शिक्षक नियोजन: इस समस्या का क्या है समाधान!

90762 प्राथमिक और मध्य विद्यालय शिक्षकों के पद पर नियोजन के लिए काउंसलिंग का 6 जुलाई को दूसरा दिन था. राज्य के 68 नगर निकायों में 782 पदों के लिए राज्य के 28 नियोजन इकाइयों में काउंसलिंग हुई. दूसरे दिन कक्षा 1 से 8 के लिए 495 अभ्यर्थी सफल हुए हैं. इनके सर्टिफिकेट की अब शिक्षा विभाग जांच कराएगा और करीब एक महीने बाद इन्हें स्कूल में नियुक्ति मिलने के आसार हैं.

शिक्षक नियोजन के दूसरे दिन एक बड़ी परेशानी का सामना कर रहे पुरुष अभ्यर्थियों ने अपनी व्यथा पटना नाउ को लिख कर भेजी है. एनआईओएस डीएलएड संघ के अध्यक्ष पप्पू कुमार ने बताया कि वे शिक्षा विभाग से निवेदन करेंगे कि सबसे पहले महिला अभ्यर्थियों की काउंसलिंग करायी जाए ताकि महिलाओं की पूरी 50% सीट पर नियोजन संभव हो सके.




पप्पू कुमार

पप्पू कुमार ने बताया कि बिहार में 50% आरक्षण महिलाओं को सरकार ने दिया है. महिलाओं की सीट पर पुरुष अभ्यर्थी को मौका नहीं मिल सकता. लेकिन महिलाएं पुरुषों की सीट पर नौकरी पाने की हकदार हैं. पप्पू कुमार ने बताया कि काउंसलिंग के पहले 2 दिनों में यह बात सामने आई है कि महिलाएं बेहतर नंबर लाने की वजह से पुरुषों की सीट पर मेधा सूची में स्थान बना ले रही हैं. इससे पुरुषों को मौका नहीं मिल पा रहा और महिलाओं की सीट भी खाली रह जा रही है.

7 जुलाई को क्या होगा

बुधवार को राज्य के 22 जिलों के 113 प्रखंडों में कक्षा 6 से 8 के लिए 2390 पदों पर नियुक्ति के लिए काउंसलिंग होगी.

राजेश तिवारी