लोकतंत्र खतरे में: रघुवंश

पटना (राजेश तिवारी) | कर्नाटक में राज्यपाल ने भारतीय जनता पार्टी को सरकार बनाने के लिए निमंत्रित किया जिसके बाद ‌ बी0 एस0 येदियुरप्पा ने आज वहां मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है. इसके बाद से कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल इसका विरोध जता रहे हैं. बिहार में भी मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल ने इसे संविधान की हत्या बताते हुए विरोध जताया है. पटना में आज पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने लोकतांत्रिक व्यवस्था पर प्रहार किया है. राज्यपाल को सबसे पहले पोस्ट पोल अलायंस के हिसाब से सबसे ज्यादा विधायकों वाले गठबंधन को सरकार बनाने का न्योता देना चाहिए था. लेकिन उन्होंने बीजेपी का साथ देते हुए बहुत गलत काम किया है. इसके विरोध में राष्ट्रीय जनता दल कल धरना देगा और राष्ट्रीय जनता दल ने इसके लिए सभी विपक्षी दलों को साथ आने की अपील की है. यही नहीं राज्य तो उपाध्यक्ष ने कहा कि अगर कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी को सरकार बनाने का न्योता दिया गया है, तो फिर बिहार में भी राष्ट्रीय जनता दल को सरकार बनाने का न्योता देना चाहिए.
इधर राजद के बयान पर बीजेपी ने जमकर पलटवार किया है. भारतीय जनता पार्टी के नेता और बिहार सरकार में पीएचईडी मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा कि अगर राष्ट्रीय जनता दल वर्ष 2015 में यह दावा करता तो जरूर उनकी बात सुनी जाती. लेकिन 3 साल बाद यह दावा करने का क्या मतलब है. उन्हें नहीं भूलना चाहिए कि राज्यपाल ने अपने अधिकारों के तहत फैसला लिया है. विनोद नारायण झा ने यह भी कहा कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा 15 दिन गीता सीमा के भीतर ही अपना बहुमत साबित कर देंगे.

 




देखिये क्या कहा रघुवंश और झा ने https://youtu.be/eDh2vV0zRyM