पटना एम्स में 2 चिकित्सकोंं सहित कोरोना संक्रमित 13 मरीजोंं की मौत

कोरोना ने एम्स में भर्ती इलाजरत दो और डॉक्टरों की जान ले ली है. इसके आलावा एम्स में एक दिन में अबतक सबसे ज्यादा 13 कोरोना संक्रमित मरीजोंं की मौत से हड़कम्प मचा हुआ है. साथ ही एम्स में शुक्रवार को 25 नए मरीजोंं की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी है जिनका इलाज आइसोलेशन वार्ड में किया जा रहा है. वहींं 23 मरीजोंं ने कोरोना को हरा दिया है जिससे उन्हें एम्स अस्पताल से डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया.

एम्स के कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि सुपौल जिले के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. महेंद्र चौधरी की इलाज के दौरान पटना एम्स में मौत कोरोना से हो गई है. डॉक्टर महेंद्र चौधरी अरवल में सरकारी अस्पताल में पदस्थापित थे. बीमार होने के बाद डॉक्टर चौधरी सुपौल आए थे. कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद गंभीर हालत में 20 जुलाई को पटना एम्स रेफर कर दिया गया था. वहीँ पीएमसीएच के रेडियोथेरेपी विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ मिथिलेश प्रसाद सिंह की मौत भी कोरोना से हो गयी है. पटना के राजेन्द नगर टेलीफोन एक्सचेंज के पीछे इलाके में रहने वाले 70 वर्षीय डॉ मिथलेश कुमार पीएमसीएच से सेवानिवृत हुए थे. डॉ मिथिलेश को एम्स में आज ही भर्ती कराया गया था. एक साथ दो दो कोरोना योद्धाओं की मौत से चिकित्सा जगत में मातम का माहौल है.




साथ ही एम्स में शुक्रवार को ही पीएमसीएच के डॉ रंजीत कुमार की कोरोना संक्रमित पत्नी की भी मौत हो गयी है. एम्स कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार के मुताबिक पटना एम्स में रोहतास के 32 वर्षीय संतोष कुमार दुबे, पटना के पत्थर की मस्जिद सुलतानगंज की 55 वर्षीय लता राजगरिया, मुजफरपुर के 59 वर्षीय नीरज कुमार वर्मा, नालंदा के 57 वर्षीय राजेश रंजन, नालंदा के 52 वर्षीय सुनिल कुमार, वैशाली की 58 वर्षीय मंजु देवी, भोजपुर के 61 वर्षीय अशोक कुमार, पटना की 81 वर्षीय रामपरी सिंह, मनेर के 44 वर्षीय उमेश कुमार, मुजफरपुर के 63 वर्षीय ओम प्रकाश केशरी, नांलंदा के 55 वर्षीय मिथलेश प्रसाद की कोरोना से मौत हो गयी है. वहीं गुरूवार को एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 25 नये मरीजो की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई जिसमे पटना के 16 व्यक्ति, मुजफरपुर, मुंगेर, सारण, पश्चिम चंपारण, नालंदा के मरीज शामिल हैं.

पटना से अजीत