अभिनय की मजदूरी: “सत्यकाम” बने सर्वश्रेष्ठ अभिनेता

10वें दादा साहब फाल्के फ़िल्म फेस्टिवल में आरा के लाल को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार

पटना, 2 मई. बॉलीवुड एक्टर सत्यकाम आनन्द को 10वें दादा साहब फाल्के फ़िल्म फेस्टिवल में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में पुरस्कृत किया गया है. यह पुरस्कार उन्हें फ़िल्म ‘Command & I shall obey’ के लिए मिला है. 01 यानि मई यानि मजदूर दिवस के मौके पर मिला यह पुरस्कार सत्यकाम के लिए विशेष यादगार बनाने वाला बन गया है. बताते चलें कि इस फ़िल्म की शूटिंग के बाद पोस्ट-प्रोडक्शन के लिए डबिंग के दौरान ही उन्होंने लोगो से शेयर किया था कि अबतक का उनका सबसे दमदार अभिनय इसमें देखने को मिलेगा लेकिन किसी को यह नही पता था कि इसके लिए वे पुरस्कार के लिए भी चयनित किये जायेंगे.




उन्होंने मजदूर दिवस पर मिले इस पुरस्कार के बाद सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए लिखा भी है कि मुझे मेरी मजदूरी मिल गयी. उनकी सहजता इसी से समझी जा सकती है कि ग्लैमर की इस दुनिया मे रहने के बाद भी वे अपने आपको एक वर्कर ही मानते है. बताते चलें कि सत्यकाम भोजपुर के मुख्यालय आरा के रहने वाले हैं. गैंग्स ऑफ वासेपुर जैसे फ़िल्म में अभिनय के बाद वर्ल्ड में सुर्खियां बटोरने वाले सत्यकाम आरा में रंगमंच से अपनी शुरुआत की थी.

थियेटर से फिल्मों तक पहुँचे सत्यकाम के पास अभी आधे दर्जन से ऊपर फ़िल्म हैं जो निर्माणाधीन है. इसमें एक महेश भट्ट की फ़िल्म मार्कशीट भी है. बिहार के लाल सत्यकाम के इस उपलब्धि पर जिलावासी ही नही बिहारवासी प्रफ्फुलित हैं. सोशल मीडिया से लेकर उन्हें पर्सनल स्तर तक देशभर से बधाईयां मिल रही हैं. उनके इस नए कीर्तिमान के लिए पटना नाउ टीम की ओर से भी हार्दिक बधाई.

पटना से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट