बांटा भी जा रहा है ताकि लोग इसके प्रति संवेदनशील हो जिससे इसे फैलने न दिया जाय.




कोरोना रोको जनसंकल्प अभियान के बतौर भाकपा-माले ने शुक्रवार को आरा में जवाहर टोला,शीतल टोला, और नवादा में महादलितों के बीच जागरूकता अभियान चलाया. कोरोना से बचाव के लिए साफ-सफाई में रहने सहित कई चीजों के बारे में लोगों को जागरुक किया गया. जागरूकता के बाद महादलितों के बीच साबुन का वितरण किया गया. इस अभियान में भाकपा-माले केन्द्रीय कमेटी सदस्य राजू यादव, नगर कमेटी सदस्य व वार्ड पार्षद सत्यदेव कुमार, अमीत बंटी,कवि आशुतोष कुमार पाण्डेय, इंनौस नेता कमलेश यादव,प्रमोद रजक, व मन्नु यादव शामिल थे.

वही नेशनल साइंटिफिक रिसर्च एंड सोशल एनालिसिस ट्रस्ट,आरा के अध्यक्ष श्याम कुमार को गोपाली चौक के पास रिक्शा और ठेला वालों के बीच फ्री मास्क बाँटते देखा गया. बताते चलें कि पिछले रविवार को श्याम कुमार ने अपने ट्रस्ट कार्यालय में लगभग 200 लोगों को मास्क बांटा था. वे लगातार बिना किसी प्रचार के बीच अकेले ही लगातार 5 दिनों से मास्क को जरूरतमन्दों के बीच बांट रहे हैं. इतना ही नही पिछले दो दिनों से कोरोना वायरस और जनता कर्फ्यू के प्रति घर-घर, गली-चौराहों पर घूम-घूम कर वे लोगों को जागरूक  भी कर रहे हैं. उन्होंने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर जिला प्रशासन से मांग की है कि नॉवेल कोरोना के विरुद्ध जन जागरण अभियान में उनके ट्रस्ट और अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं को भी त्रिदिवसीय प्रशिक्षण आयोजित कर उसमे भागीदारी का मौका दिया जाय. वे कहते हैं कि “वंदना के इन स्वरों में एक स्वर मेरा मिला लो, हों जहाँ बलि शीश अनगनित, एक सर मेरा मिला लो ….!

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट