शिक्षक अभ्यर्थियों का आंदोलन शुरू

पटना के गर्दनीबाग में दे रहे हैं धरना90,762 पदों पर छठे चरण के नियोजन की प्रक्रिया वर्ष 2019 में शुरू हुई5 महीने से सर्टिफिकेट जांच के नाम पर नियुक्ति पत्र भी नहीं मिलाहम बिना सर्टिफिकेट की पूरी जांच कराए किसी भी अभ्यर्थी को नियुक्ति पत्र नहीं देंगे. संजय कुमार पटना : राज्य के 90 हजार प्राथमिक शिक्षक बहाली को लेकर शिक्षक अभ्यर्थी आज से आंदोलन शुरू कर दिया है गर्दनीबाग धरनास्थल पर शिक्षक अभ्यर्थी धरना दे रहे है. चयनित अभ्यर्थियों ने जल्द से जल्द नियुक्ति पत्र देने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए हैं. शिक्षक अभ्यर्थी यह मांग कर रहे हैं कि जिन जगहों पर काउंसलिंग नहीं हुई है, वहां जल्द से जल्द काउंसलिंग कराई जाए. वहीं, जिनका चयन हो चुका है, उनके सर्टिफिकेट की जांच करने के बाद उन्हें नियुक्ति पत्र दिया जाए. वहीँ सरकार का कहना है कि जब तक काउंसलिंग की प्रक्रिया पूरी नहीं होगी, तब तक हम अभ्यर्थियों के सभी सर्टिफिकेट की जांच पूरी नहीं कर पाएंगे और अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट की जांच पूरी होने के बाद ही शिक्षा विभाग उन्हें नियुक्ति पत्र देगा. एनआइओएस डीएलएड संघ के अध्यक्ष पप्पू कुमार ने कहा कि शिक्षक अभ्यर्थी पिछले कई महीनों से शिक्षा मंत्री और शिक्षा विभाग के दफ्तरों के चक्कर लगाकर थक चुके हैं. 5 महीने से सर्टिफिकेट जांच के नाम पर नियुक्ति पत्र भी नहीं मिला है. वहीँ एक या दो अभ्यर्थी फर्जी निकलते हैं तो नियोजन इकाई उस पूरे नियोजन को रद्द कर देती है. इसका खामियाजा निर्दोष अभ्यर्थियों को भुगतना पड़ता

Read more

दो जिलों की इन जगहों की काउंसिलिंग रद्द

बिहार में जारी प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन में कई जगहों पर धांधली की शिकायत मिलने के बाद शिक्षा विभाग ने कड़ी कार्रवाई की है. संबंधित जिलों से मिली रिपोर्ट के आधार पर शिक्षा विभाग ने बांका और मधुबनी जिले में कुछ नियोजन इकाइयों की काउंसलिंग को रद्द कर दिया है और आरोपी पदाधिकारियों और कर्मियों पर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. शिक्षा विभाग के मुताबिक बाँका जिलान्तर्गत शंभुगंज एवं अमरपुर प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई द्वारा नियोजन प्रक्रिया में बरती गयी धांधली एवं अनियमितता संबंधी शिकायतों के आधार पर जिला पदाधिकारी, बाँका द्वारा कॉन्सिलिंग एवं चयन सूची को रद्द करने का अनुरोध किया गया है. जिला पदाधिकारी, बाँका के अनुरोध पर दिनांक 07.08.2021 09.08.2021 एवं 10.08.2021 को शंभुगंज एवं अमरपुर प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई में की गयी काउन्सिलिंग को रद्द किया गया है. इसी प्रकार जिला पदाधिकारी, मधुबनी एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा बासोपट्टी प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई में दिनांक 07.08. 2021 को हुई काउन्सिलिंग में अनियमितता पाए जाने की स्थिति में रद्द करने की प्राप्त अनुशंसा के आधार पर उक्त संबंधित नियोजन इकाई की काउन्सिलिंग रद्द कर दी गई है. दोनों जिला अंतर्गत संबंधित नियोजन इकाइयों में काउंसलिंग रद्द किए जाने की स्थिति उत्पन्न करने वाले दोषी पदाधिकारी / कर्मी को चिन्हित करते हुए उनके विरुद्ध अनुशासनिक एवं दण्डात्मक कार्रवाई करने का निदेश दिया गया है. इसी प्रकार अन्य जिलों से भी काउन्सिलिंग में अनियमितता संबंधी सूचना जिला पदाधिकारी / जिला शिक्षा पदाधिकारी से प्राप्त होने पर दोषी पदाधिकारी / कर्मी को चिन्हित करते हुए उनके विरुद्ध

Read more

शिक्षक नियोजन: इस समस्या का क्या है समाधान!

