सोमवार को भी गुलजार रहा सरस मेला, स्कूली बच्चों ने भी किया एंज्वाय

    

पटना के सरस मेले में सोमवार को स्कूली बच्चों की खूब चहलकदमी देखने को मिली. स्कूली बच्चों के अलावा पटनाइट्स और आस पास के जिलों से भी लोग सरस मेला देखने पहुंच रहे हैं. 21 फरवरी तक चलने वाले इस मेले में देश के 20 राज्यों से आये स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलायें , जीविका की दीदियाँ , स्वरोजगारी और ग्रामीण शिल्पकार अपने- अपने उत्पाद को लेकर लोगों लो लुभा रहे हैं.  इसके अलावा महिला विकास निगम के द्वारा पटना की रंग संस्था प्रयास के तत्वाधान में बेटी बचाव अभियान के तहत नुक्कड़ नाटक और मुख्य मंच पर बैंकों के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के प्रति  लोगों को जागरूक करने के उदेश्य से नाटक विन्दिया की नथिया का प्रदर्शन के साथ- साथ जादूगर वी सम्राट के जादू के  खेल का भी लोगों ने आनंद लिया.




इसके अलावा कारपेट, टेरकोटा, ड्राई फ्लावर के साथ- साथ सजावट और शृंगार के सामानो की खरीद- बिक्री खूब हो रही है . लेकिन सबसे ज्यादा भीड़ वेलेंटाइन डे को देखते हुये आर्टिफिसियल फ्लावर की हो रही है . इसके अलावा घर के लिए सजावट के सामान, फर्नीचर और खादी के परिधानों की खरीद- बिक्री चरम पर है . सरस मेला के मुख्य सांस्कृतिक मंच भिखारी ठाकुर रंगभूमि पर शाम 5 बजे से 7.30 बजे तक पटना की रंग संस्था स्वरांगन के लोक कलाकारों ने नृत्य एवं गीत की प्रस्तुति की, इन प्रस्तुतियों का दर्शकों ने खूब आनंद उठाया. इसके साथ ही विभिन्न विभागों एवं बैंको के स्टॉल पर लोग विभिन्न योजनाओं से रूबरू हो रहें हैं . किसी भी आगंतुक को कोई परेशानी नहीं हो इसके लिए आयोजकों ने सरस मेला परिसर में व्यापक वयवस्था कर रखी है. मेला का सबसे बड़ा आकर्षण है , पालना घर , यहाँ आगंतुक अपने- अपने छोटे- छोटे बच्चे – बच्चियों को खेल- खेल में जीवन के रंग सीखने के लिए छोड़कर मेला का आनद ले रहे हैं .

इसके साथ ही मेला का सबसे बड़ा आकर्षण है किसी भी स्वयं सहायता समूह के स्टॉल से 500 रुपये की खरीददारी पर लॉटरी सिस्टम के तहत प्रत्येक दिन इनामी कूपन. सोमवार को किलकारी के द्वारा फोटोग्राफी प्रतियोगिता , महिला विकास निगम के द्वारा नुक्कड़ नाटक और स्वरांगन के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम के तहत गीत और नृत्य की प्रस्तुति की गई .

मंगलवार को क्या खास होगा सरस मेले में

मंगलवार को  विशेष प्रस्तुतियां होगी, जिसके तहत कुमार नयन के द्वारा युवा वर्ग के लिए कैरियर निर्माण हेतु मोटिवेसनल शो के तहत “मंजिल चल कर आएगी कैसे “ की प्रस्तुति होगी . इसके साथ ही पटना के राक बैंड खामोश के द्वारा गीत – संगीत का कार्यक्रम पेश किया जाएगा. इसके अलावा अन्य दिनों की तरह जादू का खेल, नुक्कड़ नाटक और सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुतियां जारी रहेगी.