पीड़ित पत्रकार परिवार से मिले मंत्री जयकुमार सिंह

परिवार को आर्थिक, सामाजिक और शैक्षणिक लाभ दिलाने में जुटे
विधानसभा में भी गूँजगी हत्याकांड की गूंज
पीड़ित परिवार को जिला प्रशासन ने दिए 4-4 लाख रुपये




आरा/गड़हनी, 31 मार्च. नवीन निश्चल एवम विजय सिंह पत्रकार हत्या कांड के बाद पीड़ित परिवार वालों को ढाढस एवम सांत्वना देने वालों का तांता लगा हुआ है. उसी क्रम में शुक्रवार को बिहार सरकार के  उद्योग,विज्ञान एवम प्रौद्योगिकी मंत्री जय कुमार सिंह मृतक पत्रकार नवीन निश्चल एवम विजय सिंह के गाँव बगवां मिलने आये. जैसे ही मृतक पत्रकार के परिजन से उद्योग,विज्ञान एवम प्रौद्योगिकी मंत्री जय कुमार सिंह मिले परिजन की आँखों से आँसुओं की बौछार होने लगी. मंत्री जय कुमार सिंह ने कहा कि इस घटना से आहत हैं,हमारी संवेदना परिवार के साथ हैं.

उन्होंने परिजनों को आश्वस्त किया कि शासन-प्रशासन पूरी गंभीरता से अपना कार्य कर रहा है. अतः हमे कानून पर भरोसा रखना चाहिए. उन्होंने ने कहा कि हमारी सरकार की पहल पर यह कानून पारित हुआ कि एक साथ दो व्यक्तियों की मौत किसी हादसे में हो जाती है तो उसे आपदा राहत कोष के तहत 4-4 लाख रुपया दी जाएगी, जिसका लाभ पत्रकार के परिजनों को मिल चुका है.

उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश इस बात की है कि कैसे ज्यादा से ज्यादा लाभ पीड़ित परिवार वालों को दिया जा सके. परिजनों से मुलाकात के दौरान पूर्व मुखिया बिनोद सिंह ने सारी आप बीती मंत्री को बताया. साथ ही बिहार के पूर्व सरपंच संघ अध्यक्ष डॉ० राजेश सिंह ने दोनों परिवार के स्थिति से मंत्री को अवगत कराया.

इस मौके पर जदयू नेता बिनोद सिंह, जदयू जिला अध्यक्ष अशोक शर्मा,भाई बरमेश्वर, विद्यानन्द विकल,प्रिंस बजरंगी,अवधेश पांडेय,जय प्रकाश चौधरी,हरीश, विवि अध्यक्ष अविनाश राव,चिकू सिंह, छात्र नेता मोहित कुमार,सहित दर्जनों नेता उपस्थित थे.

SDO ने परिवार को सौंपा चेक
गुरुवार को ही पत्रकारों के परिजन की सहायता के लिए जिला प्रशासन की ओर से सदर अनुमंडलाधिकारी अरुण प्रकाश और पंचायती राज पदाधिकारी सह जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी प्रमोद कुमार ने 4-4 लाख का चेक प्रदान किया.

उद्योग,विज्ञान एवम प्रौद्योगिकी मंत्री जयकुमार सिंह से एक दिन पूर्व गुरुवार को रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष सह विधायक ललन पासवान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद अरुण कुमार के निर्देश पर पत्रकारों के परिजन से मिलने बगवा पहुँचे थे. उन्होंने परिवार को ढांढस धराने के बाद पत्रकारों की हत्या को साजिश बताते हुए इस संदर्भ में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से बात करने की बात कही थी. उन्होंने यह भी कहा कि 2 अप्रैल को इस घटना को विधानसभा में रखेंगे. उनके साथ उस दौरान किसान सेल के प्रदेश अध्यक्ष आंनद सिंह, जिलाध्यक्ष विष्णु मिश्र और मीडिया प्रभारी राकेश रंजन मिश्र सहित कई अन्य लोग शामिल थे.

पटना के पत्रकार भी परिजन से मिले
गुरुवार को ही पटना से पत्रकारों का भी एक प्रतिनिधि मण्डल परिजनों से मिला. प्रतिनिधि मंडलों ने काला बिला लगाकर इस हत्या की घटना का विरोध जताया. उन्होंने प्रभारी मंत्री विनोद सिंह से परिवार के लिए उचित मुआवजे और बच्चों के पढ़ाने की व्यवस्था की मांग की थी. उन्होंने कहा कि अगर राज्य सरकार ऐसा नही करती है तो वे आंदोलन करेंगे.

आरा से ओ पी पांडेय व सत्य प्रकाश सिंह की रिपोर्ट