90762 प्राथमिक और मध्य विद्यालय शिक्षकों के पद पर नियोजन के लिए काउंसलिंग का 6 जुलाई को दूसरा दिन था. राज्य के 68 नगर निकायों में 782 पदों के लिए राज्य के 28 नियोजन इकाइयों में काउंसलिंग हुई. दूसरे दिन कक्षा 1 से 8 के लिए 495 अभ्यर्थी सफल हुए हैं. इनके सर्टिफिकेट की अब शिक्षा विभाग जांच कराएगा और करीब एक महीने बाद इन्हें स्कूल में नियुक्ति मिलने के आसार हैं. शिक्षक नियोजन के दूसरे दिन एक बड़ी परेशानी का सामना कर रहे पुरुष अभ्यर्थियों ने अपनी व्यथा पटना नाउ को लिख कर भेजी है. एनआईओएस डीएलएड संघ के अध्यक्ष पप्पू कुमार ने बताया कि वे शिक्षा विभाग से निवेदन करेंगे कि सबसे पहले महिला अभ्यर्थियों की काउंसलिंग करायी जाए ताकि महिलाओं की पूरी 50% सीट पर नियोजन संभव हो सके. पप्पू कुमार ने बताया कि बिहार में 50% आरक्षण महिलाओं को सरकार ने दिया है. महिलाओं की सीट पर पुरुष अभ्यर्थी को मौका नहीं मिल सकता. लेकिन महिलाएं पुरुषों की सीट पर नौकरी पाने की हकदार हैं. पप्पू कुमार ने बताया कि काउंसलिंग के पहले 2 दिनों में यह बात सामने आई है कि महिलाएं बेहतर नंबर लाने की वजह से पुरुषों की सीट पर मेधा सूची में स्थान बना ले रही हैं. इससे पुरुषों को मौका नहीं मिल पा रहा और महिलाओं की सीट भी खाली रह जा रही है. 7 जुलाई को क्या होगा बुधवार को राज्य के 22 जिलों के 113 प्रखंडों में कक्षा 6 से 8 के लिए 2390 पदों पर नियुक्ति के लिए

Read more

766 शिक्षक पदों के लिये आज काउंसलिंग

पटना और नालंदा समेत कुल 68 नगर निकायों में मंगलवार को कक्षा 1 से 5 के 766 पदों के लिए शिक्षक अभ्यर्थी काउंसिलिंग कराएंगे. इससे पहले 5 जुलाई को कक्षा 6 से 8 में 258 अभ्यर्थियों की नौकरी पक्की हो गई है. प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने बताया कि कक्षा 6 से 8 के लिए पहले दिन पूरे बिहार के 71 नगर निकायों में काउंसलिंग हुई जिनमें कुल 390 पद थे, इनमें 258 पदों पर नियोजन हो गया जबकि 132 पद खाली रह गए. जिन 258 शिक्षक अभ्यर्थियों ने काउंसलिंग कराई है, उनके सर्टिफिकेट शिक्षा विभाग संबंधित बोर्ड और यूनिवर्सिटी में भेजकर जांच कराएगा और 15 अगस्त तक उन्हें नियुक्ति पत्र मिल जाएगा. शिक्षा विभाग ने इस बार फुलप्रूफ व्यवस्था की है. हर नियोजन इकाई में वीडियोग्राफी हो रही है जिसके जरिए शिक्षा विभाग में सीधी मॉनिटरिंग हो रही है. प्राथमिक शिक्षा निदेशक डॉ रणजीत सिंह खुद हर नियोजन इकाई पर ध्यान रख रहे हैं और यूट्यूब लाइव के जरिए भी शिक्षक अभ्यर्थियों की परेशानी ऑनस्पॉट दूर कर रहे हैं. कई जगहों पर फर्जी सर्टिफिकेट पर काउंसलिंग कराने पहुंचे अभ्यर्थियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. 6 जुलाई को इन जगहों पर काउंसलिंग नहीं होगी जिन नगर इकाइयों में नए दिव्यांग अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है वहां 2 अगस्त को काउंसलिंग होगी. 6 जुलाई को बिहार के 68 नगर निकायों में 766 पदों के लिए काउंसलिंग होगी. भागलपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, भोजपुर, बक्सर, गोपालगंज, जहानाबाद, कैमूर, लखीसराय और नवादा में नगर निकायों में कक्षा 1 से 5 के लिए 6

Read more