मन में दृढ़ शक्ति व आत्मविश्वास सफलता देती है

कोईलवर/भोजपुर (आमोद कुमार) | मन में दृढ़ शक्ति व आत्मविश्वास हो सफलता कदम चूमती है. ऐसा ही कुछ कर दिखाया है कोईलवर की लाडली रवि नन्दनी सिंह ने जिसने मलेशिया के कुआलालम्पुर में आयोजित सेकेंड इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस पब्लिक हेल्थ 2019 में हिस्सा लिया. कॉन्फ्रेंस में भारत समेत पांच देश के प्रशिक्षु डॉक्टर ने हिस्सा लिया था. जिसमे बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी से तीन छात्र को आमंत्रण मिला था. पब्लिक हेल्थ कॉन्फ्रेंस में बीएचयू से रवि नन्दनी सिंह प्रतिनिधित्व करते हुए नन पार्टनर सेक्सुअल वॉइलेंस विक्टिमिजेशन अमोंग फीमेल मेडिकल अंडरग्रेजुएट पर शानदार स्पीच दिया. जिसके लिए रवि नन्दनी को यूके प्रोफेसर जॉन फ्रैंक द्वारा ऑनर भी किया गया. जिसे लेकर परिजनों व नगरवासियो ने खुशी जतायी.

इससे पहले आईएपीएसएमसीओएन 2018 में आइजीआइएमएस, पटना में आयोजित 8 वी बिहार चैप्टर कॉन्फ्रेंस में कम्युनिटी मेडिसिन पर स्पीच दिया था. जिसके लिए रविनंदनी को बेस्ट स्पीकर का अवार्ड से सम्मानित किया गया था.




कोईलवर के वार्ड 5 निवासी डॉ रामकुमार हिमांशु व माता डॉ विद्यारानी सिंह की पुत्री रविनंदनी कोईलवर के लिटल फ्लावर एकेडमी में कक्षा 6 तक बेसिक शिक्षा लिया. डॉक्टर रामकुमार हिमांशु अभी हाल में पटना में रहते है जो पावापुरी मेडिकल कॉलेज में पदस्थापित है वही डॉक्टर विद्यारानी पीएमसीएच में कार्यरत है. बचपन मे जब रविनन्दनी से पूछा जाता आगे पढ़ाई कर क्या बनना चाहती हैं. तो वह बताती की डॉक्टर बन समाज सेवा करनी चाहती है. रवि नन्दनी ने आगे की पढ़ाई पटना संत जोसेफ कान्वेंट से किया. जहाँ से 2008 में सीबीएसई बोर्ड व 2010 आईएससी की परीक्षा पास किया. जिसके बाद 2011 में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए संतोष मेडिकल कॉलेज गाजियाबाद चली गयी. जहाँ से मेडिकल की पढ़ाई के बाद 2018 में बीएचयू में एमडी की पढ़ाई शुरू किया.जहाँ रविनंदनी अभी क्यूमिनटी मेडिसिन की पढ़ाई कर रही है. जिनकी पीजी की पढ़ाई 2020 में पूरी हो जायेगी.